--Advertisement--

डोकलाम सीमा विवाद : सर्दियों में चीनी सेना लौट जाती थी, इस बार वहीं डेरा डाला

भारत का जवाब- ऑपरेशन अलर्ट जारी रखने का फैसला लिया।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 06:34 AM IST
सैटेलाइट से खींचा गया फोटो। सैटेलाइट से खींचा गया फोटो।

नई दिल्ली। सर्दी बढ़ने के बीच डोकलाम में माहौल फिर गर्माने लगा है। चीन ने पिछले दो महीने में विवादित इलाके में गुपचुप तरीके से नई रोड़ बना ली हैं। सीमा से सटे इलाकों की सैटेलाइट तस्वीरों के आधार पर मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है। वहीं, सीमा के पास करीब 1800 चीनी सैनिकों की मौजूदगी के बीच भारतीय सेना ने डोकलाम में पहली बार सर्दियों में गश्त जारी रखने का फैसला किया है।

- नवंबर तक बंद होने वाला आॅपरेशन अलर्ट बढ़ा दिया है, जिसकी टाइम लिमिट अपनी निश्चित नहीं हैं। पीएलए की किसी भी हरकत का जवाब दे सकें। सैन्य सूत्रों के अनुसार चीनी सैनिकों के पास सड़क बनाने के हैवी ड्यूटी उपकरण नहीं हैं। संभवत: चीनी सेना ने अपनी जनता को संतुष्ट रखने के लिए सर्दियों में भी यहां रुकने का फैसला किया है।

- इंडियन आर्मी के ऑफिसर पीएलए की मौजूदगी से चिंतित नहीं हैं, क्योंकि भारत-भूटान-चीन ट्राई जंक्शन के इस इलाके में भारतीय सेना पूरी ताकत के साथ मौजूद है। गंगटोक स्थित 17 डिवीजन के अलावा 63 ब्रिगेड और 112 ब्रिगेड उस इलाके में मौजूद है। यह पलक झपकते ही वहां पहुंच सकती हैं।

सर्दियों में चीनी सेना लौट जाती थी, इस बार वहीं डेरा डाला
- आमतौर पर सर्दियों में डोकलाम के दूसरी ओर यातुंग इलाके में चीनी सेना की गश्त खत्म होने के बाद अक्टूबर-नवंबर में भारतीय सेना ऑपरेशन अलर्ट खत्म कर देती थी। पर इस बार पीएलए के सैनिक 60 से अधिक प्री फैब्रिकेटिड बैरकों में मौजूद हैं। तैयारियां देखकर इनके इरादे सर्दियों में भी डटे रहने के लगते हैं। सैन्य सप्लाई के लिए आमू छू के दूसरी ओर दो हेलीपैड भी बनाए हैं।


भारत का जवाब- ऑपरेशन अलर्ट जारी रखने का फैसला लिया
- सैटेलाइट तस्वीरों में दिखता है कि चीन ने डोकलाम क्षेत्र में दो जगह नई सड़कें बनाई हैं। विवादित जगह से करीब साढ़े चार किलोमीटर दूरी पर एक किलोमीटर की नई सड़क बनाई गई है। वहीं, ट्रैक का दूसरा विस्तार विवादित स्थल से पूर्व में 7.3 किलोमीटर दूरी पर है। यह सड़क उत्तर दिशा में करीब 1.2 किलोमीटर तक गई है।

- पिछले 13 माह की निर्माण गतिविधियों के सैटेलाइट फोटो की तुलना से साफ है कि नए निर्माण 19 फरवरी के बाद हुए हैं। कम से कम दो हिस्से हाल ही में 17 अक्टूबर से 8 दिसंबर के बीच बनाए गए हैं। जून में भारतीय सैनिकों ने “चिकन्स नेक’ के पास चीनी सड़क का निर्माण रुकवा दिया था। करीब 70 दिन तक गतिरोध के बाद दोनों पक्षों के सैनिक 150 मीटर पीछे हट गए थे

डोकलाम सीमा। डोकलाम सीमा।