--Advertisement--

पाक ने तीसरे दिन भी दागे गोले, घरों में बिखरा खून; टूटी छतें बयां कर रहीं तबाही

सीमा पर युद्ध जैसे हालात, 45 चौकियों व 50; गांवों पर पाक ने तीसरे दिन भी दागे गोले

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2018, 01:43 AM IST
सीमा पर युद्ध जैसे हालात, 45 चौक सीमा पर युद्ध जैसे हालात, 45 चौक

जम्मू. पाकिस्तान सेना ने शनिवार को लगातार तीसरे दिन जम्मू एरिया में बॉर्डर और एलओसी के पास चौकियों और रिहायशी इलाकों पर गोले बरसाए। पांच जिलों की 45 से ज्यादा चौकियां और 50 गांव निशाने पर रहे। गोलाबारी में पंजाब के संगरूर के सेना के जवान मंदीप सिंह शहीद हुए। तीन नागरिक मारे गए। सरकार ने 5 जिलों में बॉर्डर और एलओसी के 5 किमी दायरे में आ रहे 100 से ज्यादा स्कूल बंद किए। गांवों से 15 हजार से ज्यादा लोगों का पलायन।

ग्राउंड रिपोर्ट: घरों में बिखरा खून, टूटी छतें बयां कर रहीं तबाही
- सीमा पर स्थित गांवों के घरों में फैला खून, टूटी छतें व खिड़कियां दिखाती हैं कि पाक कैसी तबाही मचा रहा है। गांवों में गनपाउडर की गंध फैली है। मोर्टार के गोलों से खेतों में गड्‌ढे बन गए हैं। कई जगह जिंदा बम भी मौजूद हैं। आरएस पुरा के झोरा फार्म में 150 से ज्यादा झोपड़ियां राख हो गईं।

- अरनिया के साई खुर्द की रत्नो देवी कहती हैं, ‘घरों पर मोर्टार बरस रहे थे। सोचा किसी भी क्षण मर जाएंगे, लेकिन पुलिस ने बचा लिया।’

5 जिलों में एलओसी और बॉर्डर के 5 किमी दायरे में आ रहे 100 से अधिक स्कूल बंद

- पागोलाबारी के बीच सीमावर्ती गांवों से 10 हजार से ज्यादा लोग पलायन कर चुके हैं। करीब एक हजार लोग आरएस पुरा, सांबा और कठुआ इलाकों के शिविरों में ठहरे हैं। बाकी लोगों ने पाकिस्तानी गोलाबारी की पहुंच से दूर अपने रिश्तेदारों के घरों में शरण ली है। बीएसएफ और सेना के जवान पाकिस्तान की करतूतों का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं।

सीमावर्ती इलाके युद्ध क्षेत्र में बदल गए हैं। पाकिस्तान रिहायशी इलाकों को निशाना बना रहा है। मकानों और जानवरों को काफी नुकसान पहुंचा है।
-सुरिंदर चौधरी, उपमंडलीय पुलिस अफसर, आरएस पुरा

X
सीमा पर युद्ध जैसे हालात, 45 चौकसीमा पर युद्ध जैसे हालात, 45 चौक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..