--Advertisement--

20 देशों में शराब कारोबार, खुद कभी ड्रिंक नहीं करते थे Old Monk के मालिक

कपिल मोहन ब्रुअरी मोहन लिमिटेड के चेयरमैन थे। उन्हें 2010 में पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

Danik Bhaskar | Jan 10, 2018, 12:30 AM IST
फेमस रम ब्रांड ओल्ड मोंक बनाने वाली कंपनी के चेयरमैन कपिल मोहन। फेमस रम ब्रांड ओल्ड मोंक बनाने वाली कंपनी के चेयरमैन कपिल मोहन।

नई दिल्ली. देश-दुनिया के फेमस रम ब्रांड Old Monk के मालिक ब्रिगेडियर (रिटायर) कपिल मोहन का पिछले शनिवार निधन हो गया। खास बात यह है कि कपिल मोहन खुद कभी शराब नहीं पीते थे। उनका दुनिया के 20 देशों में उम्दा किस्म के शराब का कारोबार है।

- भारत के पहले शराब कारोबारी एनएन मोहन परिवार के बेटे कपिल मोहन ने इतने बड़े औद्योगिक घराने में जन्म लेने के बाद भी आर्मी को चुना।

- वह भारतीय सेना के प्रतिष्ठित ब्रिगेडियर के पद से रिटायर हुए। उनकी सेवाओं को देखते हुए भारतीय सेना ने उन्हें विशिष्ठ सेवा मेडल भी प्रदान किया था।

- वे बाद में 'ब्रुअरी मोहन लिमिटेड' के चेयरमैन कम एमडी थे। उन्हें 2010 में पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

पिता करते थे खाली बोतलों की सप्लाई

- ब्रिगेडियर कपिल मोहन के पिता एनएन मोहन सोलन ब्रुअरी में खाली बोतलों की सप्लाई किया करते थे।
- 1947 में जब भारत आजाद हुआ और अंग्रेजों ने भारत छोड़ा तो डायर मीकिन से ब्रुअरी का स्वामित्व एनएन मोहन को मिला और वह देश के पहले लिकर कारोबारी बने।


लंदन के क्लाइमेट की तर्ज पर सोलन को ब्रुअरी के लिए चुना
- दरअसल, डायर मीकिन ब्रुअरी की स्थापना हिमाचल प्रदेश के सोलन में 1855 में की गई। ये एशिया की पहली ब्रुअरी कंपनी थी।

- लंदन के क्लाइमेट की तर्ज पर उन्होंने सोलन को ब्रुअरी के लिए चुना। यहां के करोल पर्वत से निकलने वाले पानी से बेहतरीन लिकर बनती थी। इसलिए अंग्रेजों ने इस स्थान को लिकर बनाने के लिए मुफीद पाया।
- आज भी लंदन, इटली, कीनिया समेत 20 देशों में हिमाचल के सोलन में बनी रम, व्हिस्की, बीयर विदेशियों की पसंद है।

सोलन एमसी के रहे चेयरमैन

- कपिल मोहन सोलन म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के चेयरमैन भी रहे। सोलन शहर के विकास का खाका भी उन्होंने तैयार किया।
- जब वह एमसी सोलन के चेयरमैन थे तब वह शहर में समय- समय सफाई अभियान भी चलाया करते थे।
- सोलन निवासी डॉ. कैलाश पराशर ने बताया कि ब्रिगेडियर कपिल मोहन सोलन को टूरिस्ट डेस्टीनेशन के रूप में उभारना चाहते थे।

तत्कालीन पीएम वाजपेयी ने किया था पार्क का शिलान्यास
- सोलन से करीब 15 किमी. दूर हरठ में मोहन शक्ति हेरिटेज पार्क कपिल मोहन की सोच का नतीजा है। इस पार्क का शिलान्यास तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था।
- देश के कोने-कोने से लोग भारतीय संस्कृति और विरासत की पहचानों को देखने के लिए आते हैं।
- हैरिटेज पार्क देश में अपनी अद्भुत निर्माण शैली और पत्थरों में उकेरी गई देव प्रतिमाओं के लिए विख्यात है। मंदिर के विशाल प्रवेश द्वार के ऊपर बना सूर्य का 8 घोड़ों वाला रथ विशेष आकर्षक का केंद्र है।
- यहां सारे हिंदू देवी-देवताओं, ऋषियों, मुनियों, अपसराओं, किन्नर, गंर्धवों के दर्शन एक छत के नीचे किए जा सकते हैं।

इन चीजों के लिए याद रहेंगे

- सोलन नप के पूर्व अध्यक्ष कुल राकेश पंत ने बताया कि वह कभी शराब नहीं पीते थे। धार्मिक अनुष्ठान और जागरण में उनकी रुचि थी।

- ठोडो मैदान में होने वाले जागरण पुराने लोग आज भी याद करते हैं। वह स्वयं पूरी-पूरी रात भजन गाया करते थे।
- खेलों को प्रमोट करने में रुचि थी। ठोडो मैदान में हर वर्ष वह मोहन मीकिन फुटबॉल प्रतियोगिता करवाते थे। जिसमें देश के स्टार फुटबॉलरों खेलते थे ।
- गीता आश्रम समिति के प्रधान हेमराज गोयल और समिति के अन्य सदस्यों ने बताया कि ब्रिगेडियर गीता आदर्श विद्यालय के मुख्य सरंक्षक ब्रिगेडियर डॉ. कपिल मोहन थे। वह गीता आश्रम समिति विद्यालय के निर्माण को आर्थिकी योगदान देते रहते थे।

कपिल मोहन कपिल मोहन ब्रुअरी मोहन लिमिटेड के चेयरमैन थे। कपिल मोहन कपिल मोहन ब्रुअरी मोहन लिमिटेड के चेयरमैन थे।
कपिल मोहन के निधन पर मॉडल पूनम पांडेय ने ट्वीट किया। कपिल मोहन के निधन पर मॉडल पूनम पांडेय ने ट्वीट किया।
अखबार में रिटायर ब्रिगेडियर के निधन पर शोक संदेश छपा। अखबार में रिटायर ब्रिगेडियर के निधन पर शोक संदेश छपा।
एक्टर अनुपम खेर ने Old Monk रम को लेकर अपना अनुभव शेयर किया। एक्टर अनुपम खेर ने Old Monk रम को लेकर अपना अनुभव शेयर किया।