--Advertisement--

प्रदर्शन के आगे झुका SSC, सीबीआई को सौंपी जाएगी पेपर लीक केस की जांच

सीबीआई से जांच करवाने के लिए दिल्ली में छह दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं परीक्षार्थी

Danik Bhaskar | Mar 05, 2018, 01:42 AM IST

नई दिल्ली. पेपर लीक के विरोध में लगातार छह दिन से जारी परीक्षार्थियों के प्रदर्शन के आगे स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एसएससी) को झुकना पड़ा है। आयोग ने पेपर लीक होने की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है। इसके लिए कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग को सिफारिश भेजी जाएगी।

- आयोग के चेयरमैन असीम खुराना ने बताया कि प्रदर्शनकारी परीक्षार्थियों का एक दल सांसद मनोज तिवारी के साथ उनसे मिलने पहुंचा था। उनकी मांग के अनुसार कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल एग्जाम (टियर-2) का पेपर लीक होने के मामले में 17 से 22 फरवरी के बीच हुई परीक्षा की जांच सीबीआई से करवाने के लिए केंद्र सरकार को फाइल भेजेंगे। सर्विस प्रोवाइडर की भी जांच की जाएगी। छात्रों की ओर से मिले सबूतों को भी संज्ञान में लिया गया है। उल्लेखनीय है कि तिवारी ने परीक्षार्थियों को साथ लेकर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की थी।

अन्ना भी पहुंचे एसएससी परीक्षार्थियों के विरोध प्रदर्शन में

- एसएससी परीक्षा में धांधली के खिलाफ परीक्षार्थियों के प्रदर्शन में रविवार को अन्ना हजारे भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि सरकार परीक्षार्थियों की आपत्तियां सुनकर कार्रवाई करे। साथ ही उन्होंने कहा कि अन्याय और अत्याचार के विरोध में अहिंसा का रास्ता अपनाना बेहद जरूरी है।

परीक्षार्थी अभी नहीं माने, प्रदर्शन जारी
सीबीआई जांच के पत्र से परीक्षार्थी अभी संतुष्ट नहीं हैं। उनका प्रदर्शन देर शाम तक जारी था। अभी परीक्षार्थी इन मांगों पर अड़े हुए हैं:
- 21 फरवरी को हुई परीक्षा फिर से 9 मार्च को होने वाली है। एसएससी साफ करे कि जांच के बीच यह परीक्षा कैसे ली जा रही है।
- जिस वेंडर ने परीक्षा संचालित करवाई थी, उसे बदला जाए।
- परीक्षार्थियों को शामिल करते हुए एसएससी एक प्रशासनिक सुधार समिति को भी मंजूरी दे।
- शिकायत निवारण सिस्टम सुधारा जाए।
- जहां परीक्षा ली जाती है, उन प्राइवेट लैब्स का भी ऑडिट किया जाए।

पटना: पटरियों पर लेटकर ट्रेनें रोकीं, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर पथराव

एसएससी परीक्षा में धांधली के खिलाफ प्रदर्शन का असर रविवार को पटना में भी दिखा। राजेंद्र नगर टर्मिनल पर जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ट्रेनों का परिचालन ठप कर दिया। मधेपुरा से सांसद राजीव रंजन उर्फ पप्पू यादव की अगुवाई में सैकड़ों कार्यकर्ता रेल पटरियों पर लेट गए। नई दिल्ली से राजगीर जा रही श्रमजीवी एक्सप्रेस पर पथराव भी किया गया। समस्तीपुर सहित कई अन्य जिलों में परीक्षार्थियों के प्रदर्शन से रेल यात्रियों को काफी मुश्किलें झेलनी पड़ीं।