--Advertisement--

पूर्व प्रेमी ने ब्लैकमेल किया तो युवती ने साथी साथ मिलकर मार डाला

युवती अपनी मर्जी से किसी ओर के साथ रहने लगी थी

Danik Bhaskar | Sep 02, 2018, 06:04 AM IST

नई दिल्ली. ब्लैकमेलिंग और धमकी से परेशान होकर एक युवती ने अपने एक्स ब्वॉय फ्रेंड को मार डाला। पहले उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर पिलाई फिर एक अन्य युवक के साथ मिलकर नदी में फेंक दिया।

पुलिस ने आरोपी युवती और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान अलीगढ़ यूपी की रहने वाली डॉली चौधरी उर्फ डिम्पल (21) व मथुरा यूपी निवासी मनीष चौधरी (28) के तौर पर हुई है।
यूं शुरू हुई कहानी : डीसीपी सेंट्रल मंदीप सिंह रंधावा ने बताया 16 अगस्त को ऋिचपाल सिंह ने बेटे सुशील कुमार (23) के लापता होने की शिकायत दी थी। पुलिस ने जांच में पाया कि सुशील पांच-छह साल से डॉली नाम की एक युवती के साथ रिलेशनशिप में था। करीब डेढ़ साल से डॉली ग्रेटर नोएडा में एक अन्य युवक के साथ रहने लगी थी। पुलिस ने 31 अगस्त को डॉली के गांव जाकर उसे पकड़ लिया। उसने बताया कि वह ग्रेटर नोएडा में मनोज मावी से मिली थी। उसने नौकरी का ऑफर दिया। इसके बाद वह उसके साथ रहने लगी थी। यह बात जब सुशील को पता चली तो वह झगड़ा करने लगा। वह उसकी आपत्तिजनक तस्वीरों को लेकर ब्लैकमेल कर धमकाता था।

दूसरे प्रेमी की पत्नी ने भी लगा ली थी फांसी : परेशान डॉली ने नींद की गोलियां खानी शुरू कर दीं। इस बीच मनोज और डॉली के रिश्ते का पता चलने पर मनोज की पत्नी ने भी 7 अगस्त को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। जिसके बाद महिला की फैमिली के डर से मनोज बंगलुरू भाग गया। हालांकि डॉली और मनोज दोनों एक दूसरे से फोन पर संपर्क में रहे। इस बीच सुशील को लगा कि मनोज, डॉली से शादी करेगा। उसने डॉली को मिलने के लिए 11 अगस्त को मथुरा बुलाया। डॉली भी उससे परेशान हो चुकी थी। उसने सुशील की हत्या करने की साजिश रची।

मथुरा में दिया वारदात को अंजाम : युवती ने एक जानकार मनीष चौधरी के साथ मथुरा के एक होटल में रूम बुक करवाया। सुशील के आने पर उसने मौका देख कोल्ड ड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर उसे पीला दी। वह बेहोश हो गया। इसके बाद डॉली ने मनीष को होटल बुला लिया। दोनों ने स्कूटी से बेहोश सुशील को ओल्ड यमुना ब्रिज पर जाकर नदी में फेंक दिया। इसके बाद दोनों होटल में आए और अगले दिन अपने-अपने गांव चले गए। पुलिस अधिकारी का कहना मनीष को डॉली के पिता ने उससे शादी कराने का भरोसा दिया था, जिस कारण वह इस साजिश का हिस्सा बन गया।