Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» India S First Floating Market Opens In Kolkata

कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार

श्रीनगर की डल झील में भी पानी पर मार्केट है, पर यह फ्लोटिंग मार्केट नहीं है।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 12, 2018, 12:31 AM IST

  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
    कोलकाता की पतौली झील पर बना फ्लोटिंग मार्केट।

    कोलकाता. कोलकाता की पतौली झील, एक साल पहले तक गंदगी के चलते यहां कोई आता-जाता नहीं था। आसपास की दुकानें अतिक्रमण के चलते हटा दी गई थीं। दुकानदार बेरोजगार हो गए थे। अब उसी पतौली झील में ममता सरकार ने देश का पहला फ्लोटिंग मार्केट शुरू किया है। यहां सुबह 10 से रात 9 बजे तक लोग रोजमर्रा का सामान खरीद रहे हैं। फ्लोटिंग मार्केट में 114 नावों के ऊपर 228 दुकानें बनाई गई हैं। एक नाव पर दो दुकानें लगती हैं। मार्केट के बीच में एक रास्ता बनाया गया है। इसके दोनों ओर दुकानें लगतीं हैं। मार्केट को बसाने में 10 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। यह 500 मीटर लंबे और 60 मीटर चौड़े इलाके में फैला है। प्रवेश नि:शुल्क है। इसका उद्धाटन 25 जनवरी को हुआ था।

    खरीददारी के साथ घूमने और सेल्फी लेने का क्रेज
    - यह फ्लोटिंग मार्केट कोलकाता में मशहूर हो गया है। सनातन दास जो यहां सब्जी की दुकान लगाते हैं, बताते हैं कि लोग यहां सामान बाद में खरीदते हैं। सेल्फी और फोटो खींचने का काम पहले करते हैं।

    यह एशिया का तीसरा फ्लोटिंग मार्केट है
    - एशिया में थाईलैंड के बैंकॉक और सिंगापुर में भी फ्लोटिंग मार्केट हैं। पतौली मार्केट को इन्हीं के मॉडल पर बनाया गया है। श्रीनगर की डल झील में भी पानी पर मार्केट है, पर यह फ्लोटिंग मार्केट नहीं है।

    4 से 5 हजार लोग रोजाना इस मार्केट में आ रहे हैं
    - कोलकाता की पतौली फ्लोटिंग मार्केट में रोजाना 4 से 5 हजार लोग पहुंच रहे हैं। मार्केट में सब्जी, मछली, मीट और किराने के साथ चाय, नाश्ते, रजाई गद्दे, कपड़े, नाई आदि की दुकानें हैं।

  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
    रात के वक्त फ्लोटिंग मार्केट की दृश्य।
  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
    देश का पहला तैरता बाजार।
  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
  • कभी यहां होती थी गंदगी, अब वहां खुला देश का पहला तैरता हुआ बाजार
    +6और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×