दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

DB SPL: हिमालय से निकलने वाली 60% जलधारा सूखने की ओर, 12 राज्यों में सूखे का खतरा

नीति आयोग की रिपोर्ट, नदियों को बचाने के लिए मैपिंग का सुझाव

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2018, 07:22 AM IST
उत्तराखंड में 150 साल में जलधाराओं की संख्या 360 से घटकर 60 तक पहुंची यानी 6 गुना गिरावट आई। - फाइल उत्तराखंड में 150 साल में जलधाराओं की संख्या 360 से घटकर 60 तक पहुंची यानी 6 गुना गिरावट आई। - फाइल

नई दिल्ली. हिमालय से निकलने वाली 60% जलधाराएं सूखने की कगार पर हैं। इनमें गंगा, ब्रह्मपुत्र जैसी बड़ी और अहम नदियों की जलधाराएं भी हैं। इनकी हालत ऐसी हो चुकी है कि इनमें पानी आता भी है तो सिर्फ बारिश के मौसम में। नीति आयोग की एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। आयोग के साइंस एंड टेक्नोलॉजी विभाग ने जल संरक्षण पर रिपोर्ट तैयार की है।

जलधाराओं की मैपिंग हो

- रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के अलग-अलग क्षेत्रों से करीब 50 लाख जलधाराएं निकलती हैं। करीब 30 लाख तो भारतीय हिमालय क्षेत्र से निकलती हैं।

- आयोग का सुझाव है कि भारतीय हिमालय क्षेत्र से निकलने वाली जलधाराओं की गिनती की जाए और मैपिंग हो। साथ ही नेशनल लेवल पर प्रोग्राम लॉन्च किया जाए।

12 राज्यों में सूखे का डर
- भारतीय हिमालय क्षेत्र से निकलने वाली जलधाराओं से गंगा, ब्रह्मपुत्र जैसी नदियां निकलती हैं।

- क्लाइमेंट चेंज से घटते ग्लेशियर, पानी की बढ़ती मांग और पेड़ कटाई जैसी वजहों से ये जलधाराएं सिकुड़ रही हैं।

- 12 राज्य के 5 करोड़ लोग इन जलधाराओं के प्रभाव क्षेत्र में आते हैं। अगर फौरन कदम नहीं उठाए गए तो 10 साल में इन क्षेत्रों को जलसंकट झेलना पड़ेगा।

उत्तराखंड में 150 साल में जलधाराओं की संख्या 360 से घटकर 60 तक पहुंची

- भारतीय हिमालय क्षेत्र से निकलने वाली जलधाराओं की स्थिति का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि उत्तराखंड में जलधाराओं की संख्या में 150 साल में 6 गुना गिरावट आ गई है। इसकी संख्या 360 से घटकर 60 तक आ पहुंची है।

- नीति आयोग का सुझाव है कि इस स्थिति से निपटने के लिए तीन चरण में प्लान तैयार किया जाए।

- पहला- 4 साल का शॉर्ट टर्म प्लान।

- दूसरा- 5-8 साल का मिड टर्म प्लान और तीसरा- 8 साल से ज्यादा का लॉन्ग टर्म प्लान।

- शॉर्ट टर्म प्लान में जलधाराओं की मॉनिटरिंग की जाए। मिड टर्म प्लान में इसके मैनेजमेंट का प्लान तैयार हो और लॉन्ग टर्म प्लान में इस पर अमल हो और नतीजे लाए जाएं।

नीति आयोग की रिपोर्ट में हिमालय से निकलने वाली नदियों को बचाने के लिए मैपिंग करने का सुझाव दिया गया है। - फाइल नीति आयोग की रिपोर्ट में हिमालय से निकलने वाली नदियों को बचाने के लिए मैपिंग करने का सुझाव दिया गया है। - फाइल
X
उत्तराखंड में 150 साल में जलधाराओं की संख्या 360 से घटकर 60 तक पहुंची यानी 6 गुना गिरावट आई। - फाइलउत्तराखंड में 150 साल में जलधाराओं की संख्या 360 से घटकर 60 तक पहुंची यानी 6 गुना गिरावट आई। - फाइल
नीति आयोग की रिपोर्ट में हिमालय से निकलने वाली नदियों को बचाने के लिए मैपिंग करने का सुझाव दिया गया है। - फाइलनीति आयोग की रिपोर्ट में हिमालय से निकलने वाली नदियों को बचाने के लिए मैपिंग करने का सुझाव दिया गया है। - फाइल
Click to listen..