--Advertisement--

ई-वे बिल व्यवस्था आज से लागू, इंट्रा स्टेट के लिए 15 से

50 हजार रु. से ज्यादा मूल्य के सामान के साथ अनिवार्य

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:42 AM IST

नई दिल्ली. गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) के तहत एक अप्रैल से देशभर में ई-वे बिल व्यवस्था लागू होने जा रही है। इसके तहत कारोबारियों को एक राज्य से दूसरे राज्य में 50,000 रुपए से अधिक कीमत का सामान ले जाने के दौरान ई-वे बिल रखना अनिवार्य होगा।


- सरकार इसे टैक्स चोरी रोकने और टैक्स कलेक्शन बढ़ाने के उपाय के तौर पर पेश कर रही है। अभी ज्यादातर कारोबार नकद में होता है। ई-वे बिल से ऐसा कारोबार हिसाब में आएगा और इस पर जीएसटी लगने से टैक्स कलेक्शन बढ़ने की उम्मीद है। इंट्रा स्टेट (राज्य के भीतर) ई-वे बिल व्यवस्था 15 अप्रैल से लागू होगी।

- पहले यह व्यवस्था एक फरवरी को लागू की गई थी, लेकिन पहले ही दिन परमिट जारी करने में तकनीकी दिक्कतें पेश आने के बाद इसे स्थगित करना पड़ा था। अब यह एक अप्रैल से लागू होने जा रही है।
जीएसटीएन ने तकनीकी खामियों से निपटने की व्यवस्था की है और अब ई-वे बिल तभी जनरेट होगा जब सड़क, रेल, विमान या पानी के जहाज से माल किसी एक राज्य से दूसरे राज्य में ले जाया जा रहा हो।

- ई-वे बिल से संबंधित सिस्टम का विकास नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) ने किया है। इस पर रोज 75 लाख अंतरराज्यीय ई-वे बिल बनाए जा सकेंगे। जीएसटी काउंसिल ने इस माह के शुरू में चरणबद्ध तरीके से ई-वे बिल लागू करने का फैसला किया था।