--Advertisement--

मद्रास हाईकोर्ट का फैसला, परिवार बढ़ाने के लिए कैदी को दो हफ्ते की छुट्‌टी दी

कोर्ट ने जेल प्रशासन को प्रक्रिया का पालन करने और कैदी को जेल से बाहर सुरक्षा देने का निर्देश भी दिया।

Danik Bhaskar | Jan 26, 2018, 06:18 AM IST

मदुरै. मद्रास हाईकोर्ट ने एक कैदी को परिवार बढ़ाने के लिए दो सप्ताह की छुट्टी दी है। 40 साल का कैदी सिद्दीक अली तिरुनलवेली जिले की जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है। कोर्ट ने कहा, ‘वक्त आ गया है कि सरकार एक समिति गठित कर कैदियों को साथी के साथ रहने और संबंध बनाने की मंजूरी देने पर विचार करे। कई देशों में कैदियों को ऐसे अधिकार दिए गए हैं।’


- जस्टिस एस विमला देवी और टी कृष्ण वल्ली की बेंच ने कैदी की पत्नी की ओर से दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा, ‘केंद्र पहले ही एक प्रस्ताव को मंजूरी दे चुका है कि संबंध बनाना अधिकार है, ना कि विशेषाधिकार। ऐसे में कैदियों को अपनी इच्छा पूरी करने का अधिकार है।’

- बेंच ने कहा कि संबंध बनाने से परिवार के साथ रिश्ते कायम रखने में मदद मिलती है और आपराधिक प्रवृत्ति कम होती है। इस केस में शुरुआती जांच में पता चला कि कैदी परिवार बढ़ा सकता है।

- कोर्ट ने कहा कि रिहाई के बाद डॉक्टरी जांच के लिए दो सप्ताह की अतिरिक्त छुट्टी पर विचार हो सकता है। कोर्ट ने जेल प्रशासन को प्रक्रिया का पालन करने और कैदी को जेल से बाहर सुरक्षा देने का निर्देश भी दिया।