--Advertisement--

शराब पी हॉस्पिटल पहुंचा डॉक्टर, कॉन्स्टेबल से बोला- मूछें नीचे कर नहीं काट दूंगा

सिविल हॉस्पिटल में चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ. विवेक ने रविवार देर रात शराब पीकर हॉस्पिटल में काफी हंगामा किया।

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 01:01 AM IST
Drunk doctor abused patients relatives and constables

मोहाली. सिविल हॉस्पिटल में चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ. विवेक ने रविवार देर रात शराब पीकर हॉस्पिटल में काफी हंगामा किया। डॉ. विवेक नशे में उस लेबर रूम में घुस गया, जहां एक महिला की डिलीवरी चल रही थी। वहां उसने स्टाफ से अभद्र व्यवहार किया और कहा- हटो, डिलीवरी मैं करूंगा। इस पर वहां हंगामा हो गया और महिला के साथ आई बुजुर्ग स्वर्ण कौर ने डॉ. विवेक को खींचकर बाहर निकाला। सेंटर में आधी रात तक हंगामा होता रहा।

हालांकि विवेक की हरकतें सीसीटीवी में कैद हो गईं, लेकिन हॉस्पिटल प्रशासन ने उसे बचाने के लिए तर्क दिया कि कोई कैमरा नहीं चलता। डॉ. विवेक के इस अभद्र व्यवहार को लेकर सोमवार सुबह कुछ मरीजों के तीमारदारों ने पुलिस को शिकायत दी, जिस पर हॉस्पिटल में स्थित पुलिस चौकी में डॉक्टर के खिलाफ डीडीआर दर्ज कर ली गई। इससे पहले डॉ. विवेक ने चौकी के मेन गेट पर भी लातें मारीं और एक कॉन्स्टेबल से कहा-मूछें नीचे कर, नहीं तो काट दूंगा।

कॉन्स्टेबल बोला-इसे रूम तक छोड़ दो...
रविवार रात करीब 11.45 बजे हॉस्पिटल कैंपस में रहने वाला डॉ. विवेक 108 एंबुलेंस के ड्राइवरों के रूम का दरवाजा खटखटाने लगा। एक चालक उसे पुलिस चौकी ले गया। चौकी के मुख्य गेट पर डॉ. विवेक ने लातें मारीं और जोर से आवाजें देेने लगा। एक कॉन्स्टेबल बाहर निकला, जिसने मूछें ऊपर कर रखी थीं। डॉ. विवेक ने उससे कहा-मूछें नीचे कर, नहीं तो काट दूंगा। तू जानता नहीं मैं कौन हूं। कॉन्स्टेबल ने साथ आए चालक से कहा-इसे इसके कमरे तक छोड़ दो। चालक ने उसे वहां छोड़ दिया।

लेबर रूम में घुसा तो बुजुर्ग सास ने अपनी गर्भवती बहू को ओढ़ाया शॉल

रात करीब 12.30 बजे डॉ. विवेक अपने रूम से उठकर चाइल्ड-मदर केयर सेंटर में चला गया। वहां काफी तीमारदार बरामदे में बैठे थे। बुजुर्ग स्वर्ण कौर, नितिन, हरप्रीत सिंह, हरमेश सिंह, सुखविंदर सिंह और अन्यों ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि डॉक्टर ने आधी रात को सबके साथ बदतमीजी की। इस दौरान एक गर्भवती की लेबर पेन हुई तो ड्यूटी पर मौजूद स्टाफ उसे डिलीवरी के लिए लेबर रूम में ले गया। जब उसकी डिलीवरी हो रही थी तो डॉ. विवेक लेबर रूम में घुस गया और स्टाफ से बोला कि हटो, मैं डिलीवरी करवाता हूं। इस पर वहां हंगामा हो गया। इस पर प्रेग्नेंट महिला की सास बुजुर्ग स्वर्ण कौर भी अंदर पहुंच गई और डॉक्टर की हरकत देख अपनी बहू को शॉल से ढंका। उसके बाद उन्होंने और स्टाफ ने काफी मशक्कत के बाद डॉ. विवेक को बाहर निकाला।

इक्यूबेटर रूम का दरवाजा बंद किया शिकायतकर्ताओं ने बताया कि डॉ. विवेक को काफी मशक्कत के बाद जब लेबर रूम से बाहर निकला गया तो वह इंक्यूवेटर रूम में घुस गया और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। ड्यूटी पर मौजूद स्टाफ आधी रात तक परेशान होता रहा और डॉ. विवेक को वहां से जाने के लिए मिन्नतें करता रहा। इक्यूबेटर रूम में मौजूद स्टाफ ने अन्य डॉक्टरों को इसकी शिकायत भी की और फिर सभी ने डॉ. विवेक को बाहर निकाला। उसके बाद जब डॉ. विवेक का नशा थोड़ा कम हुआ तो वह चला गया। डॉ. विवेक का कहना है कि उन पर लगे आरोप निराधार हैं। रात को वे नहीं कोई और होगा।

डॉ. विवेक के खिलाफ 6/7 लोगों ने शिकायत दी है। उन्होंने बताया कि रविवार देर रात डॉक्टर ने सबके साथ मिसबिहेव किया और लेबर रूम में घुस गया। पुलिस ने डीडीआर दर्ज कर ली है और शिकायकर्ताओं के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। डॉक्टर का सोमवार को मेडिकल करवाया गया। मामला अंडर इन्वेस्टिगेशन है।
- बलजिंदर सिंह मंड, चौकी इंचार्ज

डॉ. विवेक का रविवार रात हॉस्पिटल में आए लोगों से विवाद हो गया था। किसी बात पर लेकर दोनों पार्टियों में मिस अंडरस्टेडिंग हो गई थी। बाद में समझौता हो गया। पुलिस को शिकायत देने की जानकारी नहीं है।
-डॉ. मंजीत सिंह, एसएमओ, सिविल हॉस्पिटल फेज-6 मोहाली

X
Drunk doctor abused patients relatives and constables
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..