Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» चार सालों में सबसे कम दर्ज हुआ दिवाली-2017 को ध्वनि और वायु प्रदूषण

चार सालों में सबसे कम दर्ज हुआ दिवाली-2017 को ध्वनि और वायु प्रदूषण

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) ने देशभर में साल 2017 की दीपावली पर ध्वनि और वायु प्रदूषण को लेकर रिपोर्ट...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 04:05 AM IST

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) ने देशभर में साल 2017 की दीपावली पर ध्वनि और वायु प्रदूषण को लेकर रिपोर्ट जारी की है। इसमें दिवाली के कुछ दिन पहले और दिवाली के दिन ध्वनि प्रदूषण और वायु प्रदूषण की जानकारी दी गई है। इस रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में छह जगहों पर पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने स्टडी की। इसमें यह बात सामने आई है कि दिवाली के दिन पिछले चार सालों में दिल्ली में सबसे कम वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण दर्ज हुआ है। सीपीसीबी के चेयरमैन एसपीएस परिहर ने बताया कि बोर्ड की तरफ से देश की 129 शहरों की 345 लोकेशन पर ध्वनि प्रदूषण को लेकर दिवाली से पहले और दिवाली के दिन रिपोर्ट तैयार की गई है। साथ ही इन दोनों पैरामीटर्स को देखते हुए 125 शहरों के 305 लोकेशंस पर वायु प्रदूषण के डेटा को जुटाकर रिपोर्ट तैयार की गई है।

दिल्ली समेत कुल 27 राज्यों और तीन केंद्र शासित प्रदेशों के 129 शहरों में सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने तैयार की रिपोर्ट

दिवाली के दिन के ध्वनि प्रदूषण के आंकड़े डेसिबल में

76

76

74

2015

00

2016

लाजपत नगर

भास्कर न्यूज | नई दिल्ली

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) ने देशभर में साल 2017 की दीपावली पर ध्वनि और वायु प्रदूषण को लेकर रिपोर्ट जारी की है। इसमें दिवाली के कुछ दिन पहले और दिवाली के दिन ध्वनि प्रदूषण और वायु प्रदूषण की जानकारी दी गई है। इस रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में छह जगहों पर पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने स्टडी की। इसमें यह बात सामने आई है कि दिवाली के दिन पिछले चार सालों में दिल्ली में सबसे कम वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण दर्ज हुआ है। सीपीसीबी के चेयरमैन एसपीएस परिहर ने बताया कि बोर्ड की तरफ से देश की 129 शहरों की 345 लोकेशन पर ध्वनि प्रदूषण को लेकर दिवाली से पहले और दिवाली के दिन रिपोर्ट तैयार की गई है। साथ ही इन दोनों पैरामीटर्स को देखते हुए 125 शहरों के 305 लोकेशंस पर वायु प्रदूषण के डेटा को जुटाकर रिपोर्ट तैयार की गई है।

83

79

2017

80

मयूर विहार-2

71

74

76

70

पीतमपुरा

दिवाली के दिन पीएम10 प्रदूषित कणों के आंकड़े

लोकेशन 2014 2015 2016 2017

आईटीओ 442 531 878 438

पीतमपुरा 756 460 1000 690

जनकपुरी 648 554 902 706

परिवेश भवन --- 593 1000 628

80

86

69

74

कमलानगर

78

79

69

75

जनकपुरी

86

86

67

83

ओखला

‘प्रदूषण फैलाने वालों को हो सजा का प्रावधान, इसे कम करने के लिए सभी को प्रयास करने होंगे’

सीपीसीबी के वरिष्ठ वैज्ञानिक और बोर्ड की एयर लेबोरेट्री के हेड डॉ. दीपांकर साहा बुधवार को रिटायर हो गए। उन्होंने कहा कि प्रदूषण फैलाने वालों पर सजा का प्रावधान होना चाहिए। उन्होंने साल 1989 में सीपीसीबी जॉइन किया था। 28 साल में उन्होंने दिल्ली व देशभर मेंे प्रदूषण के पैमानों पर स्टडी कर उसे लोगों के सामने पेश किया। दिल्ली-एनसीआर में सीपीसीबी की तरफ से पिछले तीन से चार सालों में एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशनों के जो डेटा व विश्लेषणों की रिपोर्ट सामने आई है, उसे जारी करने में डॉ. साहा की सबसे अहम भूमिका रही। उन्होंने बताया कि 2014 से दिल्ली का एयर क्वालिटी बुलेटिन जारी हो रहा है। इससे पहले प्रदूषण का कोई बुलेटिन नहीं आती था। जब उनसे पूछा गया कि पराली को जलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार ने बजट में प्रावधान किया है। क्या इससे दिल्ली की प्रदूषण में रैंकिंग में कमी आएगी। उन्होंने कहा कि प्रदूषण को कम करने के लिए सभी एजेंसियों को प्रयास करने की जरूरत है। मुझे लगता है कि प्रदूषण फैलाने पर सजा का भी प्रावधान जरूरत है। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को कम करने के लिए कई कानून बने हैं। ग्राउंड लेवल पर मॉनिटरिंग और एक्शन लेने की जरूरत है।

000

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: चार सालों में सबसे कम दर्ज हुआ दिवाली-2017 को ध्वनि और वायु प्रदूषण
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×