दिल्ली कांग्रेस में बढ़ी खींच-तान

New-delhi News - भास्कर न्यूज | नई दिल्ली विधानसभा से करीब 6 महीने पहले दिल्ली कांग्रेस में एक बार फिर सियासी घमासान मच गया है।...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:20 AM IST
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
भास्कर न्यूज | नई दिल्ली

विधानसभा से करीब 6 महीने पहले दिल्ली कांग्रेस में एक बार फिर सियासी घमासान मच गया है। लोकसभा चुनाव के समय भी प्रदेश प्रभारी पीसी चाको और अध्यक्ष शीला दीक्षित के बीच आप के साथ गठबंधन को लेकर विवाद था। दोनों के बीच अब जिला व ब्लॉक ऑबजर्वर की नियुक्ति को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हुआ है। चाको ने इस मामले में शीला दीक्षित को पत्र लिख कर उनके कामकाज से असंतुष्टि जताई है। चाको कहना है कि- ऐसे लोगों पर प्रतिबंध लगाएं जो उनके प्रतिनिधि के तौर पर काम कर रहे हैं। चाको ने निर्देश दिया है कि मेरी मौजूदगी में पदाधिकारियों को बुलाकर एक बैठक करें और उसमें संगठन के फैसले पर चर्चा करें। आपने ब्लॉक अध्यक्ष चुनने के लिए जो आब्जर्वर जिला व ब्लॉक लेवल पर बनाए हैं, उसे लेकर भी बहुत की शिकायतें आई हैं। इस फैसले की सूचना मुझे मीडिया से मिली जबकि मैने ब्लॉक कांग्रेस कमेटी भंग करने के आदेश को रोक दिया था। ऐसे में ये नियुक्ति अवैध है।

चाको ने शीला को लिखा लेटर, कहा- अकेले न लें फैसला, 29 पूर्व विधायकों और जिलाध्यक्षों ने राहुल गांधी को पत्र लिख कहा- पार्टी बर्बाद हो रही है

तीनों कार्यकारी अध्यक्ष बोले- मिलकर काम करना था, अकेले फैसले ले रही हैं

प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हारून यूसुफ, देवेंद्र यादव और राजेश लिलोठिया ने भी प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित को एक पत्र लिखकर कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने चारों को मिलकर संगठन के लिए काम करने को कहा था। लेकिन आप एकतरफा फैसले ले रही हैं। लोकसभा की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी बनाना, 280 ब्लॉक भंग करना और अब जिला व ब्लॉक के आब्जर्वर नियुक्त करना। कार्यकारी अध्यक्षों ने यहां तक लिखा है कि 12 जुलाई की शाम 5 बजे बैठक बुलाई लेकिन दिन में 2 बजे जिला व ब्लॉक ऑब्जर्वर की सूची आपके हस्ताक्षर से आई गई।

राहुल गांधी को भेजी 29 हस्ताक्षर वाली चिट्‌ठी में जताई कांग्रेस के खत्म हो जाने की चिंता

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित की शिकायत राहुल गांधी से करने वाली चिट्ठी में पूर्व एमएलए हरिशंकर गुप्ता, नसीब सिंह, चौधरी मतीन अहमद, आसिफ मोहम्मद खान, सुरेंद्र कुमार सहित 29 नेताओं ने हस्ताक्षर किए हैं। आठ बिंदु पर की गई शिकायत की कॉपी संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रभारी पीसी चाको को भी सौंपी है। चिट्ठी में सिलसिलेवार शिकायत की गई है और पार्टी के खत्म हो जाने की चिंता व्यक्त की गई है। शीला दीक्षित के अध्यक्ष बनाए जाने के बाद से पब्लिक मीटिंग नहीं करने, हौज काजी मामले में पिछड़ने, आप सरकार व एमसीडी के खिलाफ मानसून पूर्व तैयारी पर भी सवाल नहीं उठाए। इसके अलावा कार्यकारी अध्यक्षों से राय नहीं लेने और अस्पताल में होने के बावजूद आब्जर्वर नियुक्ति पर सवाल उठाए हैं।

हमने राय दी है, शिकायत न मानें

हमने राय दी है, इसे शिकायत न मानें। संगठन की जिम्मेदारी दी है तो आब्जर्वर की मीटिंग भी मैने ली। कहीं-कहीं राय नहीं ली गई तो हमने लिखित में यह बातें बताई। कांग्रेस में स्वतंत्रता है जबकि भाजपा व आप में ऐसी स्वतंत्रता नहीं है। - राजेश लिलोठिया, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष

जो कुछ किया दुर्भाग्यपूर्ण है

कांग्रेस नेताओं ने जो कुछ किया दुर्भाग्यपूर्ण है। पार्टी चिट्ठी पत्री से नहीं चलती। इन लोगों को कांग्रेस के संविधान की जानकारी नहीं है। ये लोग कांग्रेस को खत्म कर देना चाहते हैं। - जितेंद्र कोचर, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता

New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
X
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
New Delhi News - increased pull tones in delhi congress
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना