--Advertisement--

शॉपिंग करने गई थी ये दो सिस्टर्स, बदमाश ने छीना पर्स तो दौड़ाकर की पिटाई

पुलिस के अनुसार, मूल रूप से मध्य प्रदेश के नीमच की रहने वाली त्रिशा आचार्य साफ्टवेयर इंजीनियर हैं।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 05:40 AM IST
विक्टिम की पहचान त्रिशा आचार्या (28) और आरुषि आचार्या के रुप में हुई है। विक्टिम की पहचान त्रिशा आचार्या (28) और आरुषि आचार्या के रुप में हुई है।

नई दिल्ली। पर्स छीनकर भाग रहे एक बदमाश को साफ्टवेयर इंजीनियर दो बहनों ने दौड़ाकर पकड़ लिया और जमकर पिटने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। बदमाश शापिंग करने चांदनी चौक पहुंचीं बहनों से पर्स छीनकर भाग रहा था। विक्टिम की पहचान त्रिशा आचार्या (28) और आरुषि आचार्या के रुप में हुई है। मामला उत्तरी दिल्ली के कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

क्या है पूरा मामला

- पुलिस ने पीडि़ता की शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपी सलीम बेग को गिरफ्तार कर लिया है।

- पुलिस के अनुसार, मूल रूप से मध्य प्रदेश के नीमच की रहने वाली त्रिशा आचार्य साफ्टवेयर इंजीनियर हैं।

- वह मालवीय नगर के खिड़की एक्सटेंशन एरिया में रहती हैं और बैंक आफ अमेरिका में कार्यरत हैं।

- कुछ दिन पहले ही त्रिशा की सगाई हुई है और वह अपनी शादी की तैयारियों में लगी हुई हैं।

- वह शनिवार को अपनी छोटी बहन आरुषि आचार्य के साथ चांदनी चौक में शापिंग करने पहुंची थी। आरुषि भी साफ्टवेयर इंजीनियर हैं और वह पुणे में रहती हैं।


परांठेवाली गली से गुजर रही थीं, तभी वारदात हुई

- शनिवार शाम 7.30 बजे दोनों बहनें परांठे वाली गली से गुजर रहीं थी। इस दौरान पीछे से आए एक युवक ने त्रिशा का पर्स छीन लिया।

- पर्स में जरूर कागजात, मोबाइल और रुपए थे। हिम्मत दिखाते हुए दोनों बहनों ने बदमाश को दौड़ा लिया और 200 मीटर तक पीछा करने के बाद उसे पकड़ लिया।

- इसके बाद उन्होंने बदमाश की जमकर पिटाई की और लोगों की मदद से उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

त्रिशा और आरूषी दोनो साफ्टवेयर इंजीनियर है। त्रिशा और आरूषी दोनो साफ्टवेयर इंजीनियर है।
त्रिशा आचार्या त्रिशा आचार्या