--Advertisement--

भारत में महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले 20% कम सैलरी, हर लेवल पर हो रहा भेदभाव

1 साल में स्त्री-पुरुष के वेतन का अंतर घटा, 2016 में महिलाओं को पुरुषों से 24.8% कम पैसे मिलते थे।

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 03:51 AM IST
मॉन्सटर की यह रिपोर्ट जनवरी 2015 मॉन्सटर की यह रिपोर्ट जनवरी 2015

नई दिल्ली. भारत में महिलाओं को पुरुषों की तुलना में 20% कम वेतन मिलता है। यह बात मॉन्सटर डॉट कॉम की एक रिपोर्ट में सामने आई है। मॉन्सटर ने बुधवार को सैलरी इंडेक्स जारी किया, जिसके मुताबिक पुरुषों को एक घंटा काम करने के बदले औसतन 231 रुपए मिलते हैं, जबकि महिलाओं को सिर्फ 184.8 रुपए दिए जाते हैं। हालांकि एक साल पहले की तुलना में देखें तो यह अंतर कम हुआ है। 2016 में महिलाओं को पुरुषों से 24.8% कम वेतन मिलता था।

सर्वे में करीब 5,500 महिलाओं और पुरुषों से बात की
मॉन्सटर की यह रिपोर्ट जनवरी 2015 से दिसंबर 2017 के दौरान किए गए सर्वे पर आधारित है। इसके लिए इसने करीब 5,500 महिलाओं और पुरुषों से बात की है। सर्वे में शामिल 69% लोगों ने कहा कि हर संस्थान को स्त्री-पुरुष में समानता को प्राथमिकता देनी चाहिए। लेकिन हकीकत यह है कि सिर्फ 10% कंपनियां इस दिशा में सक्रिय रूप से काम कर रही हैं। 36% प्रतिभागियों ने कहा कि वेतन का अंतर कम करने के लिए इंडस्ट्री को व्यावहारिक नीतियां अपनानी चाहिए।

महिला आंत्रप्रेन्योर: 57 देशों के इंडेक्स में भारत 52वें स्थान पर

महिला आंत्रप्रेन्योर के मामले में भारत अमेरिका और चीन जैसे देशों से काफी पीछे है। महिला आंत्रप्रेन्योर पर मास्टरकार्ड के इंडेक्स में 57 देशों में भारत को 52वें स्थान पर रखा गया है। सामाजिक और आर्थिक स्तर पर महिलाओं के साथ भेदभाव को इसकी मुख्य वजह बताया गया है। पिछले साल भी भारत की यही रैंकिंग थी। भारत से नीचे सिर्फ ईरान, सऊदी अरब, अल्जीरिया, मिस्र और बांग्लादेश हैं। न्यूजीलैंड शीर्ष पर, अमेरिका चौथे और चीन 29वें स्थान पर है। रिपोर्ट के अनुसार भारत में महिलाओं के लिए काम का वातावरण कम अनुकूल है। इसके अलावा सामाजिक स्वीकार्यता भी कम होने से महिलाएं अपना बिजनेस खड़ा नहीं कर पाती हैं। कारोबार शुरू करने वालों में भी ज्यादातर फाइनेंस की उपलब्धता के अभाव में बंद कर देती हैं।

स्पाइसजेट अपने क्रू में एक-तिहाई महिला पायलटों की नियुक्ति करेगी

स्पाइसजेट ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला पायलटों के लिए भर्ती अभियान शुरू करने की घोषणा की है। एयरलाइन का इरादा एक-तिहाई महिला पायलट रखने का है। अभी इसके पास कुल करीब 800 पायलट हैं। इनमें सिर्फ 17% यानी 140 महिलाएं हैं। एयरलाइन ने कहा कि बोइंग 737 और बॉम्बार्डियर क्यू400 जैसे बड़े विमानों के लिए यह महिला पायलटों की नियुक्ति करेगी।

न्यूयॉर्क, फ्रैंकफर्ट के लिए एयर इंडिया की महिला क्रू फ्लाइट

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर एयर इंडिया गुरुवार को न्यूयॉर्क, फ्रैंकफर्ट और सिंगापुर समेत कई जगहों के लिए सिर्फ महिला क्रू की विशेष फ्लाइट चलाएगी। श्रीलंका के लिए भी महिला क्रू की फ्लाइट होगी। यह उड़ान चेन्नई से कोलंबो और कोलंबो से नई दिल्ली के लिए होगी। कैप्टन वी. रूपा और कैप्टन निमिषा गोयल इस फ्लाइट को ऑपरेट करेंगी।