Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Leaders And Officer Get Free Vip Number

आम लोगों से सब्सिडी छोड़ने की अपील, पर खुद फ्री में लिए करोड़ों के वीआईपी नंबर

वीआईपी कल्चर त्यागने की बात करने वाले अरविंद केजरीवाल सरकार के विधायक खुद करोड़ों के वीआईपी नंबर फ्री में लिए बैठे हैं।

अखिलेश कुमार | Last Modified - Dec 19, 2017, 06:24 AM IST

  • आम लोगों से सब्सिडी छोड़ने की अपील, पर खुद फ्री में लिए करोड़ों के वीआईपी नंबर
    +1और स्लाइड देखें

    नई दिल्ली.गैस सब्सिडी छोड़ने का ऐलान करने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के सांसद-मंत्री व वीआईपी कल्चर त्यागने की बात करने वाले अरविंद केजरीवाल सरकार के विधायक खुद करोड़ों के वीआईपी नंबर फ्री में लिए बैठे हैं। नियम के अनुसार, इन्हें फ्री नंबर लेने की छूट है। पर सरकारी खजाने का पैसा बचाने के लिए ये नंबर छोड़े जा सकते हैं। सरकार इन्हें नीलाम करके करोड़ों रुपए कमा सकती है।

    भाजपा के तीन केंद्रीय मंत्री, एक दर्जन सांसद, दो विधायक और आम आदमी पार्टी के डेढ़ दर्जन विधायकों के साथ-साथ अन्य राजनीतिक दलों के नेता व नौकरशाहों ने साढ़े तीन साल में 4.64 करोड़ रुपए की बेस प्राइस वाले 122 नंबर अपनी कारों पर फ्री में लेकर सजाए हैं। दिल्ली में वीआईपी नंबर 0001 लोग 10-16 लाख रुपये तक में खरीद चुके हैं, लेकिन अब ये नंबर नीलामी के लिए उपलब्ध नहीं हैं। भविष्य में नई सीरिज के भी 0001 नंबर बांटे जा चुके हैं। भास्कर ने वीआईपी नंबर फ्री में लेने वालों की सूची जुटाई है।

    नियम: वीआईपी नंबर भी नीलामी के लिए ओपन

    - हर महीने के पहले सोमवार को 140 वीआईपी नंबरों की नीलामी खुलती है। हर नंबर आेपन होता है।
    - बुधवार तक पंजीकरण और चयन के बाद गुरुवार और शुक्रवार को इसके लिए बोली लगाई जाती है।
    - अगर किसी खास नंबर के लिए नेताओं का आवेदन पेंडिंग नहीं है तो नंबर बिक जाता है।
    खेल यहां: पहले अधिकार किसे ये तय ही नहीं
    - तय नहीं है नंबर पहले फ्री आवेदन में दें या नीलामी में।
    - एडवांस में दावेदारी कर देते हैं नेता, नीलामी में मिलता नहीं
    चपत: करोड़ों की
    - 2014 से नवंबर 2017 तक परिवहन विभाग ने नीलामी से 7 करोड़ जुटाए।
    - जून 2017 में 0001 16 लाख में नीलाम हुआ, उसके बाद से ये फ्री में आवंटित हुआ है
    वीआईपी नंबर की ये 4 कैटेगरी
    कैटेगरीकितने नंबरबेस प्राइज
    पहली1 (सिर्फ 0001)5 लाख
    दूसरी8 (0002-9)
    3 लाख
    तीसरी952 लाख
    चौथी361 लाख

    गोलमाल : आगे की सीरीज तक के नंबर बंट गए
    दिल्ली के पूर्व परिवहन मंत्री व वर्तमान में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने अपने कार्यकाल में वीआईपी और फैंसी नंबर (कार में सी की जगह एफ से सीरिज शुरू करके) बांटे थे। उससे पूर्व में कई साल आगे तक की सीरिज खोलकर नंबर दे दिए गए थे। दिल्ली सरकार ने नंबर की ऑनलाइन नीलामी शुरू की तो डीएल 8सी ईडी 3333 बोली लगाकर 1.10 लाख रुपये में खरीदा है।

  • आम लोगों से सब्सिडी छोड़ने की अपील, पर खुद फ्री में लिए करोड़ों के वीआईपी नंबर
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×