--Advertisement--

DB SPL: सरकार का दावा- बचे हुए 19,727 गांवों में बिजली पहुंचाई; हकीकत- इनमें से 92% गांवों के घरों में अंधेरा

देश के सभी गांवों तक बिजली पहुंचाने के सरकार के दावों की पड़ताल।

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 10:12 AM IST
अभी भी देश के 25 राज्यों के 7.05 करोड़ घरों में बिजली नहीं पहुंची है। (फाइल) अभी भी देश के 25 राज्यों के 7.05 करोड़ घरों में बिजली नहीं पहुंची है। (फाइल)

  • 15 अगस्त 2015 को प्रधानमंत्री ने लालकिले से कहा था- 1000 दिन में 18,452 गांवों में पहुंचाएंगे बिजली
  • 988 दिन बाद (29 अप्रैल 2018) ट्वीट किया- कल हमने वादा पूरा किया
  • यूपीए सरकार ने 10 साल में 1.04 लाख गांवों में बिजली पहुंचाई थी। भाजपा सरकार ने 3 साल 11 महीनेे में 20 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई

नई दिल्ली. मोदी सरकार का दावा है कि देश के 100% गांवों में बिजली पहुंच चुकी है। एक हजार दिन में 18 हजार 452 गांवों में बिजली पहुंचाने का वादा 12 दिन पहले ही पूरा कर लिया गया। सरकार इस उपलब्धि पर मेगा शो करने की तैयारी भी कर रही है। इसके लिए इन गांवों के प्रतिनिधि बुलाए जाएंगे। कार्यक्रम का दिन और जगह तय नहीं है। डेटा एजेंसी ब्लूमबर्ग ने सरकारी आंकड़े के हवाले से बताया कि 4 साल में इलेक्ट्रिफाइड किए गए 19 हजार 727 गांवों के सिर्फ 8% गांवों के ही सभी घरों में बिजली पहुंची है। बाकी 92% गांवों के ज्यादातर घर अंधेरे में ही हैं।

केंद्र की रिपोर्ट में 7.05% घरों में बिजली कनेक्शन नहीं

- केंद्र सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक, देश के 7.05 करोड़ घरों में बिजली कनेक्शन नहीं है। सरकार का कहना है कि इन घरों में बिजली पहुंचाने के लिए सौभाग्य योजना लाॅन्च की गई हैै। इसकी समय-सीमा मार्च 2019 है। पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अफसरों को दिसंबर 2018 तक काम पूरा करने का निर्देश दिया है।

100% विद्युतीकरण का दावा, यानी देश के 5 लाख 97 हजार 464 गांवों में पहुंची बिजली
- केंद्र का कहना है कि देश के अब सभी 5 लाख 97 हजार 464 गांवों का विद्युतीकरण हो गया है। इसमें 76 हजार करोड़ रुपए लगे।

- सरकार की परिभाषा के मुताबिक, वे गांव इलेक्ट्रिफाइड माने जाते हैं, जहां बेसिक इलेक्ट्रिकल इंफ्रास्ट्रक्चर हो और गांव के 10% मकानों और सार्वजनिक जगहों पर बिजली हो।

19,727 गांवों तक नहीं पहुंची थी बिजली, 998 दिन में पहुंचाई गई
- 15 अगस्त 2015 को 18 हजार 452 गांवों की पहचान की गई, जहां बिजली नहीं पहुंची थी। बाद में इसमें 1 हजार 275 और गांव जोड़े। 988 दिन में ही इन गांवों में बिजली पहुंचाई गई।

- सरकार का दावा है कि यह काम 12 दिन रहते पूरा हो गया। औसतन रोजाना साढ़े 16 घंटे में एक गांव इलेक्ट्रिफाइड हुआ।

देश के सभी गांवों में अब बिजली पहुंच चुकी है
- जब मोदी सरकार सत्ता में आई थी तब देश के 96.5% गांव इलेक्ट्रिफाइड हो चुके थे। यानी 3.4% गांव ही बचे थे। इसका मतलब यह नहीं हुआ कि सभी घरों में बिजली पहुंच गई है। हां, उनकी पहुंच जरूर हो गई है। अभी भी देश के 25 राज्यों के 7.05 करोड़ घरों में बिजली नहीं पहुंची है।

कई प्रदेशों के गांवों में नहीं पहुंची अब तक बिजली

1) मध्यप्रदेश

- भिंड के गोहद तहसील मुख्यालय से 8 किलोमीटर दूर बरौआ, छरेंठा गांव में बिजली नहीं है।
- मुरैना के 34 गांव समेत 200 मजरे-टोले ऐसे हैं, जहां पोल तो हैं। पर बिजली नहीं है।

2) हरियाणा
- हिसार से 9 किलोमीटर दूर धांसू के पास इंदिरा आवास कॉलोनी में 12 साल से बिजली नहीं है।
- इस कॉलोनी में पोल तो लगे हैं, ट्रांसफार्मर भी लगे हैं, पर बिजली की सप्लाई नहीं है।

3) राजस्थान
- राजस्थान के कई गांव-बस्तियों में बिजली नहीं है। राज्य की बड़ी आबादी अंधेरे में है।
- जयपुर से 50 किलोमीटर दूर नारायणपुरा समेत एक दर्जन गांव ऐसे हैं, जहां बिजली नहीं है।

4) छत्तीसगढ़
- सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के 122 गांवों में अभी बिजली नहीं पहुंची है।
- बस्तर के जिस बामदई गांव से सीएम ने बिजली त्योहार शुरू किया, वहीं पर अंधेरा है।

5) महाराष्ट्र

- महाराष्ट्र में 19 लाख परिवार ऐसे हैं, जिन्हें बिजली नहीं मिली सकी है।
- औरंगाबाद में 5 लाख परिवार, मराठवाड़ा में 35 हजार परिवार बिजली के इंतजार में हैं।

6) बिहार-पंजाब
- बिहार के सभी 39 हजार 73 गांवों में बिजली है। पर 1.23 करोड़ घरों में बिजली आना बाकी है।
- पंजाब में 12 हजार 581 गांव हैं। सरकार का दावा है कि सभी गांवों में बिजली पहुंच गई है।

चिदंबरम ने कहा- मोदी का दावा सिर्फ जुमला
- न्यूज एजेंसी के मुताबिक चिदंबरम ने कहा, "सरकार ने कहा कि देश के हर गांव में बिजली पहुंच गई। ये महज एक जुमला है। भारत में 5 लाख 97 हजार गांव हैं। एक हजार दिन पहले मोदी ने कहा था कि देश के 18 हजार गांवों में बिजली नहीं है। ये काम एक हजार दिन में पूरा हो जाएगा।"
- "मैं पूछना चाहता हूं कि 5 लाख 80 हजार गांवों में बिजली किसने पहुंचाई।"
- "एक हजार दिन में 5 लाख 80 हजार गांवों में एक हजार दिन में नहीं बल्कि पहले की सरकारों ने बिजली पहुंचाई। भाजपा सरकार ने केवल 18 हजार गांवों को बिजली से रोशन किया। ज्यादा बड़ा काम हमारी सरकार ने किया।"

आगे की स्लाइड में पढ़ें, देश में अभी बिजली उत्पादन क्षमता 3.48 लाख मेगावॉट...

Bhsakar ground report government claim electricity reach Indian villages

देश में अभी बिजली उत्पादन क्षमता 3.48 लाख मेगावॉट

- थर्मल पावर 2.22 लाख मेगावॉट 

- परमाणु ऊर्जा 6 हजार 780 मेगावाॅट

- जलविद्युत 45.2 लाख मेगावाॅट

- रिन्यूएबल एनर्जी 70 हजार मेगावाॅट

- सभी घरों तक 24 घंटे बिजली पहुंचाने के लिए मौजूदा क्षमता कम पड़ेगी। इसके लिए वर्तमान क्षमता से कम से कम 30% अधिक बिजली की जरूरत होगी। यानी कि 4.53 लाख मेगावाॅट। 

- इस क्षमता के साथ पावर प्लांटों में 100% बिजली उत्पादन करना होगा। अभी देश के 60 से अधिक पाॅवर प्लांट अपनी कुल क्षमता का 50% से 55% ही उत्पादन कर रहे हैं।

Bhsakar ground report government claim electricity reach Indian villages
Bhsakar ground report government claim electricity reach Indian villages
यह तस्वीर राजस्थान के जयपुर से 50 किमी दूर फागी के आंगरोटा बैरवा की ढाणी की है। यहां रात लालटेन में ही गुजरती है। यह तस्वीर राजस्थान के जयपुर से 50 किमी दूर फागी के आंगरोटा बैरवा की ढाणी की है। यहां रात लालटेन में ही गुजरती है।
X
अभी भी देश के 25 राज्यों के 7.05 करोड़ घरों में बिजली नहीं पहुंची है। (फाइल)अभी भी देश के 25 राज्यों के 7.05 करोड़ घरों में बिजली नहीं पहुंची है। (फाइल)
Bhsakar ground report government claim electricity reach Indian villages
Bhsakar ground report government claim electricity reach Indian villages
Bhsakar ground report government claim electricity reach Indian villages
यह तस्वीर राजस्थान के जयपुर से 50 किमी दूर फागी के आंगरोटा बैरवा की ढाणी की है। यहां रात लालटेन में ही गुजरती है।यह तस्वीर राजस्थान के जयपुर से 50 किमी दूर फागी के आंगरोटा बैरवा की ढाणी की है। यहां रात लालटेन में ही गुजरती है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..