Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Tree Thousand Fine First Time Accident For Safe Gaurd

कार में ज्यादा सेफगार्ड तो हो सकती है 3 महीने की जेल

अगर आप भी डेंट और दुर्घटना से बचने के लिए कार में सेफगार्ड इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाइए।

एसके गुप्ता | Last Modified - Dec 18, 2017, 06:11 AM IST

कार में ज्यादा सेफगार्ड तो हो सकती है 3 महीने की जेल

नई दिल्ली.अगर आप भी डेंट और दुर्घटना से बचने के लिए कार में सेफगार्ड इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाइए। क्योंकि केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को ऐसे वाहनों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मोटर वाहन अधिनियम 1988 के तहत ऐसे वाहनों को जब्त करने के साथ ही उन पर 250 रुपए जुर्माना और तीन माह के कारावास की कार्रवाई हो सकती है।


सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की निदेशक (एमवीएल) प्रियंका भारती ने सभी राज्यों के परिवहन विभागों के प्रधान सचिव, सचिव और आयुक्तों को निर्देश भी जारी कर दिया है। उनका कहना है कि ऐसा हमारी जानकारी में आया है कि सड़कों पर बुल बार लगे वाहन दौड़ रहे हैं, जो अन्य वाहन चालकों के लिए खतरा हैं।


दरअसल, लोग कारों के आगे और पीछे बुल बार लगवा लेते हैं। ताकि टकराने पर बंपर न टूटे, डेंट न पड़े और लाइटें न टूटें। मगर यह साज-सज्जा सड़कों पर अक्सर दुर्घटना का कारण बनती है। इसलिए अविलंब ऐसे वाहनों पर एक्शन के निर्देश दिए गए हैं।

दूसरी बार दुर्घटना पर 3 साल तक की सजा
अगर वाहन पर अनवांटेड बुल बार लगे हैं, जो दुर्घटना कर रहे हैं, तो इस पर 3 हजार का जुर्माना और एक साल की सजा का प्रावधान है। अगर दोबारा वाहन पर ऐसा पाया जाता है तो चालक पर 5 हजार का जुर्माना या 3 साल की सजा या फिर दोनों का प्रावधान है।

धारा 52 के तहत नहीं कर सकते कोई बदलाव
कोई भी वाहन जैसा खरीदा जाता है, वैसा ही रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) में चढ़ता है। इसके बाद लोग वाहनों की साज-सज्जा के नाम पर कई एक्सेसरीज लगवा लेते हैं। ऐसा करना मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 52 में निषेध है। इसी अिधनियम की धारा 190 के तहत इस पर एक्शन लेने की बात कही गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×