--Advertisement--

मैक्स का लाइसेंस रद्द करने का आदेश वापस नहीं लिया तो हड़ताल पर जाएंगे

जिंदा नवजात को मृत घोषित करने के मामले में मैक्स अस्पताल के आरोपी डॉ. एपी मेहता ने खुद को निर्दोष बताया है।

Danik Bhaskar | Dec 10, 2017, 05:37 AM IST

नई दिल्ली। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (डीएमए) ने चेतावनी दी है कि यदि मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने और दो डॉक्टरों को निलंबित करने का अादेश वापस नहीं हुआ तो वे सोमवार से हड़ताल पर जाएंगे। इसमें निजी और प्राइवेट सभी अस्पतालों के डॉक्टर शामिल होंगे। केवल इमरजेंसी सेवाएं ही चलेंगी। डीएमए ने शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को आगाह किया। उन्होंने सोमवार तक का समय दिया है।


डीएमए प्रेसीडेंट डॉ. विजय मल्होत्रा ने सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) और दिल्ली मेडिकल काउंसिल (डीएमसी) से बिना कोई सलाह मशविरा किए ये तानाशाही भरा फरमान सुना दिया गया। यह निर्णय सरकार ने केवल वोट बैंक बढ़ाने के लिए किया है। हमारे किसी भी डॉक्टर या निजी अस्पताल के साथ अन्याय होगा तो डीएमए हमेशा उसका विरोध करेगी।

12 से 12.30 के बीच डॉ. विशाल गुप्ता ने नवजात को दोबारा चेक किया। उस वक्त उसकी हार्ट बीट सुनाई नहीं दी। इसकी जानकारी उन्होंने नर्स को दी और इंतजार करने को कहा। पूरे मामले पर वाणी अग्रवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार और मीडिया ने जब पहले ही डॉ. मेहता को दोषी करार दे दिया है तो अब बोलने को कुछ फायदा नहीं हमारी बात कोई नहीं सुनेगा।

डीएमसी बोली हड़ताल की बात पर साथ नहीं
इस पूरे मामले पर जब भास्कर ने दिल्ली मेडिकल काउंसिल (डीएमसी) के रजिस्ट्रार डॉ. गिरीश त्यागी से बात की तो उन्होंने डीएमए की किसी भी बात पर सहमति नहीं जताई। उन्होंने कहा कि दिल्ली नर्सिंग होम रजिस्ट्रेशन एक्ट 1953 के तहत यह अधिकार सरकार के पास सुरक्षित है कि किसी अस्पताल या नर्सिंग होम के खिलाफ आरोप सिद्ध हो जाए तो उसका लाइसेंस निरस्त किया जा सकता है। इसमें डीएमसी की कोई भूमिका नहीं होती है। मैक्स ने फैसला लेने से पहले ही अपने दो डॉक्टरों का लाइसेंस निरस्त कर दिया था। हमारा काम केवल इतना है कि इलाज में डॉक्टरों ने क्या गलती कि है, इसकी पड़ताल करें।

ईडब्ल्यूएस के मरीजों का इलाज नहीं किया
मैक्स विवाद में दिल्ली सरकार के फैसले का असर एक बार फिर गरीब मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री के आदेश के बाद मैक्स ने शनिवार को ईडब्ल्यूएस के तहत इलाज के लिए आने वाले पुराने मरीजों को लौटा दिया।

गलत काम किया तो नहीं बचेंगे: सीएम
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम निजी अस्पतालों के कामकाज में किसी तरह की दखलंदाजी नहीं करेंगे, लेकिन यदि वे मनमानी करेंगे तो हम नहीं छोड़ेंगे। यह बात उन्होंने शनिवार को तालकटोरा स्टेडियम में ‘जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना’ की शुरुआत के दौरान कही।