--Advertisement--

पापा ने भाई का गला घोटा फिर मां के सिर पर मारा हथौड़ा, 8 साल के बच्चे ने बताई पूरी स्टोरी

जहांगीरपुरी में मंगलवार सुबह एक युवक अपनी पत्नी और सवा साल के बच्चे की हत्या करके फरार हो गया।

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 06:32 AM IST

नई दिल्ली . शहर के जहांगीरपुरी में मंगलवार को एक शख्स ने अपनी पत्नी और सवा साल के बच्चे की हत्या कर दी। वहीं मौके पर मौजूद आठ साल के बच्चे ने अपने पापा को हत्या करते हुए देख लिया। बच्चे के मुताबिक, सुबह मम्मी की चीख सुनकर अचानक जाग गया। इसके बाद रजाई से मुंह निकालकर देखा तो पापा ने भाई और मम्मी को मार दिया। ये बताया मासूम ने ...

- पापा छोटे भाई का गला घोट रहे थे। फिर उन्होंने मम्मी के सिर पर हथौड़ा मारा। ये देखकर बुरी तरह डर गया और रजाई से मुंह ढक लिया।

- उसके बाद पापा कमरे ने निकल गए। पापा के जाने के बाद देखा तो मम्मी के सिर से बहुत खून निकल रहा था और मुंह से झाग भी आ रहा था।

- यह देखकर मैं रजाई के अंदर ही डर से रोने लगा। कुछ देर बाद दादा ने मम्मी और पापा को आवाज लगाई।

- कई बार आवाज लगाने के बाद जब दरवाजा नहीं खुला तो दादा ने गेट खटखटाया।

- दरवाजा खोलते हुए हुए दादा से लिपट गया। मैंने कहा कि दादा जी मुझे बहुत डर लग रहा है। उन्होंने मुझे गोद में उठा लिया और मेरे दूसरे छोटे भाई को नींद से जगाकर हमें नीचे ले गए।

- इसके बाद उन्होंने चाचा को फोन करके बुलाया। फिर पुलिस को सूचना दी।'

हथौड़ा किया बरामद
- पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल हुआ हथौड़ा, ईंट और अन्य सामान कब्जे में ले लिया है। मृतकों की पहचान 32 वर्षीय शोभा और सवा साल के अनिल के रूप में हुई है। पुलिस ने दोनों को बाबू जगजीवन राम अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

- पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए सुरक्षित मोर्चरी में रखवा दिया है। पोस्टमार्टम बुधवार को होगा। पुलिस हत्या की धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपी 35 वर्षीय ओमप्रकाश की तलाश में जुटी है। उत्तरी-पश्चिमी जिले की डीसीपी असलम खान के मुताबिक परिवार में शोभा, उसके तीन बेटे (सवा साल का अनिल, छह साल का निशांत और आठ साल का राहुल), पति ओमप्रकाश, दो देवर (26 वर्षीय कमल और 20 वर्षीय बबलू) और ससुर खुबी राम रहते थे।

- सोमवार की रात परिवार के सभी सदस्यों ने एक साथ खाना खाया और अपने-अपने कमरे में सोने चले गए। ओमप्रकाश मकान बनाने का काम करता है और शराब पीने का आदी है। सोमवार रात को भी वह शराब के नशे में था। ओमप्रकाश अपने बच्चों सहित पहली मंजिल पर बने कमरे में सो रहा था।


शक में बना पत्नी और बेटे का हत्यारा
- आरोपी की नानी ओमवती ने बताया कि शोभा हैदरपुर में घरों में घरेलू काम करती थी। उसका पति मकानों में पत्थर लगाता और दिनभर बाहर रहता था। कई बार उसने घर पर अंजान लोगों को देखा था। पुलिस को शक है कि वह अपने छोटे बेटे अनिल को अपना नहीं मानता था। इसलिए उसने उसी की हत्या की और बाकी दोनों बेटों के साथ कुछ नहीं किया।

जहरीला पदार्थ खिलाकर हत्या का शक
- पुलिस ने आशंका जताई कि आरोपी ने पहले मृतकों को जहरीला पदार्थ पिलाया। इसके बाद उनके मरने का इंतजार किया लेकिन जब मौत नहीं हुई तो उसने हथौड़े से हमला कर दिया।

7 साल पहले दी थी तलाक की अर्जी
- शोभा की ननद पूजा ने बताया कि दोनों की शादी 13 साल पहले हुई थी लेकिन 7 साल पहले लड़ाई के कारण तलाक तक की नौबत आ गई थी। ओमप्रकाश ने अदालत में तलाक का केस डाला और दोनों को छह महीने का समय दिया था। बाद में दोनों में से किसी ने शिकायत नहीं कि और परिवार चलता रहा।