--Advertisement--

बुराड़ी 11 मौतों की मिस्ट्री: नारायणी देवी की गर्दन पर कट के निशान, पीएम रिपोर्ट पर डॉक्टरों की एक राय नहीं

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा, फांसी पर लटकने से हुई थी 10 लोगों की मौत।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 07:47 AM IST

नई दिल्ली. बुराड़ी के संतनगर में एक घर में भाटिया परिवार के 11 लोगों की हुई मौतों के मामले में 10 लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। वहीं, घर की सबसे बुजुर्ग महिला नारायणी देवी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं आई है। उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर सभी डॉक्टरों की एक राय नहीं बन पाई। इसीलिए डॉक्टरों की टीम ने मंगलवार को घर का मुआयना भी किया था। इसके बाद डॉक्टरों की टीम आपस में बातचीत कर फाइनल रिपोर्ट देगी।

किसी के भी शरीर पर नहीं मिले निशान

नारायणी देवी की बॉडी कमरे में जमीन पर पड़ी मिली थी। उनकी गर्दन पर कट के कुछ निशान भी मिले थे। उधर, पुलिस का कहना है कि जिन 10 लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है, उन सभी की मौत फांसी पर लटकने से हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी के भी शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं पाए गए हैं। बिसरा रिपोर्ट में भी किसी तरह का ड्रग्स और पॉइजन देने की पुष्टि नहीं हुई है।


मेडिकल बोर्ड ने पहले कहा था- फंदे पर लटकने से हुई मौत
2 जुलाई को मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के 6 डॉक्टरों की मेडिकल बोर्ड ने सभी 11 शवों का पोस्टमार्टम किया था। बोर्ड ने उसी दिन प्रथम दृष्टया साफ कर दिया था कि सभी 11 लोगों की मौत फंदे पर लटकने से हुई थी। घर से मिले रजिस्टर से साफ हो गया कि नारायणी देवी खुद ही कमरे में रखी आलमारी के हैंडल से लटक गई थीं।

ये तय हो गया कि... किसी बाहरी ने हत्याएं नहीं कीं
संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार ने बताया कि बुधवार दोपहर मेडिकल बोर्ड ने क्राइम ब्रांच को पोस्टमार्टम की रिपोर्ट सौंपी। इसमें कहा गया है कि 10 लोग खुद फंदे पर लटके थे। उन सभी को गला घोंट हत्या करने अथवा जहर देकर मारने के बाद लटकाया नहीं गया था। रिपोर्ट से साफ हो गया कि ललित व उसके परिजनों की किसी बाहरी ने हत्या नहीं की थी बल्कि यह हादसा था। आशंका है कि ललित के कहने पर सभी 10 सदस्य फंदे पर लटके होंगे।

तीन लोगों के हाथों पर खरोंच के निशान मिले
रिपोर्ट में बताया गया है कि जिन 10 लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है, उनमें से 3 लोगों के हाथों पर खरोच के निशान पाए गए थे। आशंका है कि छोटे से एरिया में 10 लोग फंदे पर लटके थे। वहां पास में कूलर रखा हुआ था। हो सकता है फंदे पर लटकने के दौरान छटपटाने के कारण कुछ के शरीर एक-दूसरे से टकराने अथवा पास की रेलिंग और कूलर से टकराने पर खरोच आ गई हो।