--Advertisement--

दिल्ली-मेरठ के बीच रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम को मिलेगी स्पीड

बजट में दिल्ली से मेरठ के बीच परिवहन को स्पीड देने वाले रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) के लिए 659 करोड़ रुपए का...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:05 AM IST
बजट में दिल्ली से मेरठ के बीच परिवहन को स्पीड देने वाले रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) के लिए 659 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। अभी तक केन्द्र या राज्य सरकार ने आरआरटीएस के लिए बजट में किसी तरह के फंड का प्रावधान नहीं किया था। केन्द्र सरकार, दिल्ली, यूपी और हरियाणा की हिस्सेदारी वाली कंपनी नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन में पूंजीगत प्रावधान में केन्द्र सरकार ने राशि रखकर जुलाई, 2018 में काम शुरू करने का रास्ता आसान कर दिया है।

दिल्ली-मेरठ के पहले 92 किमी कॉरिडोर पर काम के लिए यूपी व दिल्ली को भी बजट प्रावधान करने होंगे। दिल्ली के बजट अनुमान में 150 करोड़ रुपए प्रावधान का प्रस्ताव एनसीआरटीसी ने भेजा हुआ है।

रिवाइज अलाइनमेंट में 3 किमी. अंडरग्राउंड

प्राथमिक डीपीआर में 9.7 किमी कॉरिडोर पूरी तरह से भूमिगत था, रिवाइज अलाइनमेंट में 3 किमी अंडरग्राउंड और 9.2 किमी एलिवेटेड

कॉरिडोर की लंबाई| 92.05 किमी

कितनी देर में तय होगी दूरी| 62 मिनट

डिजाइन स्पीड| 180 किमी प्रतिघंटा

औसत स्पीड| 100 किमी प्रतिघंटा

पूरा होने तक कॉरिडोर की लागत| 32598 करोड़ रुपए

दिल्ली को कितनी करनी है हिस्सेदारी| 1074 करोड़ रुपए

इतने चरण में होगा पूरा

पहला चरण|
साहिबाबाद से मेरठ के बीच जनवरी-2023 में चलाने का लक्ष्य।

पहला चरण| दिल्ली के सराय काले खां से यूपी के साहिबाबाद के बीच जनवरी-2024 में चलाने का लक्ष्य।

पहला चरण| मेरठ साउथ-मोदीपुरम व शास्त्री नगर समेत बाकी हिस्सा जुलाई-2024 में शुरू करने का लक्ष्य।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..