--Advertisement--

राज्यसभा जा सकते हैं संजय सिंह और मीरा सान्याल, विश्वास पर विश्वास नहीं

अगले महीने होने वाले राज्यसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की तरफ से फिलहाल सबसे आगे पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह हैं।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 04:36 AM IST

नई दिल्ली. अगले महीने होने वाले राज्यसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की तरफ से फिलहाल सबसे आगे पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह हैं। इनके अलावा खुद केजरीवाल और आर्थिक विशेषज्ञ एवं पार्टी की महिला चेहरा के तौर पर मीरा सान्याल पर चर्चा हो रही है। मुस्लिम चेहरा के तौर पर इमरान प्रतापगढ़ी और पूंजीपति के तौर पर एक वाहन ग्रुप के मालिक पर भी मंथन हो रही है। साथ ही भाजपा के बागी नेता और वरिष्ठ पत्रकार अरुण शौरी के बारे में भी चर्चा जारी है। एक महीने से चल रही उठापटक के चलते कुमार विश्वास का राज्यसभा जाना मुश्किल लग रहा है। खुद नामंकन कर सकते हैं केजरीवाल...

- जानकारों का मानना है कि केजरीवाल खुद राज्यसभा जा सकते हैं। वैसे भी केजरीवाल आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक सत्ता में आने से पहले से हैं, मुख्यमंत्री बनने के बाद ढाई साल तक वह बगैर किसी पोर्टफोलियो के थे, तीन महीने पहले उन्होंने जल बोर्ड का जिम्मा खुद संभाला।

- केजरीवाल की महत्वाकांक्षा को देखते हुए माना जा रहा है कि राज्यसभा के लिए वह खुद नामांकन कर सकते हैं। हालांकि 49 दिनों की सरकार जाने के बाद केजरीवाल ने दिल्लीवालों से कई बार अपील की थी कि सत्ता में आने पर वह इस्तीफा नहीं देंगे। केजरीवाल के बाद पार्टी में सबसे बड़े दावेदार संजय सिंह की है।

भाजपा के बागी नेता और वरिष्ठ पत्रकार अरुण शौरी के नाम पर भी चर्चा

पीएसी में अलग-थलग हैं विश्वास

- पार्टी सूत्रों का कहना है कि उम्मीदवारों की इस सूची में वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास शामिल नहीं होंगे। इसका कारण पार्टी में एक महीने से चल रहे घमासान को बताया जा रहा है। हालांकि इसका अंतिम फैसला पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी (पीएसी) की बैठक में लिया जाएगा।

- पार्टी की पीएसी में फिलहाल नौ सदस्य हैं और दो एक्स ऑफिसयों मेंबर हैं। इनमें अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, कुमार विश्वास, संजय सिंह, आशुतोष, आतिशि मारलेना, साधु सिंह, गोपाल राय, दुर्गेश पाठक पीएसी में हैं, जबकि पंकज गुप्ता और दीपक बाजपेयी एक्स ऑफिसयों हैं। विश्वास को छोड़कर सभी केजरीवाल के बेहद करीबी हैं। केजरीवाल जिसे चाहेंगे, उसे राज्यसभा उम्मीदवार के तौर पर मनोनीत किया जाएगा।

सिंह के नाम पर सहमति बन सकती है

- जब भी पार्टी किसी विवाद में फंसती नजर आती है तो सिंह तारणहार के तौर पर नजर आते हैं। सिंह के नाम पर पार्टी में आम सहमति बन सकती है।

राजस्थान से चुनाव लड़ने का दबाव डाला जा रहा
- राजस्थान का प्रभार संभालते ही विश्वास ने कहा था कि प्रदेश में सभी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी वहीं के स्थानीय युवाओं को दी जाएगी, बावजूद इसके उन्हें रिक्त हुई अजमेर लोकसभा से उपचुनाव लड़ने का दबाव डाला जा रहा है, जिसे खुद राजस्थान की स्टेट इकाई ने मंगलवार को खंडन कर दिया है। इससे पहले पार्टी ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन से इस बाबत संपर्क करने की कोशिश की थी, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया था।

दिल्ली की 70 विधायकों में से 66 आम आदमी पार्टी के

- अगले महीने कांग्रेस के तीन सांसदों का कार्यकाल खत्म हो रहा है। दिल्ली की 70 विधायकों में से 66 आम आदमी पार्टी के हैं। शेष चार विधायक भाजपा के हैं। हालांकि आम आदमी पार्टी के कुछ विधायक नाराज भी हैं, लेकिन पार्टी द्वारा व्हिप जारी करने पर नाराज विधायकों को भी पार्टी के पक्ष में वोट देना होगा। माना जा रहा है कि तीनों सीटों पर आप उम्मीदवारों की जीत होगी।

16 जनवरी को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान
- 29 दिसंबर को अधिसूचना जारी होगी। नामांकन की अंतिम तिथि 5 जनवरी है। इसके बाद 6 जनवरी को पत्रों की जांच होगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 8 जनवरी और 16 जनवरी को सुबह 9 बजे से सायं 4 बजे तक मतदान होगा और शाम 5 बजे वोटों की गिनती होगी।

कांग्रेस के तीन सांसदों का कार्यकाल हो रहा खत्म
- दिल्ली की तीन सीटों पर कांग्रेस नेता करण सिंह, जनार्दन द्विवेदी और परवेज हाशमी राज्यसभा सांसद हैं। इनका कार्यकाल 27 जनवरी 2018 को समाप्त हो रहा है। वहीं 29 दिसंबर को राज्यसभा चुनाव की अधिसूचना जारी हो रही है।