--Advertisement--

हम दोनों पंखे से लटकने जा रहे हैं- ऐसा मैसेज लिख बहू ने बेटे के साथ किया सुसाइड

गोविंदपुरी इलाके में रविवार सुबह 4.50 बजे बहू ने सास को वॉट्सएप किया कि हम दोनों पंखे से लटकने जा रहे हैं।

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 06:46 PM IST

दिल्ली. गोविंदपुरी इलाके में रविवार सुबह 4.50 बजे बहू ने सास को वॉट्सएप किया कि हम दोनों पंखे से लटकने जा रहे हैं। सुबह 10 बजे जब सास ने मैसेज पढ़ा तो उनके होश उड़ गए। उन्होंने बेटा और बहू को कॉल किया, लेकिन फोन नहीं उठा। उन्होंने इसके बाद भाई के बेटे को फ्लैट पर भेजा। उसे दरवाजा अंदर से बंद मिला। दरवाजे को धक्का देकर थोड़ी जगह बनाई गई, अंदर देखा तो मोहित पंखे से लटका था। पंखे से लटका मिला शव...

इसके बाद 10 बजकर 50 मिनट पर पुलिस को सूचना दी गई। मृतकों की पहचान 30 साल के मोहित बग्गा और 29 साल की अर्पिता बग्गा के तौर पर हुई। पुलिस को घटनास्थल पर युवक पंखे से लटका मिला, पत्नी की लाश जमीन पर पड़ी थी। पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला।

बताया जा रहा है कि शादी को दो साल हुए थे। इनको बच्चा नहीं है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दंपति गोविंदपुरी गली नंबर 6 स्थित वन बीएचके फ्लैट की तीसरी मंजिल पर रहता था। घर के सामने अन्य फ्लैट परिवार ने किराए पर दे रखा था।

घरेलू कलह के कारण भी खुदकुशी का अंदेशा

इस केस की तफ्तीश से जुड़े एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोनों ही परिवार से बातचीत की जा रही है। दंपती परिवार से अलग रहता था, संभव है कि परिवार में कोई घरेलू कलह चल रही हो।

हालांकि, अर्पिता के परिजनों के दिल्ली आने के बाद काफी हद तक स्थिति साफ हो सकेगी। अर्पिता हाउसवाइफ थी। इस बात का भी पता लगाने की कोशिश हो रही है कि पति-पत्नी के बीच रिलेशन कैसे थे। दो साल बाद भी उनका कोई बच्चा नहीं, कहीं इस वजह से तो दोनों ने तनाव में आकर यह कदम नहीं उठा लिया।

वजन ज्यादा होने से महिला की लाश जमीन पर पड़ी मिली

पीसीआर कर्मियों की मौजूदगी में दरवाजा तोड़कर पुलिस अंदर घुसी, जहां मोहित बेडशीट से पंखे से लटका हुआ था। वहीं, पास ही अर्पिता जमीन पर पड़ी मिली। उसके गले पर फंदे के निशान पाए गए। हालात देखकर पुलिस को आशंका है कि दोनों एक ही पंखे से लटके थे। महिला का वजन ज्यादा होने की वजह से वो नीचे गिर गई। दंपती की शादी को अभी सात वर्ष पूरे नहीं हुए, इसे देखते हुए पुलिस ने मामले की जानकारी एसडीएम और तहसीलदार को दे दी। अर्पिता का परिवार बनारस का रहने वाला है।

मोहित स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी में जॉब करता था

पुलिस के मुताबिक मोहित बग्गा एक स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी में जॉब करता था। वह परिवार में इकलौता बेटा था। उसके पिता सुशील बग्गा की गढ़ी गांव ईस्ट ऑफ कैलाश में ज्वैलरी शॉप है। सुशील वहीं पत्नी के साथ रहते हैं। उनकी तीनों बेटियां शादीशुदा हैं।