--Advertisement--

खाना खाने के लिए बुलाया तो स्टेट लेवल महिला शूटर ने मां और भाई को मारी गोली

साउथ दिल्ली के पॉश इलाके डिफेंस कॉलोनी में स्टेट लेवल महिला शूटर ने गुरुवार रात बुजुर्ग मां और भाई को गोली मार दी।

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 05:29 AM IST

नई दिल्ली. साउथ दिल्ली के पॉश इलाके डिफेंस कॉलोनी में स्टेट लेवल महिला शूटर ने गुरुवार रात बुजुर्ग मां और भाई को गोली मार दी। पिता पर भी फायरिंग की कोशिश की, लेकिन पिता और घायल भाई ने पकड़ लिया। महिला नश में थी। उसे और घायलों को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। वह लंबे समय में डिप्रेशन में थी, जिसका इलाज चल रहा है। उसकी लाइसेंसी पिस्टल जब्त कर उस पर हत्या की कोशिश का केस दर्ज किया गया है। पुलिस अब इसका लाइसेंस रद्द करवाएगी। क्या है पूरा मामला....


डिफेंस कॉलोनी सी ब्लॉक के कोठी नंबर 123 की दूसरी मंजिल पर बुजुर्ग सरन सिंह (81) परिवार के साथ रहते हैं।

वह इंडियन फॉरेस्ट सर्विस (आईएफएस) से रिटायर्ड हैं। उनके साथ पत्नी गीता सिंह (76), बेटा हरसरन सिंह (48) और बेटी संगीता सिंह (47) रहते हैं। गुरुवार रात संगीता अपने कमरे में शराब पी रही थी।

उसके भाई और पिता ने खाने के लिए उसे बुलाया, लेकिन वह बाहर नहीं निकली। इस पर भाई ने उसके कमरे का जोर से खटखटाया। इसके बाद वह गुस्से में दरवाजा खोलकर पिस्टल लेकर बाहर निकली और भाई को भला-बुरा कहने लगी।

जवाब में भाई ने कुछ बोला तो महिला ने गोली चला दी। गोली हरसरन की दाएं जांघ में लगी। बचाव करने पर उसने बुजुर्ग मां को भी दो गोली मार दी। एक छाती में तो दूसरी उनके पेट में लगी।

उसने पिता पर भी गोली चलाने की कोशिश की, लेकिन इससे पहले ही पिता और घायल भाई ने उसे काबू में कर लिया। इस घटना के बाद देर रात 12.43 बजे हरसरन ने 100 नंबर पर पुलिस को इसकी सूचना दी।

पुलिस के साथ भी की बदसलूकी

- साउथ डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि पुलिस जब सरन सिंह के घर पहुंची तो आरोपी महिला नशे की हालत में थी। उसने पुलिस के साथ भी बदसलूकी की।

- जांच में पता चला कि महिला ने शराब पीने के साथ डिप्रेशन और नींद की गोलियां खाईं थीं। साथ ही बताया कि महिलाा अभी होश में नहीं है। अनौपचारिक तौर पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। डॉक्टर द्वारा उसे फीट घोषित करने के बाद ही उससे पूछताछ की जाएगी।

- उन्होंने बताया कि महिला के भाई की भी शादी नहीं हुई है। वह एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता है। डीसीपी ने इस घटना के पीछे प्रॉपर्टी विवाद की बात को खारिज कर दिया।

परिवार के सदस्यों से कट गई थी महिला शूटर
महिला एक साल से परिवार से पूरी तरह कट गई थी। घर से बाहर बहुत कम निकलती थी। पूरे दिन कमरे में बंद रहती है। उसकी शादी भी नहीं हुई है। इस कारण उसका स्वभाव चिड़चिड़ा हो गया था।

एक साल से नहीं कर रही थी शूटिंग
- संगीता अपने भाई, पिता और मां से बहुत कम बात करती थी। उसने फ्रेंड सर्कल से भी दूरियां बना ली थी।

- वह नींद की गोलियां खाती थी। एक वर्ष से संगीता ने शूटिंग का अभ्यास बंद कर दिया था।