--Advertisement--

दम घुटने से दो मासूम सहित दंपती की मौत, आग लगने पर फायरकर्मी फोन पर पूछते रहे...आग बुझ गई या आना पड़ेगा

दर्दनाक हादसा... बिजली मीटर में शॉर्ट सर्किट से लगी आग

Dainik Bhaskar

Apr 14, 2018, 06:27 AM IST
धुआं बना मौत का कारण धुआं बना मौत का कारण

नई दिल्ली. पीतमपुरा के कोहाट एंक्लेव में गुरुवार देर रात पांच मंजिला बिल्डिंग की पार्किंग में लगे बिजली के मीटर में शाॅर्ट सर्किट से आग लग गई। शॉर्ट सर्किट के कारण लगी आग ने पहले पार्किंग में खड़े वाहनों को और फिर कुछ ही देर में पूरी बिल्डिंग को अपनी जद में ले लिया। आग के कारण धुआं पूरी बिल्डिंग में फैल गया। इस हादसे में बिल्डिंग की रहने वाले पति-पत्नी और दो बच्चों की मौत हो गई। मृतकों के नाम राकेश नागपाल (40), पत्नी टीना नागपाल (37), बेटा हिमांशु (9) और बेटी श्रेया (3) हैं। बिल्डिंग में रहने वाले बाकी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। पुलिस ने चारों शवों का पोस्टमार्टम कर शव परिजन को सौंप दिए हैं। वहीं हादसे में झुलसे लोगों को रोहिणी के आंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। नेताजी सुभाष प्लेस थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ये था मामला...


जानकारी के मुताबिक राकेश नागपाल सुरी विला , 4844, कोहाट एंक्लेव में दूसरी मंजिल पर परिजन के साथ रहते थे। राकेश का चांदनी चौक, कटरा नीला में लेडीज सूटों का हॉल सेल का कारोबार है। हिमांशु रोहिणी स्थित जीडी गोयनका स्कूल में कक्षा चौथी कक्षा का छात्र था। श्रेया भी उसी स्कूल में यूकेजी की छात्रा थी। गुरुवार देर रात करीब 2.30 बजे पार्किंग में लगे मीटर में अचानक शाॅर्ट सर्किट हो गया। इसी दौरान पार्किंग में खड़ी नौ स्कूटी और पांच कारें आग की चपेट में आ गईं। इससे आग धीरे-धीरे ग्राउंड फ्लोर से ऊपर की तरफ जाने लगी और पूरी बिल्डिंग में धुआं फैल गया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची आठ दमकल विभाग की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। चौकीदार बदलू का कहना है कि आग लगने के बाद उसने पूरी बिल्डिंग की बेल बजाई थी। वहीं बिल्डिंग में रहने वाले लाेगों का कहना है कि वह घबराहट के कारण वहां से भाग गया था।

सीढ़ियों पर पड़ी मिली पूरी फैमिली

स्थानीय लोगों का कहना है कि दमकल विभाग ने आग पर काबू पाने के बाद छानबीन की तो पूरा परिवार सीढ़ियों पर पड़ा हुआ मिला। दमकल विभाग के मुताबिक चारों की दम घुटने से मौत हुई है। पुलिस का कहना है कि जब कमरे में धुआं अधिक हो गया होगा तो दो बच्चों समेत चारों लोग सीढ़ियों से नीचे भागे होंगे। लेकिन धुआं इतना अधिक था कि सीढ़ियों पर गिर गए और वहीं दम तोड़ दिया। राकेश को शादी में जाना था मसूरी| मृतक राकेश नागपाल के चचेरे भाई अंकुर उर्फ जॉनी ने बताया कि उन्हें अपने मृतक भाई की फैमिली सहित शुक्रवार की सुबह पांच बजे मसूरी जाना था। मसूरी में राकेश नागपाल के क्लाइंट की बेटी की शादी थी।

फर्स्ट फ्लोर

यहां जैन परिवार रहता है। हादसे के समय 11 लोग मौजूद थे और आग लगते ही समय पर सीढ़ियों से नीचे आ गए।

सेकंड फ्लोर

यहां नागपाल परिवार रहता था, जिसमें चार लोग रहते थे। देर से सोकर उठने पर धुएं की वजह से चारों की मौत हो गई।

फोर्थ फ्लोर

इस मंजिल पर सिंह परिवार रहता है। हादसे के समय तीन लोग थे। बेल बजने पर तुरंत ही सीढ़ियों से नीचे आ गए।

X
धुआं बना मौत का कारणधुआं बना मौत का कारण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..