दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

सामने आई पुलिस की लापरवाही, युवक ने आग लगाई और तड़प-तड़पकर हुई मौत

शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर शनिवार शाम करीब 6 बजे एक सिख युवक ने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली।

Danik Bhaskar

Dec 03, 2017, 07:41 AM IST

नई दिल्ली. शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर शनिवार शाम करीब 6 बजे एक सिख युवक ने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली। आग बढ़ी तो वह मदद के लिए चिल्लाने लगा। मगर मौके पर मौजूद जीआरपी और लोग तमाशबीन बने रहे। कुछ लोग तो उसका वीडियो बनाते रहे।

करीब 10 मिनट तक तड़पने के बाद उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद स्थानीय पुलिस और रेलवे पुलिस ने भी संवेदनहीनता की हदें पार कर दीं। सीमा विवाद को लेकर दोनों एकदूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे हैं। स्थानीय पुलिस कह रही है कि हमारी सीमा सिर्फ प्लेटफार्म तक ही है। जबकि रेलवे पुलिस का कहना है कि शव ट्रैक पर नहीं था, इसलिए स्थानीय पुलिस ही जांच करे।

बेतुके बयान : एकदूसरे पर जिम्मेदारी डाल पल्ला झाड़ रहे अफसर

हमारी सीमा तो सिर्फ प्लेटफार्म तक
घटना रेलवे ट्रैक के पास हुई है। स्थानीय पुलिस की सीमा सिर्फ प्लेटफार्म तक है। ट्रैक रेलवे पुलिस के अंतर्गत आता है। मामले में उसे ही जांच करनी चाहिए।
- असलम खान, डीसीपी, उत्तर पश्चिमी जिला

ट्रैक पर नहीं था शव, क्यों करें जांच
यह केस स्थानीय पुलिस देखेगी। यह रेलवे पुलिस का मामला नहीं है, क्योंकि शव ट्रैक पर नहीं मिला है। हम जांच क्यों करें, स्थानीय पुलिस को जांच करनी चाहिए।
- परवेज अहमद, डीसीपी,रेलवे

शर्मनाक : बचाने की जगह लोग 10 मिनट वीडियो ही बनाते रहे
शनिवार शाम एक सिख युवक शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर खाली पड़ी जगह पर खड़ा हो गया। वह काफी देर वहां टहलता रहा। इसी दौरान उसने हाथ में पकड़े केरोसिन के डिब्बे से अपने ऊपर तेल डाल लिया और माचिस से आग लगा ली। युवक का शोर सुनकर वहां लोग जमा हो गए और वीडियो बनाने लगे। भीड़ देखकर मौके पर जीआरपी के जवान भी आ गए, लेकिन किसी ने युवक की जान बचाने की कोशिश नहीं की।

लापरवाही : तीन घंटे बाद भी युवक की पहचान नहीं हो पाई
शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर सिख युवक द्वारा आग लगाने के मामले की सूचना के बाद उत्तर पश्चिमी जिला के रानी बाग थाने से स्थानीय पुलिस पहुंची। वहीं, जीआरपी की सराय रोहिल्ला पुलिस भी मौके पर पहुंची। लेकिन दोनों के बीच जांच को लेकर सीमा विवाद शुरू हो गया। दोनों के स्थानीय अधिकारी जांच के लिए केस को एकदूसरे पर डालकर चलते बने। ऐसे में शव को जीआरपी ने कब्जे में लेकर मोर्चरी में रखवा दिया है।

...फिर देर रात 11:30 बजे स्थानीय पुलिस ने दर्ज किया मामला

करीब पांच घंटे तक सीमा विवाद में उलझने के बाद शनिवार देर रात करीब 11:30 बजे स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। उत्तर पश्चिमी जिले की डीसीपी असलम खान ने इसकी पुष्टि की है। पहले भी सीमा विवाद को लेकर पुलिस की लापरवाही सामने आ चुकी है। जांच अधिकारियों के मुताबिक खुद को आग लगाने वाला सिख युवक रोहतक की तरफ से आया था। मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक खुद को आग लगाने से पहले वह काफी देर तक टहलता रहा अौर फिर अचानक आग लगा ली। बचने के लिए वह इधर-उधर भागने लगा लेकिन कोई भी शख्स मदद के लिए आगे नहीं आया। उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

Click to listen..