Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» SBI ICICI Bank Hike Lending Rates

एसबीआई, आईसीआईसीआई और पीएनबी के कर्ज 0.25% तक महंगे

20 लाख के होम लोन की ईएमआई 253 रु. बढ़ेगी, नई दरें 1 मार्च से लागू, बेस रेट के तहत कर्ज लेने वालों पर असर नहीं

Bhaskar News | Last Modified - Mar 02, 2018, 02:02 AM IST

  • एसबीआई, आईसीआईसीआई और पीएनबी के कर्ज 0.25% तक महंगे
    +1और स्लाइड देखें
    20 लाख के होम लोन की ईएमआई 253 रु. बढ़ेगी। - फाइल

    नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक और पीएनबी ने कर्ज महंगा कर दिया है। एसबीआई ने एक साल की अवधि के लिए मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) 0.20% और तीन साल के लिए 0.25% बढ़ाया है। इससे 20 लाख रुपए के होम लोन की ईएमआई 253 रुपए बढ़ जाएगी। पीएनबी ने एमसीएलआर में 0.15% की बढ़ोतरी की है। नई दरें 1 मार्च से लागू हो गई हैं। यानी जो लोग इस तारीख से कर्ज लेंगे उन्हें ज्यादा ब्याज देना पड़ेगा। बेस रेट की पुरानी व्यवस्था के तहत कर्ज लेने वालों पर इसका कोई असर नहीं होगा।


    - एमसीएलआर की व्यवस्था अप्रैल 2016 में शुरू हुई थी। इसमें तय समय पूरा होने के बाद रेट रिवाइज किया जाता है। ज्यादातर कर्ज एक साल के एमसीएलआर पर लिए जाते हैं। इसलिए 1 मार्च से जिनके कर्ज का साल पूरा होगा, उन्हें भी ज्यादा ब्याज चुकाना पड़ेगा।

    - बुधवार को एसबीआई ने रिटेल और बड़ी जमा पर ब्याज 0.75% तक बढ़ाया था। दो साल से 10 साल तक के लिए एक करोड़ रुपए से कम की एफडी पर ब्याज 6% से बढ़ाकर 6.5% किया गया है।

    - एक करोड़ से ज्यादा के बल्क डिपॉजिट पर दो से तीन साल की अवधि की एफडी के लिए ब्याज दर 6 फीसदी से बढ़ाकर 6.75% की गई है। इससे पहले जनवरी से अब तक एक्सिस, कोटक महिंद्रा, यस और एचडीएफसी बैंक जमा पर ब्याज 5-10 प्रतिशत तक बढ़ा चुके हैं।

    वजह- कोस्ट ऑफ फंड बढ़ने के चलते बढ़ानी पड़ी ब्याज दरें

    - बैंकों की ब्याज दरें सीधी कोस्ट ऑफ फंड से जुड़ी हैं। बैंक फंड के दो स्रोत हैं। एक डिपॉजिट और दूसरा मनी मार्केट। नोटबंदी के बाद बैंकों के पास बड़ी मात्रा में फंड डिपॉजिट हुआ था, लेकिन अब वैसी स्थिति नहीं रही।

    - डिपॉजिट बढ़ाने कुछ बैंकों ने ब्याज दरें भी बढ़ाई थीं। वहीं, मनी मार्केट से सरकार, इंडस्ट्री व बैंक पैसा उठाते हैं। फिलहाल इंडस्ट्री मनी मार्केट की बजाय बैंकों से पैसे ले रहे हैं।

    - डिमांड बढ़ने पर बैंक मनी मार्केट से पैसा उठाते हैं। डिमांड बढ़ने पर मनी मार्केट में ब्याज बढ़ा। ऐसे में वहां भी फंड की लागत बढ़ गई। इस बढ़ी हुई लागत को मैच करने के लिए बैंकों को ब्याज दरें बढ़ानी पड़ी हैं।

    - आईसीआईसीआई ने एक साल के कर्ज पर ब्याज 0.10% बढ़ाया है। अब 50 लाख के होमलोन की ईएमआई 43,867 से बढ़कर 44,185 हो जाएगी।

    - पंजाब नेशनल बैंक ने कर्ज 0.15% महंगा किया है। इसके 50 लाख के होमलोन की ईएमआई 43,550 से बढ़कर 44,026 हो जाएगी।

    50 लाख के होम लोन की ईएमआई 631 बढ़ेगी
    लोन राशिपुरानी ईएमआईनई ईएमआईबढ़त
    20 लाख17,16717,420253
    30 लाख25,75026,130380
    50 लाख42,91843,549631
    (सभी आंकड़े रुपए में, पुरानी ईएमआई 8.35% और नई 8.55% ब्याज पर 20 साल के लिए)
  • एसबीआई, आईसीआईसीआई और पीएनबी के कर्ज 0.25% तक महंगे
    +1और स्लाइड देखें
    नई दरें 1 मार्च से लागू, बेस रेट के तहत कर्ज लेने वालों पर असर नहीं। - फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: SBI ICICI Bank Hike Lending Rates
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×