Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Burari Death Case Unclaimed Letter Made Sensation In Area

बुराड़ी 11 मौतों की मिस्ट्री: गुमनाम चिट्ठी में लिखा कि तांत्रिक के पास आता-जाता था परिवार

चिट्ठी लिखने वाले ने दावा किया है कि उसने परिवार के लोगों को कराला के एक तांत्रिक के पास आते-जाते देखा था।

Bhaskar News | Last Modified - Jul 11, 2018, 05:29 AM IST

बुराड़ी 11 मौतों की मिस्ट्री: गुमनाम चिट्ठी में लिखा कि तांत्रिक के पास आता-जाता था परिवार

नई दिल्ली. बुराड़ी के संतनगर मामले में हर दिन एक नई अफवाह और चर्चा सामने आ रही है। इस मामले में अब एक चिट्ठी ने फिर सनसनी पैदा कर दी है। चिट्ठी लिखने वाले ने दावा किया है कि वह परिवार को जानता है और उसने परिवार के लोगों को कराला के एक तांत्रिक के पास आते-जाते देखा था। इस बारे में जब क्राइम ब्रांच संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रांच को ऐसा कोई पत्र नहीं मिला है, न ही जांच में किसी तांत्रिक का नाम सामने आया है। खुद को आदर्श नागरिक बताते हुए खत लिखने वाले ने बुराड़ी कांड के पीछे कराला के एक तांत्रिक का सीधा हाथ बताया है। वहीं, मंगलवार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और फोरेंसिक टीम ने मकान में जाकर जांच की।

खत इसलिए लिखा ताकि तांत्रिक का भंडाफोड़ हो, सच सामने आए

अपना नाम गुप्त रखने का अनुरोध करते हुए उसने लिखा है, परिवार कराला स्थित एक तांत्रिक के पास जाता रहा है, जो एक मंदिर में बैठता है। उसकी पत्नी भी तंत्र-मंत्र करती है, वे किसी को मारने या परेशान करने के बदले पैसे लेते हैं। मैंने खुद भाटिया परिवार को उस तांत्रिक के पास आते-जाते देखा है। खत भेजने वाले ने खुद को कराला का निवासी बताया है। उसने खत लिखने का मकसद उस तांत्रिक का भंडाफोड़ करना और भाटिया परिवार की मौत का सच सामने लाना बताया है। खत कमिश्नर के नाम लिखा गया है लेकिन इसकी कॉपी पोस्ट के जरिए एक अखबार को भी भेजी गई है। उधर, कानून के जानकारों का कहना है कि हो सकता है कि यह चिट्ठी उस तांत्रिक को फंसाने के लिए भेजी गई हो। चूंकि मामला गंभीर है, इसलिए ऐसी किसी भी जानकारी पर पुलिस को छानबीन करनी चाहिए।

पड़ोसी बोले- अब कोई डर नहीं, भूत-प्रेत की सभी बातें झूठी

बुराड़ी इलाके में एक परिवार में 11 लोगों की मौत के बाद अब माहौल सामान्य हो चुका है। अब लोगों के दिल में कोई डर नहीं है। स्थानीय लोगों का कहना है कि घटना काफी दर्दनाक थी लेकिन भूत-प्रेत वाली बातें सभी झूठी हैं। पुलिस को मिले रजिस्टर में भाटिया परिवार ने लिखा है कि वे 11 जुलाई को भगवान के दर्शन करने के बाद वापस आ जाएंगे। इस बारे में जब स्थानीय लोगों से बात की गई तो पड़ोसी कुलदीप चौहान ने बताया कि किसी प्रकार का डर नहीं है। लोग देर रात उनके घर के सामने से आ-जा रहे हैं। इलाके में कुछ लोग हैं जो इस बारे में अफवाह फैला रहे हैं। जबकि वे भाटिया परिवार के घर से 500 मीटर की दूरी पर रहते हैं। पड़ोसी देवेस ने बताया कि भाटिया परिवार कभी किसी का बुरा नहीं चाहते थे। घटना के बाद इलाके में कुछ दिनों तक सन्नाटा रहा लेकिन अब कुछ सामान्य हो चुका है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×