दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

बलात्कारी बाबा ने लिखी अपनी भागवत कथा, खुद को बताया कृष्ण

दिल्ली का राम रहीम कहे जाने वाले वीरेंद्र देव दीक्षित ने भागवत कथा तक लिख डाली है।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 04:17 AM IST
बाबा वीरेंद्र देव पर लड़कियों बाबा वीरेंद्र देव पर लड़कियों

नई दिल्ली. दिल्ली का राम रहीम कहे जाने वाले वीरेंद्र देव दीक्षित ने भागवत कथा तक लिख डाली है। कई हिस्सों में लिखी इस कथा में दीक्षित ने खुद को कृष्ण के रूप में पेश किया है। उसने आरोप लगाने वालों को कौरव बताया है। इसमें अनुयायियों से यह भी कहा गया है कि यह आरोपों का दौर महाभारत काल है। इसके अंत में स्पिरिचुअल यूनिवर्सिटी की जीत होगी। उसने इसमें अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को झूठा बताया है।

किसी भी हाल में ना छोड़ें आश्रम
- बलात्कारके आरोपी वीरेंद्र की यह किताब 1 जुलाई 2017 को भागवत के नाम से अनुयायियों के बीच आई। इसमें उसने अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दी है।

- किताब के अनुसार आश्रम पर पहला आरोप 26 फरवरी 1998 को लगा और तब से यह सिलसिला लगातार जारी है।

- किताब में लिखा गया है कि आरोपों का यह दौर महाभारत काल जैसा है और इन आरोपों से डरना नहीं है और अनुयायियों को किसी भी हाल में आश्रम नहीं छोड़ना है।

किताब में रेप विक्टिम के नाम भी कर दिए सार्वजनिक
आरोपीवीरेंद्र ने सफाई देने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की भी अवहेलना की है। उसने रेप और अन्य आरोप लगाने वालों के नाम अपनी किताब में सार्वजनिक कर दिए हैं। साथ ही उनके फैमिलीवालों और घर के बारे में भी जानकारी दी है।

"महाभारत जैसे युद्ध से गुजरना होगा'
बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित ने अपनी किताब में मीडिया और पुलिस पर ईश्वरीय परिवार के उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

उसने लिखा है कि उसका स्पिरिचुअल यूनिवर्सिटी दुनिया में रावण राज से राम राज लाने में अहम भूमिका निभाने वाला है।

आरोपों के दौर में अनुयायियों को महाभारत के युद्ध की तरह गुजरना होगा। वे इस तरह के आरोपों का सामना करने को तैयार रहें।अनुयायी किसी भी आरोप से डरें।

दीक्षित की किताब महाभारत का जिक्र कर अनुयायियों को हिंसा के लिए उकसाने का काम कर रही है।

उधर...बेटी ने घरवालों के साथ जाने से किया इनकार

- वीरेंद्र देव की हरकतों के बारे में पता चलने के बाद लोग बेटियों को लेने के लिए आश्रम पहुंच रहे हैं।

- मध्य प्रदेश का परिवार शुक्रवार को उत्तम नगर के आश्रम में पहुंचा। 23 साल की बेटी 6 साल से आश्रम में रह रही है। उसने परिवार के साथ घर लौटने से मना कर दिया। ऐसे में परिवार को आश्रम से खाली हाथ लौटना पड़ा।
- कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने अभी तक पूरे मामले में दिल्ली पुलिस की थ्योरी पर ही जांच शुरू की है।

- पुलिस ने किसी भी मामले में बाबा को क्लीन चिट नहीं दी थी। मगर किसी भी मामले में जांच पूरी नहीं हो पाई है।
- अब जब सीबीआई पूरे मामले की जांच नए सिरे से करने जा रही है, तो सीबीआई वीरेंद्र देव के खिलाफ आश्रम में होने वाली गतिविधियों को लेकर नई एफआईआर दर्ज कर सकती है।

- एफआईआर 4 जनवरी से पहले दर्ज की जा सकती है 4 जनवरी को दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है।

X
बाबा वीरेंद्र देव पर लड़कियों बाबा वीरेंद्र देव पर लड़कियों
Click to listen..