--Advertisement--

दीवार में सुरंग बना बैंक में घुसे लुटेरे, गैस कटर से सेफ काटकर की लूट

मुंडका के दिल्ली कॉपरेटिव बैंक की घटना, दो दिन बाद मिली जानकारी।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 06:34 AM IST

नई दिल्ली. मुंडका इलाके के रानीखेड़ा में शनिवार रात चोरों ने दिल्ली कॉपरेटिव बैंक की दीवार में सुरंग बना डकैती की वारदात को अंजाम दिया। चोर गैस कटर से सेफ काटकर 28 लाख रुपए और लॉकर काटकर ज्वेलरी लेकर फरार हो गए। मामले की जानकारी दो दिन बाद सोमवार को बैंक खुलने के बाद बैंक प्रबंधक को हुई। पुलिस ने बैंक परिसर को अपने कब्जे में ले लिया और प्रबंधक अनूप सिंह की शिकायत पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

- पुलिस के मुताबिक चोर बैंक के साथ में खाली पड़े प्लाॅट की ओर से दीवार में सुरंग बनाकर घुसे थे। चोरों ने सबसे पहले बैंक के सुरक्षा अलार्म के तार काटे और बैंक में लगे तीन सीसीटीवी कैमरे तोड़ दिए। इसके बाद गैस कटर से बैंक की सेफ और बेसमेंट में बने लॉकर काटकर वारदात को अंजाम दिया।

- चोरों ने वारदात को अंजाम देने से पहले बैंक में लगे तीन सीसीटीवी कैमरे और अलार्म तोड़कर अपने पास रख लिए। आरोपी जाने से पहले सीसीटीवी, अलार्म और डीवीआर अपने साथ ले गए, ताकि वारदात का कोई सुराग लग सके।

- इतना ही नहीं आरोपी अपने साथ जो गैस कटर और बाकि हथियार साथ लाए थे, उन्हें मौके पर ही छोड़ दिया। पुलिस वारदात में इस्तेमाल इन्हीं चीजों से आरोपियों का पता लगाने में जुटी है।

काट दिया अलार्म का तार

आरोपियों को बैंक के बारे में बहुत अच्छी जानकारी थी। इसके चलते आरोपियों ने दीवार में सुरंग ऐसी जगह बनाई, जहां से अंदर आते समय सुरक्षा अलार्म नहीं बजा। आरोपियों ने अंदर जाते सबसे पहले अलार्म का तार काटा। इससे पता चलता है कि आरोपियों को पहले से अलार्म के बारे में पता था। जांच अधिकारी की मानें तो आरोपियों ने करीब 6 से 7 बार बैंक की रेकी कर बारीकी से जानकारी जुटाई थी।

फोन की लोकेशन से मिल सकता है सुराग
जिला पुलिस की छह टीमें आरोपियों की तलाश में जुट गई हैं। पुलिस सुरक्षाकर्मी कुछ बैंककर्मियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस वारदात के समय मौजूद मोबाइल फोन की लोकेशन के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। अगर इस दौरान किसी मोबाइल की लाेकेशन बैंक में मिलती है तो पुलिस के लिए यह अहम सुराग होगा।

करीब आठ घंटे तक बैंक में रुके बदमाश

आरोपी करीब आठ घंटे तक बैंक के अंदर ही रुके रहे। आरोपियों ने बैंक के अंदर सेफ में मौजूद 28 लाख रुपए चोरी करने से पहले बड़ी सावधानी से गैस कटर से सेफ को काटा और उससे पैसा निकाला। इसके बाद वह बैंक के बेसमेंट में बने लॉकर रूम में गए और वहां मौजूद 17 ऐसे लॉकर गैस कटर से काट डाले जिनमें ताले लगे थे।