--Advertisement--

पेपर लीक मामला: देर रात सीबीएसई हैडक्वार्टर पर SIT का छापा, 3 हिरासत में

दिल्ली पुलिस की बड़ी कार्रवाई, सूत्रों का दावा- जल्द होगा खुलासा

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 05:36 AM IST
SIT raids on CBSE headquarters over paper leak case

नई दिल्ली. सीबीएसई के पेपर लीक होेने की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की एसआईटी ने शनिवार रात बड़ी कार्रवाई की। रात करीब 9.30 बजे सीबीएसई मुख्यालय पर छापा मारा। मुख्यालय के सभी 11 फ्लोर में देर रात तक गहन छानबीन जारी थी। इससे पहले, एसआईटी ने शनिवार दिनभर एक प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल और सीबीएसई के एक कर्मचारी सहित तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। उनके खुलासों के आधार पर देर रात छापेमारी की गई। एसआईटी के दो डीसीपी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल छानबीन में जुटा था।


- जांच में पता चले तथ्यों के आधार पर सीबीएसई के कर्मचारियों को देर रात मुख्यालय में ही बुलाकर पूछताछ की गई। छापे की सही-सही कार्रवाई का ब्योरा देर रात तक पता नहीं चला था। हालांकि, सूत्रों का दावा है कि पेपर सेट करने से लेकर उसे सेंटरों तक भेजने की प्रक्रिया से जुड़े दस्तावेज जब्त किए जा रहे हैं।

- सूत्रों का दावा है कि पेपर लीक की कई अहम कड़ियां पुलिस जोड़ चुकी है। जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा संभव है। दूसरी तरफ, पेपर लीक कांड में झारखंड पुलिस ने चतरा में 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक कोचिंग संस्थान के दो संचालक, एक शिक्षक और नौ छात्र हैं। चतरा में यह पेपर वाट्सएप के जरिये पटना से पहुंचा था। गिरफ्तार किया गया एक कोचिंग संचालक एबीवीपी का जिला संयोजक भी है।

लगातार तीसरे दिन स्टूडेंट्स का विरोध प्रदर्शन जारी
- पेपर लीक के विरोध में शनिवार को लगातार तीसरे दिन छात्रों ने सीबीएसई मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान करीब 25-30 छात्रों ने सीबीएसई दफ्तर के सामने सड़क जाम करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें हटा दिया।

पंजाब से व्हिसलब्लोअर को हिरासत में लिया

- सीबीएसई चेयरपर्सन को ईमेल से पेपर लीक की सूचना देने वाले व्हिसलब्लोअर को पुलिस ने पंजाब से हिरासत में लिया है। उससे पेपर के सोर्स पर पूछताछ जारी है। उसके बारे में गूगल से जानकारी थी। शनिवार तक 53 छात्रों सहित 60 लोगों से एसआईटी पूछताछ कर चुकी थी। तीन लोगों के मोबाइल फोन भी जब्त किए गए हैं।

- एसआईटी ने वाट्सएेप को नोटिस भेजकर पूछा है कि पेपर सबसे पहले किस ग्रुप पर आया था। दिल्ली और हरियाणा के साथ यूपी के भी कई शहरों में छापे मारे जा रहे हैं।

पॉलिटिकल और हिंदी के पेपर लीक होने का भी दावा

- 2 अप्रैल को होने वाले 12वीं के हिंदी इलेक्टिव और 6 अप्रैल को होने वाले पॉलिटिकल साइंस के पेपर लीक होने की भी शनिवार को सूचना आई। हालांकि, सीबीएसई ने दोनों पेपर पिछले साल के होने का दावा किया है।

- वहीं, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अनिल स्वरूप ने कहा कि हिंदी इलेक्टिव लीक बताया जा रहा पेपर पिछले साल कंपार्टमेंट वाला है। सीबीएसई ने छात्रों से अपील की है कि वह सोशल मीडिया पर चल रही सूचनाओं पर ध्यान न दें।

दोबारा पेपर लेने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती
- पेपर लीक का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। 12वीं इकोनॉमिक्स का पेपर देशभर में और 10वीं का गणित का पेपर कुछ जगहों पर दोबारा करवाने को चुनौती देते हुए 3 याचिकाएं दायर की गई हैं। इनमें सीबीएसई के फैसले को मनमाना और असंवैधानिक बताते हुए इस पर रोक की मांग की गई है। साथ ही पहले ली परीक्षा के आधार पर रिजल्ट तैयार करवाने और जांच सीबीआई को सौंपने की भी मांग की गई है। एक याचिकाकर्ता ने हर छात्र को एक-एक लाख मुआवजे की भी मांग की है। इन पर अगले हफ्ते सुनवाई हो सकती है।

SIT raids on CBSE headquarters over paper leak case
X
SIT raids on CBSE headquarters over paper leak case
SIT raids on CBSE headquarters over paper leak case
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..