दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

155 फीट की सुरंग खोदकर सुरंग की चोरी, ब्लास्ट होने पर हुआ खुलासा

3 महीने से हो रही थी चोरी , रोज 1500 लीटर तेल चुराते थे, तेल भरने का काम रात में ही होता था

Danik Bhaskar

Jan 25, 2018, 11:38 AM IST
खाली प्लॉट किराए पर लेकर दो महीने के अंदर 8 फीट गहरा और 4 फीट चौड़ा गड्ढा खोदा। खाली प्लॉट किराए पर लेकर दो महीने के अंदर 8 फीट गहरा और 4 फीट चौड़ा गड्ढा खोदा।

नई दिल्ली. दिल्ली के द्वारका के सूरज विहार इलाके में पिछले तीन महीने से इंडियन ऑयल की पाइपलाइन से रोजाना करीब 1500 लीटर पेट्रोल चोरी किया जा रहा था। खुलासा तब हुआ जब उस सुरंग में मंगलवार देर रात करीब 1.30 बजे ब्लास्ट हो गया। पुलिस मौके पर पहुंची तब मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने पेट्रोल चुराने के लिए इस्तेमाल किए सामान को बरामद कर लिया। एक शख्स को भी अरेस्ट किया गया है।

दो महीने में खोद डाली सुरंग
- पुलिस के मुताबिक, सुरंग की जांच करने पर पता चला कि पांच लोगों ने करीब पांच महीने पहले गाड़ियों के बंपर सही करने का काम करने के लिए खाली प्लॉट किराए पर लिया था। इसमें एक छोटा-सा कमरा बना है। बदमाशों ने दो महीने लगातार 8 फीट गहरा और 4 फीट चौड़ा गड्ढा खोद कर इसी इलाके से गुजर रही इंडियन ऑयल की पाइपलाइन तक सुरंग खोद डाली। फिर इसमें छेद करके अपनी पाइपलाइन जोड़ दी।

- इन आरोपियों के पास से एक टैंपो था, जिसमें 500-500 लीटर की तीन टंकियां थीं। ये रोज रात में एक बार ये तीनों टंकियां भरते थे। किसी को सुरंग के बारे में पता न चले, इसलिए उसके ऊपर सोफा, ईंट और पत्थर रख दिए थे।

- इसके चलते सुरंग में गैस का दबाव बन गया और ब्लास्ट हो गया। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और एक आरोपी को दबोच लिया।

- सुरंग सीज करके दरियागंज निवासी जब्बार को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके बाकी साथी फरार हो गए।

बीट कांस्टेबल पर पैसे लेने का भी आरोप
- आरोपियों ने सुरंग बनाने को रिहायशी इलाके को चुना था, क्योंकि यहां किसी को शक नहीं होगा।

- पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। न तो किराए पर प्लॉट लेने वाले आरोपियों का वेरिफिकेशन हुआ था और न ही बीट कांस्टेबल कभी इलाके में पहुंचा। हालांकि, लोगों का अाराेप है कि बीट कांस्टेबल पैसे लेता था।

पुराना सामान रखे होने से नहीं हुआ शक
- द्वारका जिला के पुलिस उपायुक्त, शिबेश सिंह ने बताया कि सुरंग की जानकारी प्लाॅट में रखी पुरानी गाड़ियों के कारण नहीं हो पाई थी। अधिकारी इलाके में नियमित तौर पर गश्त करते थे, लेकिन गाड़ियों का काम होने के चलते कभी किसी को शक नहीं हुआ। शिकायत के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है।

- इंडियन ऑयल के कॉरपोरेट हेड, एम काली कृष्णा ने बताया कि हमारा पाइपलाइन सिस्टम काफी बड़ा और फैला हुआ है। प्रेशर सिस्टम डाउन होने पर मीटर से पता चल जाता है कि कहां लीकेज है। प्रेशर की मशीन कम मात्रा से होने वाला लीकेज नहीं पकड़ पाती। प्रेशर कम होने पर वहां टीम पहुंच जाती है।

इंडियन ऑयल की पाइपलाइन से निजी पाइपलाइन जोड़कर पेट्रोलियम पदार्थ चोरी करते थे बदमाश। इंडियन ऑयल की पाइपलाइन से निजी पाइपलाइन जोड़कर पेट्रोलियम पदार्थ चोरी करते थे बदमाश।
टैंपों में तीन 500-500 लीटर की टंकियां रखी थीं, रोज इन्हीं में तेल भरकर चोरी करते थे। टैंपों में तीन 500-500 लीटर की टंकियां रखी थीं, रोज इन्हीं में तेल भरकर चोरी करते थे।
सुरंग में गैस का दबाव बढ़ने से रात करीब 1.30 बजे विस्फोट हो गया, जिससे आसपास के लोग दहल गए सुरंग में गैस का दबाव बढ़ने से रात करीब 1.30 बजे विस्फोट हो गया, जिससे आसपास के लोग दहल गए
Click to listen..