Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Year Ender 2017 Top 6 Matters In News

एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट

2017 का साल दिल्ली के लिए 50-फिफ्टी रहा।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 30, 2017, 05:54 AM IST

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    नई दिल्ली। 2017 का साल दिल्ली के लिए 50-फिफ्टी रहा। सबसे मुश्किल सर्जरी की सफलता और मेट्रो के बढ़ते कदम जहां राजधानी के नाम को देश में सबसे आगे ले गए, वहीं मैडम तुसाद म्यूजियम और मुगल-ए-आजम की पहली कलरफुल प्रस्तुति ने दिल्ली को नया मुकाम दिया। हालांकि, इस बीच प्रद्युम्न हत्याकांड, फोर्टिस-मैक्स अस्पताल विवाद और पॉल्यूशन की कुछ ऐसी तस्वीरें आईं, जिन्हें दिल्लीवासी फिर कभी नहीं देखना पसंद करेंगे।

    पहली बार: मुगल-ए-आजम एकप्ले : आम प्ले बनाने में जितना खर्च आता है, उतना एक कॉस्ट्यूम पर किया, 10 हजार में भी बिका टिकट
    शहजादे सलीम और कनीज अनारकली की प्रेमकथा पर बनी फिल्म ‘मुगल-ए-आजम’ को प्ले के तौर पर जवाहरलाल नेहरू इंडोर स्टेडियम में देखा गया। इसका मंचन 9 से 17 सितंबर तक किया गया। आलीशान सेट, बेहतरीन थ्री-डी प्रोजेक्शन वर्क और डिजाइनर कॉस्ट्यूम की वजह से यह काफी भव्य रहा। इस प्ले के टिकट 500 से लेकर 10 हजार रुपए में बिके। वर्ष 2011 में ड्रामा डेस्क अवॉर्ड से नवाजे जा चुके डेविड लांडेर ने प्ले को अट्रैक्टिव बनाने के लिए इसमें शानदार लाइटिंग इफेक्ट्स दिए।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    मैजेंटालाइन पर दौड़ी देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो, एक साल ड्राइवर के साथ चलेगी

    देश में पहली बार ड्राइवरलेस मेट्रो चली। यह एक साल तक ड्राइवर के साथ चलेगी। भारत विश्व का सातवां देश है, जहां इस तरह की मेट्रो है। इससे पहले अमेरिका, जापान, सऊदी अरब, साउथ कोरिया समेत छह देशों में इस तकनीक से मेट्रो चल रही है। भारत ने इसे साउथ कोरिया से इम्पोर्ट किया है। इस लाइन के चलते बॉटेनिकल गार्डन से कालकाजी मंदिर तक का 53 मिनट का सफर 33 मिनट में पूरा हो जाएगा।

    2018 में बनेगा दुनिया का चौथा सबसे बड़ा नेटवर्क: इससाल मेट्रो को 120 किमी नई लाइन मिलेगी। इसी के साथ दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क 375 किमी हो जाएगा। यह शंघाई, बीजिंग और लंदन के बाद चौथा सबसे बड़ा नेटवर्क होगा।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    सबसे बड़ी सफलता: देश मेंपहली बार 180 डिग्री सिर से जुड़े बच्चों की सफल सर्जरी

    देश में पहली बार एम्स में सिर से जुड़े ओडिशा के जग्गा-बलिया का ऑपरेशन हुआ। इसके लिए एक्सपर्ट्स ने वर्ष 1950 से 2017 तक के सभी केस पढ़े। दुनिया में जो भी डॉक्टर ऐसे केसों से जुड़े थे, उनसे बात की। पिछले 30 साल में 10 ऐसे जुड़वां बच्चों की सर्जरी की गई, जिनमें से सिर्फ सात ही जिंदा बचे। इसके बावजूद डॉक्टरों ने रिस्क ली। 25 दिसंबर को क्रिसमस के दिन जग्गा-बलिया की मुस्कराहट माता-पिता के लिए सबसे बड़ा उपहार था।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    सबसे बड़ी असफलता: पॉल्यूशन चरमपर, सरकार नाकाम, दुनिया में पहला मामला जब विदेशी खिलाड़ियों को मैदान में मास्क पहनना पड़ा
    फिरोजशाह कोटला मैदान पर भारत-श्रीलंका के बीच हुए दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन श्रीलंका के खिलाड़ी पॉल्यूशन के कारण मास्क पहनकर मैदान में उतरे। इसने हमें पूरी दुनिया में बदनाम कर दिया।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    मैक्स मेंजिंदा नवजात को मृत बता प्लास्टिक में पैक किया
    मैक्स अस्पताल ने दो नवजातों को मृत बता प्लास्टिक में पैक कर दिया। एक पैकेट में हलचल देख परिजनों ने उसे खोला तो बच्चा जीवित था। सरकार ने लाइसेंस रद्द कियाा, जो बाद में बहाल हो गया। अब राजनीति हो रही।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    सबसे बड़ी दुर्घटना: रेयानस्कूल में प्रद्युम्न हत्याकांड जिसने मासूमों की सुरक्षा पर पूरे देश को चिंता में डाल दिया

    रेयान इंटरनेशल स्कूल गुड़गांव में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की गला रेत कर हत्या कर दी गई। इस हादसे ने पूरे देश को बच्चों की सुरक्षा के मुद्दे पर चिंता में डाल दिया। बाद में सीबीआई जांच में नाबालिग छात्र ही आरोपी निकला।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    देश मेंपहला मैडम तुसाद वैक्स म्यूजियम खुला
    देश में मैडम तुषाद का पहला म्यूजियम दिल्ली के कनॉट प्लेस में खुला। यहां का टिकट 990 रुपए है। दुनिया में ऐसे 23 म्यूजियम हैं। पहला म्यूजियम वर्ष 1835 में लंदन के बेकर स्ट्रीट में खुला था।

  • एक कॉस्ट्यूम पर इतना खर्च जितने में बन जाए पूरा प्ले, 10 हजार तक में बिका था एक टिकट
    +7और स्लाइड देखें

    डेंगू से आद्या की मौत, पिता को सौंपा 16 लाख का बिल, हंगामा
    सात साल की बच्ची आद्या की डेंगू के इलाज के दौरान फोर्टिस अस्पताल में मौत हो गई थी। परिजनों को 16 लाख का बिल थमा दिया गया। देशभर में हंगामे के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्‌डा ने जांच के आदेश दिए।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×