--Advertisement--

दाती महाराज के खिलाफ दुष्कर्म पीड़िता ने कोर्ट में दिए बयान- 3 दिन तक बाबा और सहयोगी जानवरों की तरह नोंचते रहे

पीड़िता बोली- पता नहीं मैं जिंदा रहूंगी या नहीं, लेकिन मेरे फैसले से कई लड़कियों की जिंदगी जरूर बच जाएगी।

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 08:31 AM IST
दाती महाराज पर दुष्कर्म के मामले की जांच दिल्ली क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। -फाइल दाती महाराज पर दुष्कर्म के मामले की जांच दिल्ली क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। -फाइल

नई दिल्ली. दुष्कर्म के आरोप लगने के बाद एक ओर दाती मदन भूमिगत हैं। वहीं, दूसरी ओर बाबा पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली 25 वर्षीय पीड़िता ने मंगलवार को कोर्ट में 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराया। उसने अपनी आपबीती में बताया कि किस तरह दाती और उसके सहयोगियों ने यौन शोषण किया। उसने कोर्ट को बताया कि आज मैं उसके (दाती) खिलाफ शिकायत कर रही हूं। इसके बाद पता नहीं मैं जिंदा रहूंगी या नहीं, लेकिन मेरे जैसी दूसरी लड़कियों की जिंदगी जरूर बर्बाद होने से बच जाएगी। मैं लंबे समय तक डर के कारण घुट-घुटकर जीती रही, लेकिन जब हिम्मत ने जवाब दे दिया तो पुलिस के पास जाने की ठान ली।

3 दिन तक बाबा और सहयोगी जानवरों की तरह नोंचते रहे

पीड़िता ने बताया कि 9 फरवरी 2016 को दाती की सेवादार श्रद्धा मुझे असोला स्थित शनि धाम आश्रम में चरण सेवा के लिए दाती के पास ले गई। मुझे अंधेरे गुफानुमा कमरे में सफेद रंग के कपड़े पहनाकर भेजा गया। वहां दाती ने कहा, मैं तुम्हारा प्रभू हूं, क्यों इधर-उधर भटकना। मैं सब वासना खत्म कर दूंगा। इसके बाद दाती और उसके सहयोगियों ने मेरे साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। इसके बाद मार्च 2016 में राजस्थान स्थित गुरुकुल पाली जिले में भी यही कहानी दोहराई गई। मुझे 3 दिन तक जानवरों की तरह नोंचा गया। दाती के सहयोगी अनिल ने भी मेरे साथ दुष्कर्म किया।

सेवादार श्रद्धा कहती थी-बाबा समंदर हैं, हम मछलियां, कर्ज समझकर चुका लो
पीड़िता ने बताया, श्रद्धा उससे कहती थी कि ऐसा करने से तुम्हें मोक्ष प्राप्त होगा। यह भी सेवा है। तुम बाबा की हो और बाबा तुम्हारे। तुम कोई नया काम नहीं कर रही हो, सब करते आए हैं। कल हमारी बारी थी, आज तुम्हारी बारी है। कल न जाने किसकी बारी होगी। बाबा समंदर हैं और हम सब मछलियां हैं। इसे कर्ज समझकर चुका लो।

मेरे परिवार को सुरक्षा न मिली तो पूरा परिवार जिंदा नहीं बचेगा, ये तय है: पीड़िता

पीड़िता का कहना है कि दाती बहुत खतरनाक आदमी है। उसे फांसी की सजा होनी चाहिए। मुझे और परिवार को सुरक्षा दी जाए, अगर सुरक्षा नहीं मिली तो मैं और मेरा पूरा परिवार जिंदा नहीं बचेगा, यह एकदम तय है। पुलिस ने आरोपी दाती के साथ उसके सहयोगी श्रद्धा, अशोक, अर्जुन, नीमा जोशी को भी नामजद किया है।

पुलिस बोली- नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाएंगे
इस हाईप्रोफाइल केस की तफ्तीश साउथ जिला पुलिस से क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। इस मामले में साउथ ईस्टर्न रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त देवेश श्रीवास्तव ने बताया आरोपी की तलाश में कहीं पर भी दबिश नहीं डाली जा रही है। उन्हें नोटिस देकर पूछताछ में शामिल कराया जाएगा।

पीड़िता का आरोप है कि असोला स्थित शनि धाम आश्रम में पीड़िता ने उसके साथ की गई ज्यादती की बात कही है। -फाइल पीड़िता का आरोप है कि असोला स्थित शनि धाम आश्रम में पीड़िता ने उसके साथ की गई ज्यादती की बात कही है। -फाइल
X
दाती महाराज पर दुष्कर्म के मामले की जांच दिल्ली क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। -फाइलदाती महाराज पर दुष्कर्म के मामले की जांच दिल्ली क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। -फाइल
पीड़िता का आरोप है कि असोला स्थित शनि धाम आश्रम में पीड़िता ने उसके साथ की गई ज्यादती की बात कही है। -फाइलपीड़िता का आरोप है कि असोला स्थित शनि धाम आश्रम में पीड़िता ने उसके साथ की गई ज्यादती की बात कही है। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..