6 महीने से ज्यादा समय से नहीं है एंटी रेबीज इंजेक्शन, अब दूसरा टेंडर भी फेल

New-delhi News - एमसीडी के अस्पतालों में डॉग्स के काटने पर लगाए जाने वाले एंटी रेबीज इंजेक्शन का अकाल पड़ा हुआ है। कोई भी एजेंसी...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:20 AM IST
New Delhi News - anti rabies injection not longer than 6 months now the second tender also fails
एमसीडी के अस्पतालों में डॉग्स के काटने पर लगाए जाने वाले एंटी रेबीज इंजेक्शन का अकाल पड़ा हुआ है। कोई भी एजेंसी इंजेक्शन सप्लाई करने में रुचि नहीं ले रही। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एमसीडी के इंजेक्शन के लिए दो बार टेंडर करने के बावजूद कोई भी एजेंसी इसमें भागीदार नहीं बन रही। इसी परेशानी के चलते अब एमसीडी ने केंद्र और दिल्ली सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

इंजेक्शन को तलाश कर निराश लौट रहे हैं मरीज

एमसीडी के अस्पतालों में 6 महीने से ज्यादा वक्त से एंटी रेबीज इंजेक्शन की किल्लत चल रही है। इंजेक्शन लगवाने के लिए आने वाले हर व्यक्ति को निराश होकर लौटना पड़ रहा है। मरीज इसे मार्केट से खरीदकर लगवाने के लिए मजबूर हैं क्योंकि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में भी यह नहीं लग पा रहा। ईस्ट एमसीडी बीते 6 महीने में 2 बार टेंडर कर चुकी है, लेकिन किसी ने भी यह इंजेक्शन सप्लाई करने में रुचि नहीं दिखाई। अब एमसीडी की ओर से केंद्र और दिल्ली सरकार ने चिट्ठी लिखकर मदद के लिए कहा है।

एमसीडी ने केंद्र और दिल्ली सरकार से लगाई गुहार

दूसरे देशों में भेजने में रुचि दिखा रहे वेंडर

एडिशनल कमिश्नर (हेल्थ) की ओर से डायरेक्टर जनरल ड्रग्स कंट्रोल को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है कि एंटी रेबीज इंजेक्शन के लिए दो बार टेंडर किया जा चुका है लेकिन कोई भी एजेंसी इसमें भागीदार नहीं हो रही। हमें किसी ऐसी एजेंसी का नाम सुझाएं जो हमें यह इंजेक्शन सप्लाई कर सके। सूत्रों का कहना है कि एमसीडी में इंजेक्शन सप्लाई करने में एजेंसियों के रुचि न लेने की वजह इसके दूसरे देशों में सप्लाई करना माना जा रहा है। क्योंकि दूसरे देशों में इसके रेट ज्यादा हैं इसलिए इन्हें वहां बेचा जा रहा है।

स्टैंडिंग कमेटी के पूर्व चेयरमैन सत्यपाल सिंह के बेटे को भी नहीं लग पाया इंजेक्शन

एमसीडी के अस्पतालों में किसी को भी एंटी रेबीज इंजेक्शन नहीं लग पा रहा। चाहे वह आम आदमी हो या फिर एमसीडी का पदाधिकारी। ईस्ट एमसीडी की स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन रहे और करावल नगर से निगम पार्षद सत्यपाल सिंह के बेटे को हाल ही में डॉग ने काट लिया था, उन्हें भी यह इंजेक्शन नहीं लग पाया। सिंह ने बताया कि एंटी रेबीज इंजेक्शन लगवाने के लिए वह तुरंत स्वामी दयानंद अस्पताल पहुंचे, तो वहां इंजेक्शन नहीं होने के बारे में बताया। जीटीबी अस्पताल पहुंचे तो वहां मना कर दिया गया। देर रात दवाई की दुकान खुलवाकर इंजेक्शन खरीदकर लगवाया।

X
New Delhi News - anti rabies injection not longer than 6 months now the second tender also fails
COMMENT