--Advertisement--

फिनलैंड के एक प्राइमरी स्कूल में बच्चों को पढ़ा रहा रोबोट

फिनलैंड के एक प्राइमरी स्कूल में बच्चों को पढ़ा रहा रोबोट एजेंसी | नई दिल्ली अब वह दिन दूर नहीं जब बच्चों को...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:15 AM IST
फिनलैंड के एक प्राइमरी स्कूल में बच्चों को पढ़ा रहा रोबोट

एजेंसी | नई दिल्ली

अब वह दिन दूर नहीं जब बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कूल में शिक्षकों की नहीं बल्कि रोबोट की भर्ती होगी। फिनलैंड के एक प्राइमरी स्कूल में ऐसा ही पायलट प्रोजेक्ट चल रहा है, जहां बच्चों को एक रोबोट भाषा सिखा रहा है। इस रोबोट का नाम एलियस है जो बतौर लैंग्वेज टीचर बच्चों को फिनलैंड के स्कूल में पढ़ा रहा है। यह बच्चों के सवालों का आराम से जवाब देता है ताकि किसी को सवाल पूछने में कोई शर्म या झिझक न हो।

यह लैंग्वेज पढ़ाने वाली मशीन एक ह्यूमनाइड रोबोट और मोबाइल एप्लिकेशन है। यह उन चार रोबोटों में से एक है जिसे इस पायलट योजना के तहत तैयार किया गया है। यह रोबोट 23 भाषाएं बोल और समझ सकता है। साथ ही इसके अंदर लगा सॉफ्टवेयर इसे बच्चों की जरूरतों के बारे में बताता है ताकि पढ़ाई को लेकर वह इन्हें प्रोत्साहित कर सके।

हालांकि इस ट्रायल प्रक्रिया में फिलहाल यह अंग्रेजी, जर्मन और फिनिश भाषाओं में काम कर रहा है। इस रोबोट की खास बात यह है कि ये बच्चों की प्रतिभा और कौशल को पहचान कर उनके स्तर के सवाल उनसे पूछ सकता है। साथ ही शिक्षकों को बच्चों के परफॉर्मेंस का फीडबैक और उनसे जुड़ी सभी संभावित समस्याओं का ब्योरा भी दे सकता है। जो शिक्षक पढ़ाने की इस नई तकनीक के साथ काम कर रहे हैं वह इसे बच्चों को पढ़ाने और उन्हें पढ़ाई में व्यस्त रखने की एक नई तकनीक के रूप में देख रहे हैं। शिक्षक मानते हैं कि यह नया पाठ्यक्रम बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने के साथ-साथ उन्हें काफी सक्रिय भी बना रहा है। साथ ही यह क्लास में बच्चों को कई तरह की गतिविधियों में व्यस्त रखता है। एलियस के अलावा एक छोटे नीले रंग रोबोट भी है, जो गणित पढ़ाता है।

उसका नाम मैथ्स रोबोट ओव्हीओबॉट है। नीले रंग की मशीन 25 सेंटीमीटर ऊंची है और एक उल्लू की तरह नजर आती है। इसे भी फिनलैंड की एक कंपनी ने डेवलप किया है। मध्यपूर्व, एशिया और अमेरिका के भी कई स्कूलों में रोबोट का इस्तेमाल पढ़ाने के लिए किया जाता है।

पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर रखा गया एलियस नाम का रोबोट 23 भाषाएं बोल और समझ सकता है

फिनलैंड के एक स्कूल में रोबोट के साथ बच्चे स्थानीय बच्चे।