--Advertisement--

शहीद सिपाही की पत्नी बनेंगी सेना अफसर, स्कूल से शुरू हुई दोस्ती के बाद की थी शादी

लेफ्टिनेंट बनने वाली फैमिली की पहली मेंबर हैं संगीता, ओटीए चेन्नई (एस एस सी डब्लू-21) लिए हुआ।

Danik Bhaskar | Feb 14, 2018, 12:19 AM IST
पति के शहीद होने के बाद मेडल लेतीं संगीता। पति के शहीद होने के बाद मेडल लेतीं संगीता।

देहरादून. बारामुला में अपने देस की रक्षा में जान देने वाले शहीद शिशिर मल्ल की पत्नी भी अब सेना में शामिल होने जा रही हैं। बता दें कि उनकी पत्नी का नाम संगीता मल्ल है और वे OTA चेन्नई (SSCW-21) कोर्स में सिलेकट हुई हैं। वे अपनी फैमिली में पहली पर्सन होंगी जो लेफ्टिनेंट पोस्ट के लिए सिलेक्ट हुई हैं। उन्होंने शॉर्ट सर्विस कमीशन (SSC) का एग्जाम क्लियर कर ये मुकाम पाया है। अब वे मार्च एंड में चेन्नई में ट्रेनिंग के लिए जाएंगी। कौन हैं शिशिर मल्ल...

- शादी के कुछ समय बाद शिशिर की पोस्टिंग जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा (बारामूला के पास) में हो गई।
- 2 सितंबर 2015 को बारामूला सेक्टर में ऑपरेशन रक्षक के दौरान शिशिर मल्ल शहीद हुए थे।
- वे 3/9 (राष्ट्रीय राइफल्स) में थे और लगभग डेढ़ साल से 32 RR में पोस्टेड थे।
- जानकारी के मुताबिक संगीता के ससुराल में सेना के अफसर का 2015 में शिशिर को गोली लगने की सूचना दी गई थी और उनके जम्मू पहुंचने के पहले ही वे शहीद हो गए थे।

ऐसी थी दोनों की लव स्टोरी
- संगीता और शिशिर दोनों एक ही स्कूल में साथ पढ़ते थे वे दोनों स्कूल समय से ही एक दूसरे को पसंद करने लगे थे।
- दोनों की बॉन्डिंग अच्छी थी इस कारण दोनों में अच्छी बनती थी। फिर दोनों की कॉलेजिंग भी एक साथ ही हुई।
- कॉलेज के बाद दोनों ने अपने-अपने करियर पर ध्यान दिया लेकिन फिर भी साथ रहे।
- कुछ समय बाद संगीता टीचर बन गईं और शिशिर सेना में भर्ती हो गए। आखिरकार 2013 में दोनों ने शादी कर ली।
- सब कुछ उनकी लाइफ में ठीक ही चल रहा था लेकिन 2015 में ससुर और पति की मौत के बाद सब बदल गया।

पति और ससुर दोनों की एक साल में हो गई थी डेथ
- संगीता के मुताबिक उनके ससुर जो कि उन्हें बेटी की तरह मानते थे उनकी भी मौत 2015 में ही हो गई थी और कुछ दिन बाद उनके पति की मौत हो गई थी।
- संगीता के ससुर भी सेना में अफसर थे बीमारी के कारण उनकी मौत हुई थी।
- फिर कुछ समय बाद 2015 में ही उनके पति की भी डेथ हो गई थी।

इस कारण सेना में जाने का लिया फैसला

- जानकारी के मुताबिक संगीता के पिता भी आर्मी में थे। पति के शहीद होने के बाद जब वे पति का मेडल लेने रानीखेत गई थीं तो सेना के ऑफीसर्स ने सेना में आने के लिए कहा था।
- जिसके बाद उन्होंने मन बनाया और सफलता हासिल की।

शादी के दौरान शिशिर मल्ल और संगीता। शादी के दौरान शिशिर मल्ल और संगीता।
संगीता मल्ल संगीता मल्ल
फैमिली के साथ संगीता मल्ल। फैमिली के साथ संगीता मल्ल।
संगीता का चयन ओटीए चेन्नई (एस एस सी डब्लू-21) लिए हुआ संगीता का चयन ओटीए चेन्नई (एस एस सी डब्लू-21) लिए हुआ
शिशिर मल्ल और संगीता मल्ल शिशिर मल्ल और संगीता मल्ल
शिशिर के मेडल्स शिशिर के मेडल्स