Hindi News »Union Territory News »Delhi News »News» On The Occasion Of Children Day Birthday Of First Pm Nehru

जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 14, 2017, 08:14 PM IST

14 नवंबर को देश के फर्स्ट पीएम जवाहर लाल नेहरू का बर्थ डे है। इस दिन को देश में चिल्ड्रन डे के तौर पर मनाया जाता है।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    नई दिल्ली.14 नवंबर को देश के फर्स्ट पीएम जवाहर लाल नेहरू का बर्थ डे है। इस दिन को देश में चिल्ड्रन डे के तौर पर मनाया जाता है। नेहरू को बड़े प्यार से बच्चे चाचा नेहरू बुलाते थे। नेहरू व्यक्तिगत जिंदगी में बेहद साधारण थे। लंदन से पढ़ाई करने के बाद उन्होंने आजादी के आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। DainikBhaskar.com उनकी लाइफ से जुड़े फैक्ट्स बता रहा है।बांडुग सम्मेलन में जब नेहरू को आया गुस्सा.....

    - ये किस्सा बांडुंग सम्मेलन का है। श्रीलंका के पीएम सर जॉन कोटलेवाला स्पीच दे रहे थे। इस दौरान उन्होंने पोलैंड, हंगरी, बुल्गारिया और रोमानिया का उदाहरण देते हुए अफ्रीका और एशिया के देशों की उपनिवेश देश कह दिया था। इस बात पर नेहरू को गुस्सा आ गया था।
    - उन्होंने श्रीलंका के पीएम से उस वक्त पूछा था कि आपने अपनी स्पीच देने से पहले मुझे दिखाई क्यों नहीं। जिसके बाद सर जॉन ने उनकी बात का जवाब देते हुए कहा था मैं क्यों दिखाता अपना भाषण आपको? आपने अपना भाषण दिखाया था। मामले को बढ़ता देख इंदिरा ने नेहरू को हाथ पकड़ रोक लिया था।
    - सर जॉन ने इस किस्से को अपनी बुक एन एशियन प्राइम मिनिस्टर स्टोरी में लिखा। उन्होंने अपने शब्दों में इस किताब में लिखा है कि नेहरू मेरे अच्छे फ्रेंड थे। उन्होंने मेरी इस गलती को भुला दिया होगा।
    - नेहरू के गुस्से से जुड़ा एक किस्सा फॉर्मर विदेश मंत्री नटवर सिंह ने भी सुनाया था कि एक बार नेहरू किसी बात को लेकर नाराज हो गए थे। उन्होंने नेपाल के राजा को लिखे जाने वाले लेटर को फॉरेन मिनिस्ट्री के सेक्रटरी जनरल को न दिखाकर अपनी अलमारी में रख लिया था। उस वक्त नटवर सिंह सेक्रटरी जनरल के असिस्टेंट हुआ करते थे। इसके बाद हालात ऐसे बने कि वे उस लेटर को पढ़ नहीं पाए।
    - इसके बाद उन्हें नेहरू ने बुलाया लेकिन , साउथ ब्लॉक पहुंचने पर पर्सनल सेक्रेट्री ने उन्हें बताया कि नेहरू जी के ऑफिस में मत जाना अगर, वे अभी गुस्से में है। इसके बाद अगले दिन नेहरू खुद फॉरेन सेक्रेट्री के ऑफिस में जा पहुंचे। और पूछा कि नेपाल नरेश को जो लेटर लिखा क्या आपने देखा है?
    - फॉरेन सेक्रेट्री ने लेटर न मिलने की बात कही। बाद में पता चला कि वो लेटर नटवर सिंह के पास है। फॉरेन सेक्रेट्री ने उन्हें बचाने के लिए नेहरू से कह दिया था कि सिंह को वो लेटर पसंद आ गया था इसलिए उन्होंने ये लेटर अपने पास रख लिया।
    - नेहरू इतना सुना और गुस्से में पुलिस बुलाकर लेटर बरामद करने की बात तक कह दी थी। इस मामले के बाद नटवर सिंह सात दिनों तक नेहरू के ऑफिस के सामने से नहीं गुजरे।
    आगे की स्लाइड्स में पढ़े नेहरू की लाइफ से जुड़े फैक्ट्स....
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    नेहरू के लव लेटर जाते थे प्लेन में
    नेहरू के लव लेटर जाते थे प्लेन में....
    - नेहरू को लॉर्ड माउंटबेटन की पत्नी से इश्क था। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, उस समय कुलदीप नैयर ब्रिटेन में भारत के फॉरेन हाई कमिशनर थे ।
    - उन्हें पता चला था कि नेहरू अपने लव लेटर एडविना को प्लेन से भेजते है। इस बारे में उन्होंने एडविना की नाती से बात की थी।
    - तब उन्हें जवाब मिला था कि दोनों के बीच आध्यात्मिक प्रेम था।
    - इसी सिलसिले में एक बार उन्होंने इंदिरा से उन लव लेटर को दिखाने की बात भी कही थी। जिसे इंदिरा गांधी ने दिखान से साफ इनकार कर दिया था।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    नई के लिए लाए थे घड़ी...
    नाई के लिए लाए थे घड़ी...
    बताते हैं कि नेहरू जी का नाई हमेशा लेट हो जाता था। एक बार नेहरू लंदन की यात्रा पर जाने वाले थे। इसके बाद नाई आया तो नेहरू ने उससे पूछा कि तुम हमेशा लेट क्यों हो जाते हो ?
    - नाई ने जवाब दिया कि उसके पास घड़ी नहीं है, इस वजह से लेट हो जाता है। नाई का जवाब सुनकर नेहरू जी लंदन से लौटने के बाद नाई के लिए घड़ी लाए थे।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    ड्राइवर को देने के लिए नहीं थे पैसे
    ड्राइवर को देने के लिए नहीं थे पैसे...
    - एक दिन नेहरू जी ऑफिस जा रहे थे। रास्ते में उनकी कार पंक्चर हो गई थी। दूर से एक टैक्सी वाले ने देख लिया था। जिसके बाद उसने नेहरू को अपनी टैक्सी से ऑफिस में छोड़ने की बात कही। नेहरू बिना किसी की बात सुने कार में बैठ गए।
    - ऑफिस पहुंचकर नेहरू ने अपनी जेब में हाथ डाला तो उनकी जेब में पैसे नहीं थे। नेहरू कभी पैसे लेकर नहीं चलते थे। इसके बाद टैक्सी वाले ने बोला आप मुझे क्यों शर्मिंदा कर रहे हो। क्या मैं आपसे पैसे लूंगा। इस सीट पर अगले पांच दिन किसी को नहीं बैठाऊंगा।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    जब चार्ली चैपलिन ने पिलाई शराब
    जब चार्ली चैपलिन ने पिलाई शराब....
    - फॉरेन सेक्रेटरी रहे दिनशॉ गुंडेविया ने अपनी ऑटो बायोग्राफी में लिखा है कि एक बार एक्टर चार्ली चैपलिन ने स्विट्जरलैंड में नेहरू को अपने घर डिनर पर बुलाया था।
    - उस दौरान शैंपेन लाई गई। चैपलिन ने नेहरू को एक गिलास ऑफर किया। लेकिन नेहरू ने कहा कि आपको पता होना चाहिए कि मैं नहीं पीता।
    - जिसके बाद चैपलिन ने उनके होंठों से शैंपेन लगा दी। नेहरू ने उस दौरान एक सिप लिया था। रातभर उस गिलास को अपने पास रखकर बैठे रहे।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    पालतू जानवर खूब भाते थे।
    पालतू जानवर खूब भाते थे...

    - नेहरू को पालतू जानवर खूब पसंद थे। सोवियत नेता निकिता ख्रुश्चेव ने उन्हें एक बार घोड़ा भेंट किया था। सऊदी शाह ने भी नेहरू को दो घोड़ियां गिफ्ट की थीं। जिन्हें कुछ दिन रखने के बाद सेना में भेज दिया था।
    - नेहरू के पास कई और तरह के जानवर थे जिसमें बाघ और तेंदुए के बच्चे भी शामिल थे। नेहरू ने इन्हें भी कुछ दिन रखने के बाद चिड़ियाघर में भेज दिया था।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    प्लेन से मंगाई गई थी सिगरेट।
    प्लेन से मंगाई गई थी सिगरेट..
    - नेहरू को सिगरेट पीने का बहुत शौक था। एक बार नेहरू भोपाल आए हुए थे। इस दौरान उनकी पसंदीदा 555 ब्रांड की सिगरेट खत्म हो गई थी।
    - जब भोपाल में इस ब्रांड की सिगरेट नहीं मिली तो इंदौर से स्पेशल प्लेन से मंगाई गई थी।
  • जब नेहरू ने प्लेन से मंगाई थी सिगरेट, ऐसे थे उनकी लाइफ से जुड़े किस्से
    +7और स्लाइड देखें
    जब टाटा ने नेहरू के कहने पर लैक्मे ब्यूटी प्रोडक्ट बनाया था
    जब टाटा ने नेहरू के कहने पर लैक्मे ब्यूटी प्रोडक्ट बनाया था...
    - लैक्मे ब्यूटी प्रोडेक्ट देश का फेमस ब्रांड है। कहते हैं इसे बनाने के लिए नेहरू की खास सोच थी।
    - नेहरू इस बात को लेकर परेशान थे कि इंडियन महिलाएं बड़ी मात्रा में विदेश से ब्यूटी प्रोडक्ट खरीद रही हैं।
    - जिसको देखते हुए नेहरू ने जेआरडी टाटा से कहककर ब्यूटी प्रोडक्ट बनाने की डिमांड रखी। जिसके बाद लैक्मे मार्केट में आया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: On The Occasion Of Children Day Birthday Of First Pm Nehru
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×