• Home
  • Union Territory News
  • Delhi News
  • News
  • New Delhi - भाजपा विश्व की पहली पार्टी, जिसके कार्यकर्ता होंगे सर्टिफाइड
--Advertisement--

भाजपा विश्व की पहली पार्टी, जिसके कार्यकर्ता होंगे सर्टिफाइड

दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा कर चुकी भाजपा अपने नौ करोड़ कार्यकर्ताओं को ई-ट्रेनिंग मॉड्यूल के जरिए...

Danik Bhaskar | Sep 15, 2018, 02:12 AM IST
दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा कर चुकी भाजपा अपने नौ करोड़ कार्यकर्ताओं को ई-ट्रेनिंग मॉड्यूल के जरिए प्रशिक्षण देने जा रही है। इतना ही नहीं कार्यकर्ता को विचारधारा, ज्वलंत मुद्दों और तकनीकी प्रशिक्षण की परीक्षा भी पास करनी होगी। प्रशिक्षण समेत अन्य लिटरेचर की अंतरराष्ट्रीय पहचान और उपलब्धता के लिए भी पार्टी ने अपने प्रकाशनों व साहित्य को आइएसबीएन (इंटरनेशलन स्टेंडर्ड बुक नंबर) से जोड़ना शुरू कर दिया है। दरअसल 11 करोड़ सदस्य होने का दावा करने वाली भाजपा सिर्फ 10 फीसदी सदस्यों को ही विचारधारा और राजनीति की बेसिक ट्रेनिंग दे पाई है। पार्टी ने 11 करोड़ सदस्यों को वेरीफाइ करने के लिए महासंपर्क अभियान चलाया था, लेकिन यह फेल हो गया था। अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कह रहे हैं कि पार्टी के पास 9 करोड़ सदस्यों का ही डेटाबेस है। शेष | पेज 07 पर





विचारधारा-तकनीक की भी ट्रेनिंग

ट्रेनिंग दो भाग में होगी। पहले विचारधारा के भाग में पार्टी के इतिहास, विकास, विचार, परिवार (संघ) के बारे में बताएंगे। दूसरे भाग में तकनीकी ट्रेनिंग होगी। इसमें सोशल मीडिया का इस्तेमाल कैसे करें, सरकार और संगठन के नए प्रयोग व कानूनों की जानकारी दी जाएगी। ऑनलाइन कोर्स एक महीने तक का हो सकता है। कोर्स के बाद टेस्ट होगा। पास होने पर ही एक मॉड्यूल से दूसरे में जाने का रास्ता खुलेगा।

2019 की तैयारी के लिए नवंबर से शुरू होगी ई-ट्रेनिंग

भाजपा 4 राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद ई-ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करेगी। इसमें पहला फोकस लोकसभा चुनाव 2019 के हिसाब से कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करना है। इसमें ये ट्रेनिंग होगी-

दूसरे चरण की ट्रेनिंग जारी

भाजपा ने सितंबर 2015 में महाप्रशिक्षण अभियान शुरु किया था। इसमें 11 लाख 72 हजार 701 कार्यकर्ताओं की ट्रेनिंग हो चुकी है। दूसरे चरण में किसान, युवा, महिला मोर्चा, प्रवक्ता और मीडिया से जुड़े लोगों का प्रशिक्षण जारी है। आगे एससी, एसटी, ओबीसी मोर्चा, जुलाहों-काश्तकारों का प्रशिक्षण होने वाला है। विधायकों के पीए-पीएस, सांसदों के निजी सचिवों का भी प्रशिक्षण हो रहा है।