--Advertisement--

25 साल की ये लड़की बनी ITBP की पहली लेडी ऑफिसर, पहली बार में पास किया एग्जाम

प्रकृति ने कहा, “मेरी शुरू से ही वर्दी पहनकर देश की सेवा करने की इच्छा थी।

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2018, 07:09 AM IST
प्रकृति प्रकृति

नई दिल्ली. बिहार के समस्तीपुर की रहने वाली 25 साल की प्रकृति भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) की पहली महिला अॉफिसर बनेंगी। वे अग्रिम मोर्चे पर तैनात होंगी। इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बैचलर प्रकृति फिलहाल उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आईटीबीपी के बेस में हैं। देहरादून में ट्रेनिंग पूरी करने के बाद उन्हें असिस्टेंट कमांडेंट के पद पर अगले साल से तैनात किए जाने की उम्मीद है। उन्हें भारत-चीन सीमा से सटे नाथुला दर्रा जैसे स्थानों पर तैनाती दी जाएगी। इसको दिया सफलता का श्रेय...


- प्रकृति ने 2016 में सरकार की ओर से आईटीबीपी में महिलाओं की तैनाती को मंजूरी देने के बाद संघ लोक सेवा आयोग की केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल ऑफिसर भर्ती परीक्षा के जरिए यह मुकाम हासिल किया है।

- उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में यह परीक्षा पास की थी।

- प्रकृति ने कहा, “मेरी शुरू से ही वर्दी पहनकर देश की सेवा करने की इच्छा थी।

- मेरे पिता वायुसेना में हैं। मैं उनसे ही इंस्पायर हूं।’ प्रकृति ने बताया कि मार्च 2016 में अखबार में खबर पढ़ी कि सरकार आईटीबीपी में महिला ऑफिसरों को अग्रिम मोर्चे पर तैनाती को अनुमति दे रही है, तभी से मैंने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी और आज मेरा सपना पूरा हो गया।’

- 1962 में गठित आईटीबीपी चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर 3,488 किमी के इलाके की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालती है।

- आईटीबीपी में 2009 से महिलाओं की भर्ती जवान के तौर पर की गई है।

- 60,000 जवानों की संख्या वाली आईटीबीपी में 1,661 के करीब महिला जवान हैं।

X
प्रकृतिप्रकृति
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..