Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Kejriwal And Party Ministers Not Permitted To Meet Family

एलजी हाउस में घरवालों से मिलने पर लगाई गई पाबंदी, तो सीएम हाउस के टॉयलेट और बाथरूम में जड़ दिए गए ताले

एलजी हाउस के चूहों और सीएम हाउस के मच्छरों को भी रास नहीं आ रहे मेहमान।

Bhaskar News | Last Modified - Jun 15, 2018, 09:20 AM IST

एलजी हाउस में घरवालों से मिलने पर लगाई गई पाबंदी, तो सीएम हाउस के टॉयलेट और बाथरूम में जड़ दिए गए ताले

नई दिल्ली.मुख्यमंत्री समेत 4 मंत्रियों का राजनिवास में चौथे दिन और विपक्ष का मुख्यमंत्री के एसी कार्यालय में दूसरे दिन धरना जारी रहा। लेकिन अतिथि बनकर आने के बाद धरना देने के लिए बैठने वाले अतिथियों के साथ कुछ ऐसा होना शुरू हो गया है कि दोनों तरफ के लोग अब शायद यही कह रहे हैं-अतिथि कब जाओगे। राजनिवास में मुख्यमंत्री की पत्नी व मां और भूख हड़ताल कर रहे मनीष सिसोदिया व सत्येंद्र जैन की पत्नी को मुलाकात की इजाजत नहीं दी गई। केजरीवाल की पत्नी ने कहा कि कैदियों को भी अपने परिवार से मिलने की इजाजत होती है। एलजी हाउस में चूहे भी उत्पात मचा रहे हैं। टीवी व अखबार की सुविधा नहीं दी जा रही है। यहां तक कि चाय भी घर से मंगाकर पीनी पड़ रही है। केजरीवाल ने भी दावा किया कि मेरा भाई पुणे से आया था। उसको मुझसे मिलने नहीं दिया गया। वहीं, दिल्ली सचिवालय के मुख्यमंत्री ऑफिस में विपक्ष के नेताओं के लिए कैबिनेट रूम के पास बने वॉशरूम में ताला लगा दिया गया है। एक दिन चाय मिली पर गुरुवार को चाय बंद कर दी गई है। मच्छरों से बचने के लिए नेताओं ने मच्छर मार रैकेट मंगाए हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री से मिले एलजी, कुछ दिन ऐसे ही चलने दिया जाएगा...
बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट मंत्री से मिले अनिल बैजल ने गुरुवार को केंद्रीय गृहमंत्री से मुलाकात की। राजनिवास में सरकार और दिल्ली सचिवालय में विपक्ष के लगातार चल रहे धरने पर गृहमंत्री को रिपोर्ट सौंपी है। ऐसे में यह बात सामने आ रही है कि मुख्यमंत्री को धरने से उठाने की स्थिति अभी नहीं है। कुछ दिन इसी तरह से चलने दिया जाए।

सीएम की पीएम को चिट्ठी- आप ही खत्म कराएं अफसरों की हड़ताल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार आईएएस ऑफिसर्स की हड़ताल खत्म कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर हस्तक्षेप की मांग की है। केजरीवाल ने कहा कि उपराज्यपाल ये हड़ताल खत्म कराने के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं। आईएएस ऑफिसर्स सीधे-सीधे एलजी और केंद्र सरकार का नियंत्रण है।

पहले वायु प्रदूषण पर हर 15 दिन में बैठक होती थी, पिछले 3 महीने से नहीं हुई
केजरीवाल ने लिखा है कि पिछले तीन महीने में अधिकारी मंत्रियों की बैठक में नहीं आ रहे हैं जिससे काम बाधित हुआ है। वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने की बैठक हर 15 दिन में होती थी, वो भी नहीं हो पा रही है जबकि राजधानी की हवा खराब है। बार बार गुहार के बाद भी एलजी हड़ताल खत्म कराने के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं। लोग कहने लगे हैं कि एलजी और केंद्र मिलकर हड़ताल करवा रहे हैं।

कब्जे की अनुमति किसने दी? : अरविंद केजरीवाल
केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय भवन पर बैनर लगाने, मुख्यमंत्री कार्यालय के आगे बैनर लगाए जाने को भाजपा का दिल्ली सचिवालय पर कब्जा करार दिया है। केजरीवाल ने कहा कि यह चौंकाने वाला है। ऐसा करने की अनुमति किसने दी।

सचिवालय पर कब्जा सत्ता का घमंड : अखिलेश यादव
यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा, सचिवालय पर केंद्र के सत्ताधारी दल के कब्जे की खबर लोकतंत्र की हत्या से भी बदतर हालात की ओर इशारा कर रही है। ये सत्ता का अहंकार है। कल ये जनता के घरों पर कब्जा करेंगे। उनमें डर भी है और गुस्सा भी।

हाईकोर्ट में याचिका-धरना खत्म कराएं, कामकाज ठप है

दिल्ली के उपराज्यपाल के निवास पर दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल और उनके मंत्रियों के धरने प्रदर्शन के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में एक वकील ने याचिका दायर करके मांग की है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल और उनके मंत्रियों का धरना प्रदर्शन खत्म कराया जाए। क्योंकि इससे दिल्ली में प्रशासन का कामकाज ठप पड़ गया है। दिल्ली सरकार पर संवैधानिक संकट भी खड़ा हो गया है। हाईकोर्ट में 18 जून को इस पर सुनवाई होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: elji haaus mein ghrvaalon se milne par lagayi gayi paabandi, to CM haaus ke toilet aur baathrum mein jड़ die gae taale
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×