--Advertisement--

मेड को गर्म प्रेस से जलाया, कैंची से भी काटा, वजह जान शॉक्ड हो जाएंगे आप

नार्थ- वेस्ट दिल्ली के मॉडल टाउन में 16 साल की मेड से बर्बरता का मामला सामने आया है।

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 02:32 AM IST
lady doctor torchered minor made

नई दिल्ली. नार्थ- वेस्ट दिल्ली के मॉडल टाउन में 16 साल की मेड से बर्बरता का मामला सामने आया है। महिला डॉक्टर ने गुरुवार रात 11.30 बजे कपड़े साफ नहीं धोने पर मेड की पीठ गर्म प्रेस से जला दी। जिससे वह बेहोश हो गई। शुक्रवार को भी उसे लात-घूंसों से बुरी तरह पीटा और कैंची से कई जगह काटा भी। शुक्रवार सुबह 10 बजे वह कपड़े धो रही थी, तो तेज दर्द होने से रोने लगी। फिर बालकनी में आकर चिल्लाने लगी और लोगों से मदद मांगी। इस पर पड़ोसियों ने घर की बालकनी के रास्ते बाहर निकाला। मेड के मुंह पर थी सूजन और आंखों पर थे चोटों के निशान...

- पड़ोसियों ने बताया कि उस वक्त उसके हाथ-पैर जले हुए थे, मुंह पर सूजन व आंखों पर चोट के निशान थे।

- पड़ोसियों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी महिला डॉक्टर निधि पशरेजा रॉय चौधरी को गिरफ्तार किया है।

- वह मॉडल टाउन के कल्याण विहार में मकान नंबर 35 के सेकंड फ्लोर पर रहती है। वह डेंटल की डॉक्टर है। वहीं, घायल मेड को एलएनजेपी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है।

कभी दो दिन की बासी रोटी तो कभी पूरे दिन में सिर्फ दो ब्रेड देती थी खाने के लिए

- झारखंड के एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली 16 साल की मेड से जब दैनिक भास्कर ने बात की तो कई दिल दहलाने वाली बातें सामने आईं।

- उसने बताया, मैं महिला डॉक्टर के यहां चार महीने पहले आई थी। चार-पांच दिन तक सब ठीक-ठाक रहा। लेकिन फिर मारपीट करना और चिल्लाना, हर रोज होने लगा। हर छोटी-छोटी बात पर बुरी तरह डांटा जाता था। कोई भी सामान हाथ आने पर उससे पिटाई कर देती थी। कभी बाल पकड़कर खींचकर मुंह पर थूक देती थी।

- खाने में दो दिन पहले की दो रोटी, तो कभी-कभी पूरे दिन भर में केवल दो ब्रेड ही देती थी। एक बार तेज भूख लगने के कारण मैंने खुद दो रोटियां ले ली थीं, तो उस दिन मेरी खूब पिटाई की और गर्म प्रेस से मेरी पीठ जला दी। इसके बाद पूरे दिन खाना नहीं दिया।

खुदकुशी करने की सोची पर मां-बाप की गरीबी के बारे में सोचकर सहन करती रही
- मेड ने महिला डॉक्टर ने रोते हुए बताया, इससे पहले भी तीन बार गर्म प्रेस से उसके हाथ जलाए गए थे। मैंने कई बार इसकी शिकायत करने की सोची लेकिन इन चार महीनों में एक बार भी घर के बाहर नहीं जाने दिया।

- सुबह आठ बजे आरोपी महिला और उसके पति घर से निकलते थे और शाम के चार या पांच बजे वापस आते थे। वे हमेशा बाहर से घर का ताला लगाकर जाते और वापस आने पर खोलते थे।

- मैंने कई बार आत्महत्या करने की भी सोची लेकिन अपने मां-बाप की गरीबी के कारण सब सहती रही। लेकिन आज जब शरीर में बहुत ज्यादा दर्द और हाथ-पैरों में जलन होने लगी तो मैं सहन नहीं कर पाई। कपड़े धोते समय ऐसा लगा रहा था कि मैं बेहोश हो जाऊंगी, तब मैंने चिल्लाकर पड़ोसियों को मदद के लिए बुलाया।

आरोपी डॉक्टर ने कहा, मैंने कोई मारपीट नहीं की, यह सब झूठ है
- इस संबंध में आरोपी महिला डॉक्टर का कहना है कि यह सब झूठ है। उसने मारने-पीटने की बातों से भी इंकार कर दिया।

- कहा कि मेड को भरपेट खाना दिया जाता था। घर में खाना खाने पर कोई रोक नहीं है। प्रेस से जलाने की बात पर उसने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है।

पड़ोसी बोले- पहले भी 3-4 मेड को पीटकर भगा चुकी है महिला डॉक्टर
- आरोपी डॉक्टर के पड़ोसियों का कहना है कि यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी करीब तीन से चार मेड के साथ मारपीट कर उन्हें भगा चुकी है। इसके यहां कोई भी मेड चार से पांच महीने से अधिक नहीं रुकती है।

- तीन साल पहले आरोपी डॉक्टर निधि के घर मेड के रूप में काम कर चुकी सरिता का कहना है कि उसने दो महीने काम किया था। अभी तक दो महीने के पैसे नहीं दिए हैं।

X
lady doctor torchered minor made
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..