Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Increasing Nose Allergies In Children Due To Pollution

सुबह पांच से सात गुना बढ़ा पॉल्यूशन लेवल, बच्चों में बढ़ रही नाक की एलर्जी

आनंद विहार, मंदिर मार्ग, आरकेपुरम व पंजाबी बाग में पीएम 10 500 एमजीसीएम तक दर्ज हुआ

राहुल मानव | Last Modified - Nov 05, 2017, 06:38 AM IST

सुबह पांच से सात गुना बढ़ा पॉल्यूशन लेवल, बच्चों में बढ़ रही नाक की एलर्जी
नई दिल्ली. दिल्ली में सुबह छह से नौ बजे के बीच सबसे ज्यादा प्रदूषण दर्ज हो रहा है। यह सामान्य से पांच से सात गुना तक होता है। जैसे-जैसे दिन ढलता है इसका असर कम होने लगता है लेकिन 24 घंटे के प्रदूषण की वैल्यू करें तो सुबह का आंकड़ा इसे 30% तक बढ़ा रहा है। एक्सपर्ट का कहना है कि शनिवार को दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी (डीपीसीसी) के आनंद विहार, मंदिर मार्ग, आरकेपुरम और पंजाबी बाग में पीएम 10 का स्तर 300 से 500 एमजीसीएम (माइक्रो ग्राम क्यूबिक मीटर) तक दर्ज हुआ। वहीं, पीएम 2.5 200 के पार रहा।

पीएम-10 500 एमजीसीएम तो एयर क्वालिटी इंडेक्स 700 पार: फोरम फोर एयर क्वालिटी इंडिया के फाउंडर सचिन पंवार ने बताया कुछ जगह पीएम-10 का स्तर 500 एमजीसीएम तक दर्ज हो रहा है। सीपीसीबी के एक्यूआई (एयर क्वालिटी इंडेक्स) के स्टैंडर्ड का विश्लेषण करें तो इसमें पीएम-10 का स्तर 700 के पार चला जाएगा। एक्यूआई में पीएम 2.5, पीएम-10 और अन्य प्रदूषित कणों के आंकड़ों के 24 घंटे की औसत वैल्यू दर्ज होती है। 17 से 18 स्टेशनों का डेटा जुटाकर औसत वैल्यू 24 घंटे की निकाली जाती है। पर्यावरणविद विक्रांत तोंगड़ ने बताया कि सुबह स्मॉग से प्रदूषित कणों में इजाफा हो रहा है।
पहले आते थे 10 मरीज
चरक पालिका अस्पताल के डॉक्टर का कहना है कि इन दिनों बच्चे नाक में एलर्जी की समस्या को लेकर आ रहे हैं। 10 साल पहले प्रतिदिन 10 बच्चे ही अक्टूबर से दिसंबर के बीच शिकायत लेकर आते थे। लेकिन अब इनकी संख्या 300% हो गई है।
बच्चे बढ़ते शरीर के कारण आते हैं चपेट में
इंडियन पॉल्यूशन कंट्रोल एसोसिएशन की डिप्टी डायरेक्टर राधा गोयल ने बताया कि बढ़ते शरीर के कारण बच्चों में इस तरह की दिक्कतें आ रही हैं। प्रदूषण के एकदम संपर्क में आने से उन्हें एलर्जी होती है।
इस तरह बढ़ रहा पॉल्यूशन लेवल
- सीपीसीबी के एयर क्वालिटी इंडेक्स में पीएम 2.5, पीएम-10 और अन्य प्रदूषित कणों के आंकड़े के 24 घंटे की औसत वैल्यू दर्ज होती है
- फिर 17 से 18 पॉल्यूशन मॉनिटरिंग स्टेशनों का डेटा जुटाकर 24 घंटे की औसत वैल्यू निकाली जाती है।
- चूंकि सुबह के वक्त लगातार तीन से चार घंटे तक चार से छह गुना ज्यादा प्रदूषित कणों का स्तर दर्ज हो रहा है, इससे यह 30 फीसदी पूरे दिन के पॉल्यूशन लेवल में योगदान दे रहा है
दोपहर या शाम में 30 मिनट एक्सरसाइज प्रदूषण से लड़ने में देती है मदद
इन दिनों दिल्ली का प्रदूषण अलार्मिंग स्टेज पर है। ऐसे में सभी को हफ्ते में 150 मिनट एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए। हर दिन 30 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें, लेकिन यह एक्सरसाइज सुबह नहीं, दोपहर में दो से तीन बजे या शाम के वक्त करें। इससे आपका शरीर प्रदूषण से लड़ने में मददगार होगा।
ऐसा क्यों-30 मिनट एक्सरसाइज से खून का मेटाबॉलिज्म लगातार बढ़ता रहता है, ऐसे में प्रदूषण से जो एलर्जी और दूसरी तरह की बीमारी होने का खतरा रहता है, वह कम हो जाता है।
एन-95 मास्क पहनकर ही माॅर्निंग वॉक के लिए निकलें
Q .हमारा घर सड़क किनारे है, हम अंदर रहते हैं तो क्या हम पर इसका असर नहीं होगा?
A.नहीं ऐसा नहीं है, अगर आपके घर सड़क किनारे हैं, तो एक किफायती एयर प्यूरिफायर जरूर लगाएं। इनको सुबह के वक्त जरूर इस्तेमाल करें, क्योंकि सुबह के वक्त प्रदूषण के स्तर में सबसे ज्यादा इजाफा हो रहा है।

Q. क्या हम मॉर्निंग वॉक पर जा सकते हैं?
A. यदि आपका मॉर्निंग वॉक पर जाना जरूरी है तो एन95 का मास्क लगाकर ही घर से निकलें। यह डिस्पोजल मास्क है, जो किफायती रेट पर 100 से 200 रुपए में मिलते हैं। लेकिन इसके नरम पड़ने पर जरूर बदलें।
Q. क्या हम दौड़ लगा सकते हैं?
A. बिल्कुल नहीं दौड़े, क्योंकि इससे सांस तेजी से चलती है और प्रदूषित कण आपको ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं।
Q. हमारी सेहत पर कितना असर पड़ता है प्रदूषण का?
A. सुबह के वक्त प्रदूषण के संपर्क में आने से फेफड़ों की कोशिकाओं में असर पड़ता है। इससे हार्ट अटैक का खतरा होता है। आंखों में जलन होने लगती है और दिल की धमनियों पर भी असर पड़ता है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×