Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Virendra Dev Dixit Ashram Girls Denied To Gyno Test

उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज

डीसीडब्ल्यू की टीम शुक्रवार देर शाम उत्तम नगर के स्पिरिचुअल यूनिवर्सिटी पर कार्रवाई करने पहुंची।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 23, 2017, 05:29 AM IST

  • उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    200 गज के मकान की ऊपरी मंजिल में गुप्त रूप से लड़कियों को रखा जाता था।

    नई दिल्ली.विजय विहार के बाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद डीसीडब्ल्यू की टीम शुक्रवार देर शाम उत्तम नगर के स्पिरिचुअल यूनिवर्सिटी पर कार्रवाई करने पहुंची। डीसीडब्ल्यू की टीम के साथ सीडब्ल्यूसी और दिल्ली पुलिस की टीम भी मौजूद रही। 200 गज के मकान में 21 महिलाएं मौजूद थीं। इसमें 5 नाबालिग भी शामिल थीं। रेड मारने आई टीम को आश्रम में मौजूद महिलाओं से बात करने पर पता चला कि ज्यादातर महिलाओं की तबियत खराब है और उनका अलग-अलग हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। शनिवार को एक बार फिर सीडब्ल्यूसी की टीम उत्तमनगर जाएगी और वहां मौजूद नाबालिग लड़कियों को रेस्क्यू कराया जाएगा।

    सात साल से मकान मालिक नहीं गया ऊपर
    - वीरेंद्र देव दीक्षित का यह आश्रम गुरुमूर्ति नारायण का है। इसमें ग्राउंड और पहली मंजिल पर गुरुमूर्ति नारायण, उनका सत्यनारायण और उनकी पत्नी रहती थीं।

    - गुरुमूर्ति नारायण का पूरा परिवार वीरेंद्र देव की भक्त थी। इसी मकान के दो फ्लोर गुरुमूर्ति नारायण ने आश्रम को दान दे रखे थे। इसमें 21 महिलाएं रहती थीं।

    - 2010 में इस आश्रम को दान दिया गया था, जिसके बाद से वह कभी ऊपर नहीं गए क्योंकि वीरेंद्र देव का कहना था कि ऊपर रह रही महिलाओं पर किसी की भी छाया पड़ जाएगी, तो वे अपवित्र हो जाएंगी।


    पांच घंटे चली कार्रवाई
    - 7 बजे पहुंची महिला आयोग की टीम करीब पांच घंटे बाद 11.45 बजे आश्रम से बाहर आई। बाहर आकर दिल्ली वुमन कमीशन की प्रेसिडेंट स्वाति मालीवाल ने बताया कि विजय विहार की तरह यहां भी महिलाओं को बंद करके रखा गया था। यह आश्रम पूरी तरह से बंद करके रखा गया था। किसी को भी ऊपर जाने की अनुमति नहीं दी जाती थी।

    बाबा की बर्बरता की दो कहानियां, जो एफआईआर में दर्ज हैं

    केस - 1:उड़ीसा और आंधप्रदेश से गरीब लड़कियों को लाते थे, उनके नाम से खुलवाता था ज्वाइंट अकाउंट

    - 19 जनवरी 2017 को थाना विजय विहार में महाराजगंज (यूपी) की महिला ने कंप्लेन दर्ज कराई कि वीरेंद्र देव दीक्षित और उनके साथियों ने मेरी चार बेटियों को बंधक बनाकर रखा हुआ है।

    - शिकायतकर्ता के अनुसार 18 सितंबर 2010, 25 सितंबर 2010 व 5 दिसंबर 2010 को बाबा उसे और बेटियों को आश्रम लेकर गया।

    - अप्रैल 2015 में आश्रम की सीनियर बहन ने बाबा के साथ संबंध बनाने के लिए फोर्स किया।

    - इसके बाद बाबा ने समय-समय पर संबंध बनाए। मना करने पर धमकी दी कि बताने पर जान से मरवा दूंगा और बेटियों को जीबी रोड कोठे पर भिजवा दूंगा।

    केस -2 : कमरे में बुलाकर रेप किया, फिर विरोध करने पर परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी

    - 12 नवंबर 2017 को शकूरपुर के एक व्यक्ति ने विजय विहार थाने में कंप्लेन दी कि उसकी बेटी 1999 में विजय विहार में बने वीरेंद्र देव दीक्षित के स्पिरिचुअल यूनिवर्सिटी से जुड़ी।

    - दीक्षित ने उसे बताया था कि आश्रम में आध्यात्म का ज्ञान दिया जाता है और परम परमेश्वर की प्राप्ति होती है। इसके बाद वह लगातार आश्रम जाने लगी।

    - जून 2000 में एक रात बाबा ने एकांत कमरे में बुलाकर जबरन उसके साथ रेप किया। विरोध करने पर धमकी दी कि छोटी बहन व माता-पिता को मरवा दूंगा, तुम्हें जीने लायक नहीं छोडूंगा, मेरी बहुत ऊंची पहुंच है। इस कारण किसी को नहीं बताया।

    परिवारवालों के खिलाफ भी हलफनामा साइन कराया

    - हाईकोर्ट में मामले के पिटिशनर एनजीओ के वकील शलभ गुप्ता ने कोर्ट को बताया कि लड़कियों से उनके ही परिवारवालों के खिलाफ जबरन हलफनामे लिए गए।

    - इस पर कोर्ट ने कहा कि 200 से अधिक लड़कियों को जानवरों की तरह बंधक बनाकर रखा गया यह किस तरह का स्पिरिचुअल और यहां किस तरह की शिक्षा दी जा रही है।

    - कोर्ट ने कहा कि 1 या 2 मामलों में तो ऐसा हो सकता है कि लड़कियां अपने फैमिली के खिलाफ कंप्लेन करें लेकिन बड़ी संख्या में लड़कियां ऐसा करें यह संभव नहीं।

    उधर, विजय विहार के आश्रम पर राजस्थान, झुनझुनू के विजयपाल पहुंचे और अपनी 23 साल की बेटी का अंदर आश्रम में होने का दावा किया।

    विजय विहार पहुंची 8 डॉक्टरों की टीम
    - रोहिणी, विजय विहार स्थित बाबा के आश्रम में दोपहर करीब दो बजे 6 महिला व 2 पुरूष समेत डॉक्टरों की एक टीम आश्रम में अंदर गई। लेकिन किसी लड़की ने टेस्ट नहीं करवाया।

    - देर शाम तक किसी लड़की को वहां से शिफ्ट भी नहीं किया गया। शनिवार सुबह राजस्थान पुलिस की टीम आज्ञम में दिल्ली वुमन कमीशन की मेंबर्स के साथ अंदर जाएगी।

    - विजय विहार आश्रम को देखने के लिए दिन-भर लोगों की जबरदस्त भीड़ वहां जुटी रही। कई संगठनों ने वहां नारेबाजी और हंगामा किया।

    - पुलिस को भीड़ काबू करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस किसी को उसके समीप नहीं जाने दे रही है।

    - उधर, राजस्थान पुलिस टीम भी जांच के लिए पहुंची लेकिन उसे आश्रम के अंदर घुसने नहीं दिया गया।

    रोहिणी आश्रम से छुड़ाई गई 41 लड़कियों ने गाइनी जांच से मना कर दिया

    - रोहिणी के आश्रम से रिहा करवाई गई लड़कियों ने शुक्रवार को गाइनी टेस्ट करवाने से इनकार कर दिया।

    - शुक्रवार को डीजीएचएस के डॉक्टरों की टीम अलीपुर के मिंडा बाल कल्याण गृह बच्चियों की जांच के लिए पहुंची थी।

    - चाइल्ड वेलफेयर होम के अधिकारियों और कर्मचारियों ने बहुत कोशिश की लेकिन लड़कियां नहीं मानी।

    - गुरुवार को दो सदस्यीय डॉक्टरों की टीम ने आश्रम से रिहा की गई 41 माइनर लड़कियों की जांच की थी। लेकिन पुलिस ने शुक्रवार को डॉक्टरों को आश्रम में नहीं जाने दिया।

    यह पूरा मामला चीफ जस्टिस हाईकोर्ट के सामने भी उठाया गया। हेल्थ डिपार्टमेंट ने 41 लड़कियों के जनरल चेकअप की रिपोर्ट हाईकोर्ट में पेश की।

    - डीजीएचएस डॉ. कीर्ति भूषण ने बताया कि लड़कियों की जो बाहरी जांच की गई है, उसमें कुछ भी सामने नहीं आया है। गाइनी जांच के लिए लड़कियों की विशेष काउंसलिंग करवाने की जरूरत है।

  • उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    राजस्थान के आबूरोड आश्रम की शुक्रवार को पुलिस ने जांच की लेकिन उसे कोई आपत्तिजनक सामान नहीं मिला।
  • उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    हाईकोर्ट के आदेश के बाद डीसीडब्ल्यू की टीम शुक्रवार देर शाम उत्तम नगर के आश्रम पर कार्रवाई करने पहुंची।
  • उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित को 4 जनवरी तक पेश करने का ऑर्डर दिया। बाबा पर नशा करके रोजाना 10 लड़कियों से रेप करने का आरोप है।
  • उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    गुरुवार रात सीबीआई ने वीरेंद्र देव के आश्रम पर रेड कर 41 लड़कियों को छुड़वाया था।
  • उत्तम नगर के आश्रम में मिलीं 21 लड़कियां, ज्यादातर का इहबास में चल रहा है इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    पुलिस-सीबीआई की कार्रवाई के दौरान आश्रम के बाहर जुटे बाबा के समर्थक।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Virendra Dev Dixit Ashram Girls Denied To Gyno Test
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×