Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Discuss On Status Of Farmers In AAP National Conference

AAP के राष्ट्रीय सम्मेलन में किसानों की स्थिति पर मंथन

पार्टी नोटबंदी के विपरीत प्रभावों से देश की जनता को अवगत कराने के लिये इसे धोखा दिवस के रूप में मनाएगी।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 05, 2017, 06:31 AM IST

AAP के राष्ट्रीय सम्मेलन में किसानों की स्थिति पर मंथन
नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (आप) 26 नवंबर को पार्टी की स्थापना के पांच वर्ष पूरा होने के मौके पर दिल्ली में राष्ट्रीय सम्मेलन करेगी। इसमें किसानों की स्थिति और नोटबंदी तथा वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद देश की आर्थिक स्थिति के संबंध में विशेष रूप से मंथन होगा।
दिल्ली सरकार में श्रम मंत्री और पार्टी के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने शनिवार को बताया कि दो नवंबर को राष्ट्रीय परिषद की बैठक हुई। बैठक में पार्टी स्थापना के पांच वर्ष पूरा होने के मौके पर दिल्ली में 26 नवंबर को राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करने का निर्णय लिया गया। सम्मेलन में पूरे देश से पार्टी के पदाधिकारी, प्रतिनिधि और कार्यकर्ता हिस्से लेंगे। इसमें पिछले पांच वर्ष के दौरान पार्टी की राजनीतिक, संगठनात्मक और दिल्ली सरकार की तरफ से की गयी पहल की समीक्षा की जाएगी।
उन्होंने बताया कि सम्मेलन में मुख्यत: दो बिन्दुओं देश में किसानों की स्थिति और नोटबंदी तथा जीएसटी के बाद आर्थिक स्थिति पर विचार-विमर्श किया जाएगा। पार्टी ने अाठ नवंबर को देश भर में "धोखा दिवस" मनाने का एेलान किया है।
राय ने बताया कि नोटबंदी से काला धन और जाली नोट कितने आये इसका तो अब तक पता नहीं चल सका है लेकिन इससे मजूदर वर्ग की कमर टूट गयी और बेरोजगारी बढ़ी है। पार्टी नोटबंदी के विपरीत प्रभावों से देश की जनता को अवगत कराने के लिये इसे धोखा दिवस के रूप में मनाएगी।
सिसोदिया के घर के बाहर आप सेना के कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
राजधानी में स्कूलों के सौ मीटर के दायरे में शराब की दुकानें बंद करवाने की मांग को लेकर आम आदमी सेना के कार्यकर्ताओं ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने स्वयं को मुख्य द्वार से हथकड़ी लगाकर बांध लिया।
सेना की भावना अरोड़ा और वेद प्रकाश नाम के दो कार्यकर्ताओं ने सुबह विरोध स्वरूप यह प्रदर्शन किया। उनकी मांग थी कि स्कूलों के सौ मीटर के दायरे में खुली शराब की दुकानों को तुरंत बंद किया जाना चाहिए। सुश्री भावना ने अरविंद केजरीवाल की नीतियों से नाराज होकर उनके ऊपर कुछ माह पूर्व स्याही भी फेंकी थी।
वेद प्रकाश ने कहा कि केजरीवाल को मुख्यमंत्री बने करीब ढाई वर्ष हो गए हैं और स्कूलों के सौ मीटर के दायरे में शराब की दुकानों को बंद करने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है। सरकार को इस दिशा में तुरंत कदम उठाने चाहिए।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×