--Advertisement--

बादलों की मनमानी: महाराष्ट्र में 31 फीसदी ज्यादा पर दिल्ली में 38 फीसदी कम बारिश

दिल्ली में अभी तक 121.1 मिमी बारिश होनी चाहिए थी, लेकिन 74.9 मिमी हुई।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 02:21 PM IST
तस्वीर बुधवार को साउथ दिल्ली म तस्वीर बुधवार को साउथ दिल्ली म

नई दिल्ली. इस बार मानसून अब तक उम्मीदों से उलट रहा है। दक्षिण के राज्यों में झमाझम बारिश देखने को मिली है, जबकि उत्तर भारत का ज्यादातर इलाका सूखा है। मानसून के तय समय से 15 दिन पहले पूरे देश को कवर करने के बावजूद अब तक 8% कम बारिश हुई है। 12 राज्यों में सामान्य से कम बारिश हुई है। देश में सबसे कम बारिश उत्तर प्रदेश में सामान्य से 52% कम बारिश हुई। वहीं भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र, उत्तराखंड, असम, मणिपुर, पश्चिम बंगाल और गुजरात में 55 लोगों की मौत हुई है।

यहां उम्मीद से ज्यादा हुई बारिश

1 जून से 11 जुलाई तक के आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र और पंजाब में 33% ज्यादा बारिश हुई है। माहाराष्ट्र में 103.7 मिमी बारिश होनी चाहिए थी, लेकिन 138.2 मिमी हो चुकी है। पूरे देश में सबसे ज्यादा दमन और दीव 44% तो पुडुचेरी में 43% ज्यादा बारिश हुई है। तमिलनाडु में औसत से 31%, जम्मू-कश्मीर और तेलंगाना में 27% ज्यादा बारिश हुई है।

जहां कमी वहां मौसम विभाग को जल्द दूर होने की उम्मीद
उत्तर प्रदेश में 52% तो गुजरात में 46% कम बारिश हुई है। उधर, भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में 1 जून से 11 जुलाई तक के आंकड़ों के अनुसार 38% बारिश कम हुई है। यानी दिल्ली में अभी तक 121.1 मिमी बारिश होनी चाहिए थी, लेकिन 74.9 मिमी हुई है। मौसम विज्ञानियों ने उम्मीद जताई है कि बारिश में यह कमी जल्द पूरी हो जाएगी। कम बारिश का असर खरीफ फसल पर भी पड़ा है। खास तौर पर धान और कॉटन की बुवाई पर। पिछले साल की तुलना में अभी तक 14% कम बुवाई हुई है। खरीफ सीजन में साल भर की 60% फसल का उत्पादन होता है।

कारण...बंगाल की खाड़ी पर हलचल नहीं होने से मानसून सुस्त पड़ा हुआ है

मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के आसपास हलचल कम है। जून से अब तक एक बार ही लो प्रेशर सिस्टम बना है। आमतौर पर इतने समय में कम से कम चार बार ऐसा पैटर्न बनता है।

उम्मीद...मानसून जल्द सक्रिय होगा, जुलाई में अब तक 16% कम बारिश

अब तक जुलाई के शुरुआती 10 दिनों में भी 16% कम बारिश हुई है। मौसम विभाग का कहना है कि सर्कुलेशन पैटर्न ठीक है। 17 जुलाई तक मानसून मजबूत होगा। इस माह 1% ज्यादा बारिश की होने उम्मीद है।

मुश्किल...पूर्वोत्तर के राज्यों में बाढ़ पर बारिश सामान्य से कम

जून में बारिश ने त्रिपुरा, असम, मेघालय, मणिपुर और मिजोरम में बाढ़ ने तबाही मचाई थी। इन राज्यों में बाढ़ से करीब 50 जानें गईंं। असम, मेघालय, नागालैंड और मणिपुर में सामान्य से कम बारिश हुई है।

यहां सबसे कम बारिश

राज्य कम बारिश
उत्तर प्रदेश -52%
गुजरात -46%
दिल्ली -38%
झारखंड -38%
बिहार -29%
ओडिशा -25%
पश्चिम बंगाल -20%

उपलब्ध आंकड़े भारतीय मौसम विभाग के अनुसार 1 जून से 11 जुलाई तक के।