--Advertisement--

हनुमान को रामसेतु बनाते समय जलपरी से हुआ प्रेम, कुछ अलग है ये रामायण

हमारी रामायण से जुदा है कंबोडिया की रामायण, कंबोडिया में की जाने वाली रामलीला की कहानी सीता हरण से शुरू होती है।

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 04:01 AM IST

दिल्ली. आईसीसीआर की ओर से आयोजित रामायण महोत्सव में मंगलवार को दिल्लीवासी कंबोडिया और सिंगापुर की रामकथा से रूबरू हुए। कंबोडिया में रामायण की कहानी हमारे से यहां बिल्कुल अलग है। उनका पूरा एक्ट हनुमान के इर्द-गिर्द घूमता है। इसमें स्वा (यानि हनुमान) को समुद्री मछलियों से प्रेम करते दिखाया गया है। कार्यक्रम की शुरुआत सिंगापुर की रामायण से हुई। इसमें अशोक वाटिका में सीता और हनुमान की मुलाकात दिखाई गई।

- खास बात यह कि इस नृत्यनाटिका को करने वाले कलाकार इंडियन, जकार्ता और सिंगापुर के थे। भरतनाट्यम शैली में दिखाए गए इस एक्ट में सीता, रावण और हनुमान की रोचक प्रस्तुति देखने को मिली।

- इसके बाद कंबोडिया की अनोखी रामायण की प्रस्तुति दी गई। कंबोडिया में की जाने वाली रामलीला की कहानी सीता हरण से शुरू होती है।

- इसके बाद भगवान राम, हनुमान को रामसेतु बनाने का आदेश देते हैं। हनुमान समुद्र में पत्थर फेंककर सेतु बनाने का काम शुरू ही करते हैं लेकिन वहां की जलपरियां बाधाएं पैदा करने लगती हैं। इस कारण हनुमान और जलपरियों में युद्ध होता है, लेकिन युद्ध का अंत हनुमान और जलपरी के प्रेम से होता है। इसके बाद सभी मिलकर रामसेतु तैयार करते हैं।