--Advertisement--

नोएडा: पिता ने शादी के लिए युवक के सामने 1 साल में घर बनाने की रखी शर्त, पूरा न होते देख युवती ने पुलिस से मांगी मदद, शादी पक्की

यूपी पुलिस की ‘राखी विद खाकी’ अभियान में घरवालों को शादी के लिए मनवाने की मांग लेकर थाने पहुंची युवती

Danik Bhaskar | Aug 27, 2018, 11:52 AM IST

  • राखी बांधने के बाद इंस्पेक्टर व सीओ की पहल पर शादी को तैयार हुए लड़की के परिजन
  • 4 महीने पहले हुई थी सगाई, तभी ‘मैंने प्यार किया’की तरह नरगिस के पिता ने राजू के सामने रखी शर्त

नोएडा. रक्षाबंधन पर यूपी में ‘राखी विद खाकी’कार्यक्रम के दौरान रविवार को एक युवती अपनी शादी को लेकर अपने पिता को मनवाने के लिए थाने पहुंच गई। उस समय थाना परिसर में इंस्पेक्टर और सीओ लड़कियों से राखी बंधवाकर उनकी रक्षा और न्याय दिलाने का भरोसा दे रहे थे। यह युवती भी राखी लेकर पहुंची और बोली कि उसे मदद चाहिए।

इंस्पेक्टर के पूछने पर बताया कि उसके पिता ने कुछ महीने पहले ही जिस युवक से उसकी शादी तय की थी और उसके सामने एक शर्त रखी थी। वह शर्त पूरी नहीं कर पा रहा है। ऐसे में उसकी शादी कहीं ओर कराना चाहते हैं। लेकिन युवती को उस लड़के से प्यार हो गया है। युवती ने कुछ देर में युवक को भी थाने बुलवा लिया। इसके बाद पुलिस अधिकारी ने तुरंत युवती के परिजनों को बुलवाया और समझाया। इसके बाद दोनों शादी कराने के लिए राजी हो गए।

युवक बोला- उसकी इतनी कमाई नहीं कि घर बना सके : मूलरूप से फरुर्खाबाद की रहने वाली नरगिस नोएडा के सेक्टर-76 में परिवार के साथ रहती हैं। इसी एरिया में राजू भी रहता है। राजू एक कंपनी में नौकरी करता है। नरगिस ने बताया कि दोनों एक दूसरे को काफी पहले से जानते हैं। अभी 4 महीने पहले ही शादी को लेकर दोनों के परिवार ने सहमति दे दी। इसके बाद सगाई भी हो गई। मगर उसी दौरान फिल्म ‘मैंने प्यार किया’की तरह नरगिस के पिता ने राजू के सामने एक शर्त रख दी कि अगर एक साल के भीतर वह अपनी कमाई से नोएडा में घर बना लेता है तभी उससे शादी की जाएगी। इससे राजू काफी परेशान हो गया। अभी कुछ हफ्ते पहले ही उसने नरगिस के पिता से कह दिया कि उसकी कमाई अभी इतनी नहीं है कि एक साल में जमीन खरीदकर घर भी बना सके। यह जानकर नरगिस के पिता उसकी दूसरी जगह शादी तय करने में जुट गए। नरगिस के विरोध करने पर उसके साथ मारपीट की जा रही थी।

फरुर्खाबाद में दूसरे युवक से शादी कराने की थी तैयारी : नरगिस ने पुलिस को बताया कि शनिवार को परिजन उसे जबरन अपने साथ फरुर्खाबाद ले जाने लगे। वहां उसके परिजन उसकी शादी दूसरे लड़के से कराने की तैयारी कर रहे थे। इस पर वह रात में ही घर से चुपचाप भाग निकली और एक रिश्तेदार के घर रुक गई थी। यहां रविवार सुबह सेक्टर-49 थाना परिसर पहुंची तो पता चला कि रक्षाबंधन पर सभी पुलिस अधिकारी राखी बंधवा रहे हैं। इस पर वह भी राखी लेकर आई और इंस्पेक्टर अनिता चौहान व सीओ श्वेताभ पांडे को राखी बांधी। इसके बाद उसने अपनी पूरी कहानी पुलिस अधिकारियों को बताई। युवती की आप बीती सुनकर इंस्पेक्टर ने युवती के परिवार को थाने बुलाया और बातचीत की। पुलिस अधिकारियों की पहल के बाद लड़की के परिजनों ने नरगिस की राजू से ही शादी कराने पर फिर से सहमति दे दी।