दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

मुंडका-बहादुरगढ़ मेट्रो लाइन में भी जमीन ने अड़ाया रोड़ा

मुंडका-बहादुरगढ़मेट्रो लाइन में 300 मीटर जमीन के टुकड़े ने रोड़ा अटका दिया है।

Danik Bhaskar

Dec 10, 2017, 05:29 AM IST

नई दिल्ली। मुंडका-बहादुरगढ़मेट्रो लाइन में 300 मीटर जमीन के टुकड़े ने रोड़ा अटका दिया है। इस जमीन के कारण इस कॉरिडोर की डेट लाइन दो साल आगे खिसक गई है। जमीन का यह निजी हिस्सा माॅडर्न इंडस्ट्रियल एरिया (एमआईई) स्टेशन के पास है। जिसे हरियाणा सरकार को अधिग्रहित करना था। इसके बाद इसे दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) को सौंपना था, जो अभी तक नहीं हो पाया है।


इसी कॉरिडोर की तरह मजलिस पार्क से शिव विहार कॉरिडोर में त्रिलोकपुरी की 255 मीटर जमीन मेट्रो लाइन में रोड़ा बनी है। हरियाणा हिस्से में जमीन मिलने की देरी से कॉरिडोर पूरा करने की नई डेट लाइन डीएमआरसी ने जून, 2018 रखी है। कॉरिडोर की मंजूरी के समय ये डेट लाइन मार्च, 2016 रखी गई थी।


..तो 27 महीने लगेंगे
अबयह जमीन मिल भी जाती है तो 27 महीने की देरी से ये कॉरिडोर पूरा होगा। इससे पहले डीएमआरसी ने मुंडका-बहादुरगढ़ लाइन पर दिल्ली बॉर्डर में टिकरी कलां में 394 वर्गमीटर जमीन मोलभाव कर 1.79 करोड़ रुपए में प्रोजेक्ट के लिए खरीदी थी।

स्टे हटने के बाद भी हासिल नहीं कराई जमीन
डीएमआरसी ने सरकार को जानकारी दी कि कॉरिडोर में देरी का मूल कारण इस जमीन का नहीं मिलना ही है। हरियाणा में किसी प्राइवेट व्यक्ति की इस 300 मीटर जमीन का मामला कोर्ट से स्टे भी हुआ। स्टे हटने के बाद भी सरकार ने कब्जामुक्त जमीन उपलब्ध नहीं कराई है।


ऐसा है कॉरिडोर, इनको होगा फायदा
मुंडका से बहादुरगढ़ बस अड्‌डा होते हुए सिटी पार्क (11.2 किमी) तक के इस कॉरिडोर के पूरा होने पर नोएडा-गाजियाबाद से बहादुरगढ़ जाना आसान हो जाएगा। ये लाइन ब्लू लाइन को कीर्ति नगर मेट्रो स्टेशन और अप्सरा बॉर्डर से आने वाली रेड लाइन को इन्द्रलोक मेट्रो स्टेशन पर जोड़ती है। इन दोनों लाइन पर एक इंटरचेंज के बाद यात्री सीधे बहादुरगढ़ पहुंच सकेंगे। साथ ही हरियाणा से ग्रीन लाइन भी जुड़ जाएगी।

Click to listen..