Hindi News »Union Territory News »Delhi News »News» I Am Happy To Speak To My Father A Few Hours Before Death

कहा था- सुसाइड कर लूंगा, मौत से कुछ घंटे पहले ही पिता से फोन पर बोला-मैं खुश हूं

Bhaskar News | Last Modified - Jan 18, 2018, 06:11 AM IST

जीटीबी अस्पताल परिसर में बुधवार सुबह फ्लैट के बाथरूम से डॉक्टर शरद प्रभु का शव बरामद हुआ।
  • कहा था- सुसाइड कर लूंगा, मौत से कुछ घंटे पहले ही पिता से फोन पर बोला-मैं खुश हूं

    नई दिल्ली.जीटीबी अस्पताल परिसर में बुधवार सुबह फ्लैट के बाथरूम से डॉक्टर शरद प्रभु का शव बरामद हुआ। पुलिस के मुताबिक जीटीबी अस्पताल से पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे शरद ने नशे का इंजेक्शन लगाकर खुदकुशी की। 23 दिसंबर को शरद ने अपने साथी दो डॉक्टरों से कहा था, “मैं डिप्रेशन में हूं। जल्दी सुसाइड कर लूंगा। अब मैं ज्यादा दिन जीने वाला नहीं हूं।’ लेकिन दोस्तों ने डाॅ. प्रभु की बातों को मजाक समझा था क्योंकि उनके बर्ताव और चेहरे से वे किसी भी तरह के तनाव में नहीं दिख रहे थे। मंगलवार रात 11 बजे भी जब शरद ने अपने पिता से फोन पर बात की तो कहा, “मैं यहां बहुत खुश हूं।’ पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सुरक्षित रखवा दिया गया है। बुधवार देर शाम डॉ. शरद के परिजन दिल्ली पहुंच गए।

    कोयंबटूर में मेडिकल कॉलेज के टॉपर थे डॉ. शरद प्रभु
    - पुलिस अधिकारी के अनुसार 32 वर्षीय डॉ. शरद प्रभु अपने दो दोस्तों अरविंद व कार्तिकेय के साथ इस फ्लैट में रहते थे। वह कोयंबटूर तमिलनाडु के रहने वाले थे। डॉ. प्रभु ने कोयंबटूर मेडिकल कॉलेज से ही एमबीबीएम किया था।

    - उन्होंने बेंच में टॉप कर दिल्ली के यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज (यूसीएमएस) से पीजी डिप्लोमा करने को अप्लाई किया। उनका नंबर यूसीएमएस में आ गया। 6 माह पहले ही वह दिल्ली आकर रहने लगे थे और जीटीबी के जनरल मेडिकल वार्ड में प्रैक्टिस कर रहे थे।

    सुबह 5 बजे की थी शिफ्ट

    - MkW शिफ्ट सुबह 5 बजे की थी। लेकिन वह बुधवार को अपनी शिफ्ट पर नहीं पहुंचे। अरविंद और कार्तिकेय उन्हें देखने पहुंचे।

    - डॉ. प्रभु बाथरूम में घायल पड़े थे। दोनों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

    सुसाइड की थ्योरी पर दो बड़े सवाल

    दोस्तों ने कहा- साथ सोए थे, नशा कब किया?
    - डॉक्टर शरद प्रभु के दोस्तों ने कहा कि, रात 10.30 बजे खाना खाकर साथ हम साथ सोए थे, तो उसने नशा कब किया? खाने के बाद उसने अपने घरवालों से भी अच्छी तरह बात की थी। और खुश दिख रहा था उधर, पुलिस ने कहा कि डॉक्टर ने शरद प्रभु ने रात को खाना खाने के बाद नशे के लिए इन इंजेक्शनों का इस्तेमाल किया होगा और डोज ज्यादा ले ली। फ्लैट से नशीले इंजेक्शन भी बरामद हुए हैं। एसएफएल टीम ने नशीले इंजेक्शनों की जांच शुरू कर दी है। जल्द ही रिपोर्ट आ जाएगी।

    पिता बोले-डिप्रेशन में होने का सवाल ही नहीं
    - बेटे की मौत की सूचना मिलने के बाद कोयंबटूर से दिल्ली आए डॉ. शरद प्रभु के पिता सिल्वामनी ने कहा, मेरा बेटा सुसाइड नहीं कर सकता। उसके डिप्रेशन में होने का सवाल ही नहीं उठता।

    - बीती रात उसकी बातों से भी ऐसा कुछ नहीं लगा कि वो ऐसा कोई कदम उठाने जा रहा है। वह मेडिकल कॉलेज में टॉपर रहा था।

    - पहले ही प्रयास में उसे यूजीएमएस में दाखिला मिल गया। घर में कोई आर्थिक समस्या नहीं थी। ऐसे में वह सुसाइड क्यों करेगा?

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: I Am Happy To Speak To My Father A Few Hours Before Death
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×